Skip to main content

बोलती कहानियाँ

अनुराग शर्मा
Program Name: Bolti Kahaniyan
Presenter: Anurag Sharma
Writer: Various Hindi authors and translators
Podcaster: Various voice artists and authors, including - Amitabh Meet, Anubhav Priya, Archana Chaoji, Hansa Deep, Hirendra Jha, Jaya Jadwani, Kanhayalal Pandey, Lokesh Gupta, Madhavi Ganpule, Monica Gupta, Mridul Kirti, Neelam Mishra, Nimisha Dixit, Pooja Anil, Rajendra Gupta, Reetesh Khare, Pooja Anil, Priti Sagar, Rajendra Gupta, Rashmi Prabha, Salil Varma, Sameer Goswami, Sangya Tandon, Sarita Chaddha, Shaifali Gupta, Shanno Agarwal, Sheetal Maheshwari, Shivani Singh, Shobha Mahendru, Sudha Arora, Usha Chhabra, Vimal Chandra Pandey, and Anurag Sharma
Program description: Stories in audio format; Literary Audio Book; Longest running podcast of Hindi literature; हिंदी साहित्य का सबसे पुराना पॉडकास्ट कार्यक्रम

रेडियो प्लेबैक इंडिया के सभी श्रोताओं को पिट्सबर्ग, अमेरिका से अनुराग शर्मा का प्यार भरा नमस्कार।

मित्रों, भारत और अमेरिका के कुछ मित्रों के पारस्परिक सहयोग से इस "बोलती कहानियाँ" कार्यक्रम के बीज "सुनो कहानी" नाम से सन 2007 में पड़े थे। आरम्भ में प्रसारित हुई मुंशी प्रेमचंद की क्लासिक कहानियाँ बाद में प्रेमचंद की पहली ऑडियो बुक के रूप में दिल्ली के हिंदयुग्म प्रकाशन से लोकार्पित हुईं। यह विश्व की किसी भी संस्था, या समूह द्वारा निर्मित और प्रकाशित मुंशी प्रेमचंद की कथाओं की पहली ऑडियो सीडी थी। बोलती कहानियाँ अब एंकर, ऐमैज़ॉन म्यूज़िक, एपल पॉडकास्ट, स्पॉटिफ़ाई व गूगल पॉडकास्ट सहित अनेक पॉडकास्ट मंचों पर उपलब्ध है।

एक दशक से निरंतर जारी इस लोकप्रिय कार्यक्रम के अंतर्गत हमारा प्रयास आपको हर सप्ताह एक अनूठी कहानी सुनाने का है। कहानी नई, पुरानी, छोटी बड़ी, अनजान, या अति-प्रसिद्ध, कैसी भी हो सकती है। भारतीय और प्रवासी, मौलिक और अनूदित, हर प्रकार की कहानियाँ, इस कार्यक्रम में बिना किसी भेदभाव के सुनाई जाती रही हैं। इसमें बाल साहित्य, व्यंग्य, लघुकथा आदि विधाओं से लेकर उपन्यास अंश, साहित्यकारों की जीवनी, तथा क्रांतिकारियों की दियाड़ी तक बहुत कुछ सम्मिलित है।

यदि आप एक लेखक, वाचक, संयोजक, प्रस्तुतकर्ता, या किसी अन्य रूप में इस कार्यक्रम में सहयोग करना चाहते हैं तो कृपया रेडियो प्लेबैक इंडिया की "बोलती कहानियाँ" टीम से boltikahaniyan.rpi@gmail.com पर सम्पर्क कीजिये।

2021 सीज़न 1

*33 खो जाते हैं घर (सूरज प्रकाश) वाचन: दीपिका भाटिया
*32 दर्द एक पहचान (सरस्वती प्रसाद) वाचन: रश्मि प्रभा
*31 चिट्ठियाँ (उषा छाबड़ा) वाचन: उषा छाबड़ा
*30 हमसफ़र (जया जादवानी) वाचन: पूजा अनिल, पीयूष अग्रवाल
*29 दर्द के अलग-अलग रंग (शीतल माहेश्वरी) वाचन: रश्मि प्रभा
*28 दो बूंद (पूनम झा) वाचन: निमिषा दीक्षित
*27 मुर्दा स्थगित (महेश कटारे) वाचन: लोकेश गुप्त
*26 उड़ान भरने को तैयार लड़की (नासिरा शर्मा) वाचन: ऋतु कौशिक
*25 क़यामत का दिन (जया जादवानी) वाचन: पूजा अनिल
*24 द = देह, दरद, दिल (विभा रानी) वाचन: रीतेश खरे
*23 पत्नी का भूत (सपना सिंह) वाचन: माधवी गणपुले
*22 अहिंसा (अनुराग शर्मा) वाचन: अनुराग शर्मा
*21 ब्याहता (सुनीता सिंह) वाचन: निमिषा दीक्षित
*20 हैपी फ़्रैंडशिप डे (हीरेंद्र झा) वाचन: निमिषा दीक्षित
*19 प्रेम का मूल्य (रवींद्रनाथ ठाकुर) वाचन: संज्ञा टंडन
*18 योगा टीचर (हीरेंद्र झा) वाचन: सरिता चड्ढा
*17 पिंकी (हीरेंद्र झा) वाचन: हीरेंद्र झा
*16 अंधेरे का गणित (पंकज सुबीर) वाचन: समीर गोस्वामी
*15 ब्रोचेता एस्पान्या (पूजा अनिल) वाचन: पूजा अनिल
*14 एंटी पार्टिकल (जया जादवानी) वाचन: जया जादवानी
*13 निर्वासन (प्रेमचंद) वाचन: अर्चना चावजी, अनुराग शर्मा
*12 सिस्टर्स मैचिंग सेंटर (दीपक शर्मा) वाचन: संज्ञा टण्डन
*11 भीगे तकिए धूप में (अनामिका अनु) वाचन: माधवी गणपुले
*10 महरी (प्रेमचंद) वाचन: अनुराग शर्मा
*9 खेमा (दीपक शर्मा) वाचन: अनुराग शर्मा
*8 असंतुष्ट (अनुराग शर्मा) वाचन: अनुराग शर्मा
*7 बालकथा (प्रभाशंकर उपाध्याय) वाचन: पूजा अनिल
*6 रेहाना की होली (हीरेंद्र झा) वाचन: निमिषा दीक्षित
*5 बाइज़्ज़त बरी (बालकवि बैरागी) वाचन: अनुराग शर्मा
*4 चप्पल (कमलेश्वर) वाचन: अनुराग शर्मा
*3 डेरा उखड़ने से पहले (वंदना अवस्थी) वाचन: पूजा अनिल
*2 प्रश्न का पेड़ (मनीषा कुलश्रेष्ठ) वाचन: पूजा अनिल
*1 दूसरा कमरा (गिरिजेश राव) वाचन: अनुराग शर्मा
* बोलती कहानियाँ सीज़न 1अब यूट्यूब, ऐमैज़ॉन म्यूज़िकजियो सावन, और एपल पॉडकास्ट पर भी सुना जा सकता है।
* नववर्ष में बोलती कहानियाँ, अब एक नये रूप में - एंकरस्पॉटिफ़ाई गूगल पॉडकास्ट सहित अनेक नये मंचों पर उपलब्ध है।

2020 (22)

चुड़ैल (बलराम अग्रवाल) वाचन: अनुराग शर्मा
नाव का धर्म (उषा भदौरिया) वाचन: पूजा अनिल
चेहरा (कान्ता रॉय) वाचन: अनुराग शर्मा
पूजाघर (कन्हैयालाल पाण्डेय) वाचन: कन्हैयालाल पाण्डेय
माँ (कन्हैयालाल पाण्डेय) वाचन: कन्हैयालाल पाण्डेय
धनी (कन्हैयालाल पाण्डेय) वाचन: कन्हैयालाल पाण्डेय
संवेदनाएँ (कन्हैयालाल पाण्डेय) वाचन: कन्हैयालाल पाण्डेय
रानी माँ (कन्हैयालाल पाण्डेय) वाचन: कन्हैयालाल पाण्डेय
बोझ (साधना वैद) वाचन: शीतल माहेश्वरी
विदेह (अनुराग शर्मा) वाचन: अनुराग शर्मा
एक मज़दूर की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट (राजेंद्र देवधरे 'दर्पण') वाचन: देवेंद्र पाठक
क्वारंटीन (राजिंदर सिंह बेदी) वाचन: अनुराग शर्मा
ऊँट की पीठ (दीपक शर्मा) वाचन: अनुराग शर्मा
ताई की बुनाई (दीपक शर्मा) वाचन: अनुराग शर्मा
मेंढकी (दीपक शर्मा) वाचन: अनुराग शर्मा
मोड़ (अनुराग शर्मा) वाचन: अनुराग शर्मा
चम्पा का मोबाइल (दीपक शर्मा) वाचन: हंसा दीप
तन्हाई (मनमोहन भाटिया) वाचन: पूजा अनिल
अम्मा की खाट (मधु चतुर्वेदी) वाचन: शीतल माहेश्वरी
तमाशा (गिरिजा कुलश्रेष्ठ) वाचन: शीतल माहेश्वरी
फ़ैशनपरस्त (साधना वैद्य) वाचन: शीतल माहेश्वरी
बचत (गिरिजा कुलश्रेष्ठ) वाचन: शीतल माहेश्वरी

2019 (32)

लाल स्कार्फ़ वाली लड़की (अनुलता राज नायर) वाचन: शीतल माहेश्वरी
चांद (प्रियंका गुप्ता) वाचन:
तीस साल बाद (रवींद्र कालिया) वाचन:
अंतिम चित्र (बसंत त्रिपाठी) वाचन:
मूर्खा (पांडेय बेचन शर्मा 'उग्र') वाचन:
लड़की (रामदरश मिश्र) वाचन:
पश्मीना (ज्योत्सना सिंह) वाचन:
नेलकटर (उदय प्रकाश) वाचन:
ड्रेन में रहने वाली लड़कियाँ (असगर वजाहत) वाचन:
एक फ़ौजी की डायरी (गौतम राजऋषि) वाचन:
आलोचना (शरद जोशी) वाचन:
बिग क्लाउड 2068 (अनुराग शर्मा) वाचन:
लाल पीली लड़की (उषा किरण) वाचन:
शर्म की बात पर ताली पीटना (हरिशंकर परसाई) वाचन:
चित्रों की ज़ुबान (संतोष श्रीवास्तव) वाचन:
पुराना खिलाड़ी उर्फ़ अपनी अपनी बीमारी (हरिशंकर परसाई) वाचन:
पुत्रमोह (मधुदीप) वाचन:
बर्थ नम्बर तीन (गौतम राजर्षि) वाचन:
गरीबी रेखा का कार्ड (शिवम् खरे) वाचन:
अंधा प्यार (अनुराग शर्मा) वाचन:
सागौन का पेड़ (समीर लाल 'समीर') वाचन:
बैराग के खाते में (संतोष श्रीवास्तव) वाचन:
नाम का चमत्कार (अनुराग शर्मा) वाचन:
अतीत (देवी नागरानी) वाचन:
प्रश्न का पेड़ (मनीषा कुलश्रेष्ठ) वाचन:
लोग पत्थर फेंकते हैं (प्रबोध गोविल) वाचन:
अपना अपना भाग्य (जैनेंद्र कुमार) वाचन:
अवांतर प्रसंग (से रा यात्री) वाचन:
बलिहारी गुरु आपने (अनुराग शर्मा) वाचन:
शेर और कवया (उदयन वाजपेयी) वाचन:
मेघ (प्रियांकी मिश्रा) वाचन:
रील बनाम रीयल (मिन्नी मिश्रा) वाचन:

2018 (32)

पॉकेटमनी (राशि सिंह) वाचन:
रंग (मनु बेतख़ल्लुस) वाचन:
गाय (वीरेंद्र भाटिया) वाचन:
छन्न (निरञ्जन धुळेकर) वाचन:
उड़नपरी (अर्चना तिवारी) वाचन:
जंग (सुधीर द्विवेदी) वाचन:
रसायन (विनोद नायक) वाचन:
एक गिलास पानी (चंद्रेश कुमार छतलानी) वाचन:
जय हो माई (वंदना अवस्थी दुबे) वाचन:
तर्पण (अनुराग शर्मा) वाचन:
ऊधम (ऋता शेखर 'मधु') वाचन:
बस मुस्कुराते रहें (अनूप शुक्ल) वाचन:
परिचित (रामनिवास मानव) वाचन:
बेचैनी (दीपक मशाल) वाचन:
रेल यात्रा (शरद जोशी) वाचन:
साइकल चोर (कांता रॉय) वाचन:
एक बार फिर (सुधीर द्विवेदी) वाचन:
कुत्सा (मुंशी प्रेमचंद) वाचन:
हल (अनुराग शर्मा) वाचन:
जननायक (प्राण शर्मा) वाचन:
स्नेहलता गोस्वामी की सलाह वाचन:
मन का उजाला - सीमा सिंह वाचन:
विनोद नायक की दवा और दुआ वाचन:
आ लड़ाई आ (उपेन्द्रनाथ अश्क) वाचन:
डेरा उखड़ने से पहले - वंदना अवस्थी दुबे वाचन:
पञ्च परमेश्वर (मुंशी प्रेमचंद) वाचन:
भावनाओं का सम्बल - ज्योत्सना सिंह वाचन:
दो घड़े (सूर्यकांत त्रिपाठी 'निराला') वाचन:
मैजस्टिक मूँछें (अनुराग शर्मा) वाचन:
रोटी या पाप: विष्णु प्रभाकर वाचन:
सरहपाद का निर्गमन: दूधनाथ सिंह वाचन:
गिरिजेश राव की कहानी 'डेट' वाचन: सलिल वर्मा

2017 (23)

नेउर (प्रेमचंद) वाचन: समीर गोस्वामी
शूद्रा (प्रेमचंद) वाचन: समीर गोस्वामी
यारी है ईमान (अनुराग शर्मा) वाचन:
खेल (उषा छाबड़ा) वाचन:
विश्वसनीय (सुदर्शन रत्नाकर) वाचन:
अहसास (कविता वर्मा) वाचन:
रंग (अभिमन्यु अनत) वाचन:
निशक्त घुटने (कुणाल शर्मा) वाचन:
राष्ट्र का सेवक (प्रेमचंद) वाचन:
मुआवजा (राधेश्याम भारतीय) वाचन:
दो गौरय्या (भीष्म सहनी) वाचन:
देशभक्ति की पॉलिश (हरिशंकर परसाई) वाचन:
अकाल मृत्यु (स्वयं प्रकाश) वाचन:
भिखारिन (रवीन्द्रनाथ ठाकुर) वाचन:
बड़े भाईसाहब (प्रेमचंद) वाचन:
कारा मत नापो मिन्नी (प्रमिला वर्मा) वाचन:
बाल कथाकार व वाचक उषा छाबड़ा से ख़ास बातचीत वाचन: सजीव सारथी
आखरी शर्त (मालती जोशी) वाचन:
मज़हब (मधुदीप गुप्ता) वाचन:
श्रद्धांजलि (सतीश दुबे) वाचन:
पवित्रता (राम निवास बाँयला) वाचन:
पेट का कछुआ (युगल) वाचन:
काँच के शामियाने (रश्मि रविजा) वाचन:

2016 (22)

आनंद और पीड़ा (खलील जिब्रान) वाचन:
रानीखेत एक्स्प्रैस (गीत चतुर्वेदी) वाचन:
गोपी लौट आया (दर्शन सिंह आशट) वाचन:
माँ (माधव नागदा) वाचन:
निमंत्रण (दीपक मशाल) वाचन:
शहतूत पक गये हैं (संतोष श्रीवास्तव) वाचन:
इतिहास (अजय नावरिया) वाचन:
बंद दरवाज़ा (प्रेमचंद) वाचन: उषा छाबड़ा
पापा जब बच्चे थे (अशोक भाटिया) वाचन:
नदी जो झील बन गई (सौरभ शर्मा) वाचन:
अम्मा (उषा छाबड़ा) वाचन:
माँ सब देखती है (पूजा अनिल) वाचन:
शॉर्टकट टु हैपिनैस (अनुराग आर्या) वाचन:
लेम्बरेटा, नन्ही परी और एक ठिठकी शाम (गौतम राजऋषि) वाचन:
लव जिहाद उर्फ़ उदास आँखों वाला लड़का (पंकज सुबीर) वाचन: संज्ञा टंडन
कुत्ते की दुआ (मंटो) वाचन:
मुस्कान (उषा छाबड़ा) वाचन:
कूड़ा (संतोष त्रिवेदी) वाचन:
स्वेटर (उषा छाबड़ा) वाचन:
ब्रोचेता एस्पान्या (पूजा अनिल) वाचन: पूजा अनिल
रसिक सम्पादक (प्रेमचंद) वाचन:
दंगा (सर्वेश तिवारी 'श्रीमुख') वाचन:

2015 (28)

शिकार (काजल कुमार) वाचन:
प्रश्न (उषा छाबड़ा) वाचन:
जब वह बुलायेगा (असग़र वजाहत) वाचन:
समझौता (हरिशंकर परसाई) वाचन:
महावीर और गाड़ीवान (सूर्यकांत त्रिपाठी 'निराला') वाचन:
बेटी पढ़ाओ (सलिल वर्मा) वाचन:
आढ़तिया (काजल कुमार) वाचन:
बचपन का भोलापन (उषा छाबड़ा) वाचन:
खिलखिलाहट (अनुराग शर्मा) वाचन:
चार सूफ़ी और एक कम्बल (असग़र वजाहत) वाचन:
हार की जीत (सुदर्शन) वाचन: उषा छाबड़ा
बिजली जाने का सुख (मोनिका गुप्ता) वाचन: मोनिका गुप्ता
बम भोलेनाथ (बाबा नागार्जुन) वाचन:
सर्व शिक्षा अभियान (असित कुमार मिश्र) वाचन:
रुद्राभिषेक (सौरभ चतुर्वेदी) वाचन:
मुसीबत मोल ली मैंने (मोनिका गुप्ता) वाचन: मोनिका गुप्ता
लव यू (मोनिका गुप्ता) वाचन: मोनिका गुप्ता
सहयोग (मोनिका गुप्ता) वाचन: मोनिका गुप्ता
समय (काजल कुमार) वाचन:
कुत्ता (काजल कुमार) वाचन:
ममता की छाँव में (आशा गुप्ता) वाचन:
माँ तो सबकी एक जैसी होती है (शाहिद अजनबी) वाचन:
मुक्ति (गिरिजेश राव) वाचन: अनुराग शर्मा
व्यवस्था (अनुराग शर्मा) वाचन:
परछाईं (दीपक मशाल) वाचन:
गुरु (अनुराग शर्मा) वाचन:
कंजूस मक्खीचूस (अनुराग शर्मा) वाचन:
क्या अगले साल? (घुघूती बासूती) वाचन:

2014 (18)

लाज (वरुण कुमार जायसवाल) वाचन:
ईमानदार (विनय के. जोशी) वाचन:
कला (जयशंकर प्रसाद) वाचन: अर्चना चावजी
लोकतंतर (काजल कुमार) वाचन:
खान फ़िनॉमिनन (अनुराग शर्मा) वाचन:
खंडहर की लिपि (जयशंकर प्रसाद) वाचन:
एक सुख ऐसा भी (गिरिजेश राव) वाचन: अनुराग शर्मा
बहू लक्ष्मी (श्यामचंद्र कपूर) वाचन:
छोटा जादूगर (जयशंकर प्रसाद) वाचन:
दियासलाई वाली बच्ची (हाँस क्रिश्चियन एंडरसन)  वाचन:
ईमान की लूट (अनुराग शर्मा) वाचन: अनुराग शर्मा
तरह तरह के बिच्छू (अनुराग शर्मा) वाचन: माधवी गणपुले
बदचलन (हरिशंकर परसाई) वाचन: अनुराग शर्मा
सड़क जाम (पुरुषोत्तम पांडेय) वाचन:
आम आदमी (शंकर पुणताम्बेकर) वाचन:
स्त्री और पुरुष (प्रेमचंद) वाचन:
लघु बोधकथा (मुनीश शर्मा) वाचन:
बड़ी दादी (मनमोहन भाटिया) वाचन:

2013 (37)

ड्राइवर (काजल कुमार) वाचन:
करवा चौथ (शोभना चौरे) वाचन:
बकरी दो गाँव खा गई (हरिकृष्ण देवसरे) वाचन:
संयोग (अभिषेक ओझा) वाचन: अनुराग शर्मा
दूसरा कमरा (गिरिजेश राव) वाचन: अनुराग शर्मा
शिकारी राजकुमार (प्रेमचंद) वाचन:
मोटर की छींटें (प्रेमचंद) वाचन:
संतरे (ऋयुनासुके अकुतागावा) वाचन: अनुराग शर्मा
चमचासन (सुमन पाटिल) वाचन:
खत जो लिखा नहीं गया (शिशिर कृष्ण शर्मा) वाचन:
पाकिस्तान में एक ब्राह्मण (अनुराग शर्मा) वाचन:
बालक (प्रेमचन्द) वाचन:
अग्निसमाधि (प्रेमचंद) वाचन:
सम्बंध (अनुराग शर्मा) वाचन: मृदुल कीर्ति, अनुराग शर्मा
आदत (अराधना चतुर्वेदी) वाचन:
कायर (मुंशी प्रेमचंद) वाचन:
देशांतर (सुदर्शन प्रियदर्शिनी) वाचन:
एक था गदहा (काजल कुमार) वाचन:
मुस्लिम-मुस्लिम भाई-भाई (सच्‍चिदानन्‍द हीरानन्‍द वात्‍स्‍यायन 'अज्ञेय') वाचन: अनुराग शर्मा
जम्बक की डिबिया - सुभद्रा कुमारी चौहान वाचन:
ताऊ व्यंग्य (पी. सी. रामपुरिया) वाचन:
एक औरत: तीन बटा चार (सुधा अरोड़ा) वाचन:
दो बैलों की कथा (प्रेमचंद) वाचन:
लातों का देव (पुरुषोत्तम पाण्डेय) वाचन:
यस सर (हरिशंकर परसाई) वाचन:
जय प्रकाश उर्फ जे पी (दीपक बाबा) वाचन:
भोला भट्ट (गिरिजाशंकर भगवानजी "गिजुभाई" बधेका) वाचन:
लड़की थी वह (सुधा ओम ढींगरा) वाचन: शेफ़ाली गुप्ता
खून सफ़ेद (मुंशी प्रेमचंद) वाचन:
क़त्ल किसका (शोभा रस्तोगी) वाचन: अनुराग शर्मा
शवयात्रा (तपन शर्मा) वाचन: अनुराग शर्मा
नौकरी (रमेश बतरा) वाचन:
इबादत - अ सर्विस ऑफ़ लव (ओ हेनरी) वाचन:
अपनों ने लूटा (डा. अमर कुमार) वाचन:
परिवर्तन (पंडित सुदर्शन) वाचन:
ठिठुरता हुआ गणतंत्र (हरिशंकर परसाई) वाचन:
खोल दो (मंटो) वाचन:

2012 (41)

कछुआ और खरगोश (इब्ने इंशा) वाचन:
झलमला (पदुमलाल पुन्नालाल बख्शी ‘मास्टरजी’) वाचन:
आसक्ति की मृगतृष्णा (हंसराज “सुज्ञ”) वाचन:
अनोखी कलाकृति - द लास्ट लीफ (ओ हेनरी) वाचन:
कशमकश (रश्मि रविजा) वाचन:
यह उजास चाहिए मुझे (विष्णु बैरागी) वाचन:
अब्बाजान (आचार्य चतुरसेन) वाचन:
अद्भुत संवाद (भारतेंदु हरिश्चंद्र) वाचन:
मैं मुसलमान तुम काफिर (अशफाक उल्ला खाँ) वाचन:
कमज़ोर (अंतोन चेखव) वाचन:
कवि का साथ (अमृतलाल नागर) वाचन:
फैसला (भीष्म साहनी) वाचन:
एक पढ़ी लिखी स्त्री (क्रांति त्रिवेदी) वाचन: शेफ़ाली गुप्ता
मध्यम वर्गीय कुत्ता (हरिशंकर परसाई) वाचन:
वो लोग ही कुछ और होते हैं (अभिषेक ओझा) वाचन: अनुराग शर्मा
बचपन (उषा महाजन) वाचन: शेफ़ाली गुप्ता
वापसी (उषा प्रियंवदा) वाचन: शेफ़ाली गुप्ता
बिखरते रिश्ते (सुधा ओम ढींगरा) वाचन: शेफ़ाली गुप्ता
चौबे जी (हरिशंकर परसाई) वाचन:
नज़ीर मियाँ की खिचड़ी (रीता पाण्डेय) वाचन: शेफ़ाली गुप्ता
"बाप बदल" व "लड़ाई" (हरिशंकर परसाई) वाचन:
संकठा प्रसाद लौट आये हैं (रीता पाण्डेय) वाचन: शेफ़ाली गुप्ता
सुशीला (हरिशंकर परसाई) वाचन:
चप्पल (कमलेश्वर) वाचन: अनुराग शर्मा; संगीत: सजीव सारथी
बाइज्जत बरी (बालकवि बैरागी) वाचन:
गुम्मी (गिरिजेश राव) वाचन: अनुराग शर्मा
अच्छा बुरा (अभिषेक ओझा) वाचन: एकता अग्रवाल
अश्‍लील (हरिशंकर परसाई) वाचन:
अपनापन (रचना बजाज) वाचन:
कौव्वा (विष्णु बैरागी) वाचन: अनुराग शर्मा
भोला (अनुराग शर्मा) वाचन:
मेले का ऊँट (बालमुकुन्द गुप्त) वाचन:
क्या वे उन्हें भूल सकती हैं? (निर्मल वर्मा) वाचन: रीतेश खरे
घीसा (महादेवी वर्मा) वाचन: अर्चना चावजी
असमर्थ दाता (नागार्जुन) वाचन:
आखिर बेटा हूँ तेरा (समीर लाल) वाचन: अर्चना चावजी 
एक रात (पङ्कज सुबीर) वाचन: अनुराग शर्मा
शत्रु (सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन 'अज्ञेय') वाचन: अनुभव प्रिय
ईमानदार प्रधान (दीपक बाबा) वाचन:
अकबर के नवरत्न (इब्ने इंशा) वाचन:
भूख (गिरिजेश राव) वाचन: सलिल वर्मा
बेचारा भला आदमी (हरिशंकर परसाई) वाचन:

2011 (41)

टार्च बेचने वाले (हरिशंकर परसाई) वाचन:
राजू के नाम एक पत्र (गिरिजेश राव) वाचन: अनुराग शर्मा
एक विचित्र कहानी (अ स्ट्रेंज स्टोरी) - ओ हेनरी वाचन:
क़ौमी एकता (अनुराग शर्मा) वाचन:
कफ़न (मुंशी प्रेमचंद) वाचन:
ढपोलशंख मास्टर (हरिशंकर परसाई) वाचन:
घूस दे दूँ क्या? (अभिषेक ओझा) वाचन: अनुराग शर्मा
श्राप (गिरिजेश राव) वाचन: अनुराग शर्मा
निर्वासन (मुंशी प्रेमचंद) वाचन:
ओह (घुघूती बासूती) वाचन:
अग्नि समर्पण (अनुराग शर्मा) वाचन:
छोटे मियाँ (अनुराग शर्मा) वाचन:
बदचलन (हरिशंकर परसाई) वाचन: अर्चना चावजी
करमा जी की टुन्न परेड (अनुराग शर्मा) वाचन:
बी. एल. नास्तिक (अनुराग शर्मा) वाचन:
सौभाग्य (अनुराग शर्मा) वाचन:
तीर्थयात्रा (पण्डित सुदर्शन) वाचन:
अपील का जादू (हरिशंकर परसाई) वाचन:
चील (भीष्म साहनी) वाचन:
इंतज़ार (संजय अनेजा) वाचन: अर्चना चावजी, सलिल वर्मा; संगीत: पद्मसिंह
प्रेम गली अति... (अभिषेक ओझा) वाचन: अभिषेक ओझा
गुरुर्ब्रह्मा (अनुराग शर्मा) वाचन:
टोड (अनुराग शर्मा) वाचन:
कला (जयशंकर प्रसाद) वाचन: अनुराग शर्मा
बेमेल विवाह (अनुराग शर्मा) वाचन: अनुराग शर्मा सफ़ीना (क़ैस जौनपुरी) वाचन:
दाज्यू (शेखर जोशी) वाचन:
सुजान साँप (गिरिजेश राव) वाचन: अनुराग शर्मा
घर और बाहर (अनुराग शर्मा) वाचन:
खून दो (अनुराग शर्मा) वाचन:
गैर मुल्की लड़की (अल्ताफ़ फ़ातिमा) वाचन:
ममता (जयशंकर प्रसाद) वाचन:
उपाय छोटा काम बड़ा (स्वामी विवेकानन्द) वाचन:
फेरी वाला (नीरज बसलियाल) वाचन:
विजया (जयशंकर प्रसाद) वाचन:
ढेला पत्ता (गिरिजेश राव) वाचन: अनुराग शर्मा

2010 (48)

आती क्या खंडाला? (अनुराग शर्मा) वाचन:
उखड़े खंभे (हरिशंकर परसाई) वाचन:
गेट (गिरिजेश राव) वाचन:  अनुराग शर्मा
लड़कियाँ (मृणाल पाण्डेय) वाचन: प्रीति सागर
नसीब अपना अपना (अनुराग शर्मा) वाचन: अनुराग शर्मा
बांधों को तोड़ दो (अनुराग शर्मा) वाचन:
गंजा - लघुकथा (अनुराग शर्मा) वाचन:
एक कवि पत्नी का संलाप: सत्ता संवाद (सुधा अरोड़ा) वाचन: सुधा अरोड़ा
पानी की जाति (विष्णु प्रभाकर) वाचन:
मुण्डन (हरिशंकर परसाई) वाचन:
विभाजित (अहमद सगीर सिद्दीकी) वाचन:
तरह तरह के बिच्छू (अनुराग शर्मा) वाचन:
ज्योतिषी का नसीब (आर के नारायण) वाचन: कविता वर्मा
एक गधा नेफा में (कृश्न चन्दर) वाचन: अनुराग शर्मा
गुलेलबाज़ लड़का (भीष्म साहनी) वाचन:
छिपकली आदमी (रामचन्द्र भावे) वाचन:
सच्चा घोड़ा (भारतेंदु हरिश्चंद्र) वाचन: अनुराग शर्मा
रहोगी तुम वही (सुधा अरोड़ा) वाचन: राजेंद्र गुप्ता
एक गधे की वापसी (कृश्न चन्दर) - तृतीय भाग वाचन: अनुराग शर्मा
एक गधे की वापसी (कृश्न चन्दर) - द्वितीय भाग वाचन: अनुराग शर्मा
एक गधे की वापसी (कृश्न चन्दर) - प्रथम भाग वाचन: अनुराग शर्मा
मंत्र (प्रेमचंद) वाचन: अर्चना चावजी
पत्नी का पत्र (रवींद्रनाथ ठाकुर) वाचन: 
सात ठगों का किस्सा (लोककथा) वाचन: 
चोरी का अर्थ (विष्णु प्रभाकर) वाचन: 
दो हाथ (इस्मत चुगताई) वाचन: 
माय नेम इज़ खान (अनुराग शर्मा) वाचन: 
एक बंगला फिल्म (शरद जोशी) वाचन: 
तुम लोग (पङ्कज सुबीर) वाचन: अनुराग शर्मा
बाबू की बदली (हरिशंकर परसाई) वाचन: 
अठन्नी का चोर (पण्डित सुदर्शन) वाचन: 
साइकिल की सवारी (पण्डित सुदर्शन) वाचन: 
कामरेड (कमलेश्वर) वाचन: 
काबुलीवाला (रबीन्द्र नाथ ठाकुर) वाचन: नीलम मिश्रा
चार बेटे (हरिशंकर परसाई) वाचन: 
मैं एक भारतीय (अनुराग शर्मा) वाचन: 
बुद्धिजीवियों का दायित्व (शरद जोशी) वाचन: 
डिप्टी कलक्टर (हरिशंकर परसाई) वाचन: 
चारा काटने की मशीन (उपेंद्रनाथ अश्क) वाचन: 
हमारा मुल्क (इब्ने इंशा) वाचन: 
आग (असगर वज़ाहत) वाचन: 
झूठ बराबर तप नहीं (गोपाल प्रसाद व्यास) वाचन: 
संस्कृति के रखवाले (अनुराग शर्मा) वाचन: 
इस्मत चुगताई की आत्मकथा 'कागज़ी है पैरहन' से एक अंश वाचन: 
गरजपाल की चिट्ठी (अनुराग शर्मा) वाचन: 
एक अशुद्ध बेवक़ूफ़ - हरिशंकर परसाई वाचन: 
एक टोकरी भर मिट्टी - माधवराव सप्रे वाचन: 
नया साल (हरिशंकर परसाई) वाचन: 

2009 (51)

पंडित सुदर्शन की कालजयी रचना हार की जीत वाचन: 
ग्रीटिंग कार्ड और राशन कार्ड (हरिशंकर परसाई) वाचन: 
नमक का दरोगा (प्रेमचंद) वाचन: 
खेती (हरिशंकर परसाई) वाचन: 
हत्या की राजनीति (अनुराग शर्मा) वाचन: 
तोते की कहानी - रबीन्द्र नाथ ठाकुर वाचन: 
पक्षी और दीमक - गजानन माधव मुक्तिबोध वाचन: 
सभ्यता का रहस्य (प्रेमचंद) वाचन: 
घर जमाई (प्रेमचंद) वाचन: 
ज्योति (प्रेमचंद) वाचन: 
चौथी का जोड़ा (इस्मत चुगताई) वाचन: 
पंचलाइट (फणीश्वर नाथ 'रेणु') वाचन: 
बोर (हरिशंकर परसाई) वाचन: 
प्यार किया तो मरना क्या (काका हाथरसी) वाचन: 
शंखनाद (प्रेमचंद) वाचन: 
विजय (प्रेमचंद) वाचन: 
नसीहतों का दफ्तर (प्रेमचंद) वाचन: 
बूढ़ी काकी (प्रेमचंद) वाचन: 
क़ातिल (प्रेमचंद) वाचन: 
चीफ़ की दावत (भीष्म साहनी) वाचन: 
झांकी (प्रेमचंद) वाचन: 
आँखें (मण्टो) वाचन: 
ज्ञानी (उपेंद्रनाथ अश्क) वाचन: 
बाँहों में मछलियाँ (गौरव सोलंकी) वाचन: 
वैराग्य (प्रेमचंद) वाचन: 
पहेली (उपेन्द्रनाथ अश्क) वाचन: 
इस्तीफ़ा (प्रेमचंद) वाचन: 
फ़र्क (विष्णु प्रभाकर) वाचन: 
बाँका ज़मींदार (प्रेमचंद) वाचन: 
शिखर-पुरुष (ज्ञानप्रकाश विवेक) वाचन: 
कसौटी - मण्टो वाचन: 
बुतरखौकी (श्रवण कुमार सिंह) वाचन: शन्नो अग्रवाल
टोबा टेक सिंह (मण्टो) वाचन: 
समस्या (प्रेमचंद) वाचन: 
आत्म-संगीत (प्रेमचंद) वाचन: 
स्वामिनी (प्रेमचंद) वाचन: शन्नो अग्रवाल
मंदिर और मस्जिद (प्रेमचंद) वाचन: शन्नो अग्रवाल
लघुकथा (मण्टो) वाचन: 
बड़े घर की बेटी (प्रेमचंद) वाचन: शन्नो अग्रवाल
बोहनी (प्रेमचंद) वाचन: 
ईस्ट इंडिया कम्पनी (पंकज सुबीर) वाचन: अनुराग शर्मा
पलाश (पंकज सुबीर) वाचन: अनुराग शर्मा
फोटोग्राफर (कुर्रत-उल-ऐन हैदर) वाचन: नीलम मिश्रा
पत्नी से पति (प्रेमचंद) वाचन: शन्नो अग्रवाल
ठाकुर का कुआँ (प्रेमचंद) वाचन: 
पुत्र प्रेम (प्रेमचंद) वाचन: शन्नो अग्रवाल
माँ (प्रेमचंद) वाचन: शन्नो अग्रवाल
गुल्ली डण्डा (प्रेमचंद) वाचन: शन्नो अग्रवाल
दुर्गा का मंदिर (प्रेमचंद) वाचन: शन्नो अग्रवाल
आत्माराम (प्रेमचंद) वाचन: शन्नो अग्रवाल
नेकी (प्रेमचंद) वाचन: शन्नो अग्रवाल

2008 (21)

मंत्र (प्रेमचंद) वाचन: शन्नो अग्रवाल
दूसरी शादी (प्रेमचंद) वाचन: 
पूस की रात (प्रेमचंद) वाचन:  शन्नो अग्रवाल
शादी की वजह (प्रेमचंद) वाचन: 
सौत (प्रेमचंद) वाचन:  शन्नो अग्रवाल
बंद दरवाज़ा (प्रेमचंद) वाचन: अनुराग शर्मा
देवी (प्रेमचंद) वाचन: 
वरदान (प्रेमचंद) वाचन: 
कौशल (प्रेमचंद) वाचन: 
आधार (प्रेमचंद) वाचन: 
उद्धार (प्रेमचंद) वाचन: 
आखिरी तोहफ़ा (प्रेमचंद) वाचन: 
पर्वत यात्रा (प्रेमचंद) वाचन: 
ईदगाह (प्रेमचंद) वाचन: 
अमृत (प्रेमचंद) वाचन: 
अपनी करनी (प्रेमचंद) वाचन: 
प्रेरणा (प्रेमचंद) वाचन: 
अनाथ लड़की (प्रेमचंद) वाचन: 
स्वेटर (विमल चंद्र पाण्डेय) वाचन: 
अंधेर (प्रेमचंद) वाचन: 
बेज़ुबान दोस्त (एस आर हरनोट) वाचन: 

2007 (3)

ज़िंदा हो गया है (राजीव रंजन प्रसाद) वाचन: 
एक और मुखौटा (रंजना भाटिया) वाचन: 
दो जीवन समांतर (सूरज प्रकाश) वाचन: 
-------------

बोलती कहानियाँ का वाचक बनना चाहते हैं तो कृपया यह संदेश पढ़िये
कुछ अनुरोध: 
1. स्थापित लेखकों की, भली-भांति सम्पादित प्रकाशित कहानियाँ हमारी पहली पसंद हैं,  यदि अपनी, या अपने मित्रों की कहानी, या सोशल मीडिया पर रखी हुई कहानी पढ़ें तब विशेष ध्यान रखें कि कहानी कच्ची न रह गयी हो।
2. 15 मिनट से 30 मिनट लम्बी कहानी आदर्श है।
3. यदि कहानी पब्लिक डोमेन में नहीं है तो पढ़ने से पहले खुद पहल करके या किसी मित्र/परिचित की सहायता से लेखक, प्रकाशक से अनुमति ले लें।
4. पाठ मौलिक हो। यदि कोई कहानी आप पहले से पढ़कर यूट्यूब, या किसी अन्य माध्यम पर लगा चुके हैं तो उसे न भेजें।
5. बोलती कहानियाँ के लिये भेजी जा रही कहानी को अलग से अपने चैनल या सोशल मीडिया पर पोस्ट न करें। इसके बजाय रेडियोप्लेबैक इंडिया की वैबसाइट, यूट्यूब, स्पॉटिफ़ाइ, गूगल पॉडकास्ट, एपल पॉडकास्ट, एमेज़ॉन म्यूज़िक आदि का लिंक ही साझा कीजिये।
6. लेखक का नाम, सम्भव हो तो संक्षिप्त परिचय भी आपके पास होना चाहिये
7. RPI पर पहले से पढ़ी जा चुकी कहानियाँ न भेजें - 
   6a. मार्च 2021 से अब तक पढ़ी जा चुकी कहानियाँ यूट्यूब पर यहाँ हैं।
   6b. सन् 2007 से 2021 तक की बोलती कहानियों की सूची रेडियोप्लेबैक इंडिया की पुरानी साइट पर हैं।
      समय मिले तो कृपया वहाँ भी कहानियाँ सुनें, और लाइक / रेटिंग दें
8. कृपया एकपक्षीय, या अतिवादी रचनाएँ न भेजें। किसी राजनैतिक विचारधारा के प्रचार, हिंसक गतिविधि, या किसी भी प्रकार की घृणा या द्वेष की अभिव्यक्ति से बचें, चाहे वह किसी भी वर्ग, जाति, धर्म, लिंग, भाषा, या राष्ट्रीयता के प्रति हो। घृणा, द्वेष, हिंसा, प्रतिहिंसा का समर्थन हमारे, और समाज के लिये हानिप्रद तो है ही, यह अनैतिक और अवैध भी है, इसे रोकने में ही हमारा हित है। 
9. कहानियाँ स्टीरियो mp3 फ़ॉर्मेट में ही भेजें, बैकग्राउंड संगीत या शोर के बिना। यदि बैकग्राउंड में कोई अवांछित शोर आ जाये तो उस वाक्य को फिर से रिकॉर्ड कर लें और भेजते समय इस बात का ज़िक्र कर दें ताकि उसे सम्पादित किया जा सके।
10. कहानी रिकॉर्ड करने से पहले बोलती कहानियाँ टीम से वार्ता करके सहमति ले लें ताकि बाद में कोई असुविधा, या निराशा न हो।
11. "बोलती कहानियाँ" टीम से boltikahaniyan.rpi@gmail.com पर सम्पर्क किया जा सकता है।
12. हमारा फ़ेसबुक पृष्ठ: https://www.facebook.com/RadioPlaybackIndiaOfficial

Comments

Popular posts from this blog

बिलावल थाट के राग : SWARGOSHTHI – 215 : BILAWAL THAAT

स्वरगोष्ठी – 215 में आज दस थाट, दस राग और दस गीत – 2 : बिलावल थाट 'तेरे सुर और मेरे गीत दोनों मिल कर बनेगी प्रीत...'   ‘रेडियो प्लेबैक इण्डिया’ के साप्ताहिक स्तम्भ ‘स्वरगोष्ठी’ के मंच पर जारी नई लघु श्रृंखला ‘दस थाट, दस राग और दस गीत’ के दूसरे अंक में मैं कृष्णमोहन मिश्र, आप सब संगीत-प्रेमियों का हार्दिक स्वागत करता हूँ। इस लघु श्रृंखला में हम आपसे भारतीय संगीत के रागों का वर्गीकरण करने के लिए मेल अथवा थाट व्यवस्था पर चर्चा कर रहे हैं। भारतीय संगीत में 7 शुद्ध, 4 कोमल और 1 तीव्र, अर्थात कुल 12 स्वरों का प्रयोग होता है। एक राग की रचना के लिए उपरोक्त 12 स्वरों में से कम से कम 5 स्वरों का होना आवश्यक है। संगीत में थाट रागों के वर्गीकरण की पद्धति है। सप्तक के 12 स्वरों में से क्रमानुसार 7 मुख्य स्वरों के समुदाय को थाट कहते हैं। थाट को मेल भी कहा जाता है। दक्षिण भारतीय संगीत पद्धति में 72 मेल प्रचलित हैं, जबकि उत्तर भारतीय संगीत पद्धति में 10 थाट का प्रयोग किया जाता है। इसका प्रचलन पण्डित विष्णु नारायण भातखण्डे जी ने प्रारम्भ किया था। व

राग कलिंगड़ा : SWARGOSHTHI – 439 : RAG KALINGADA

स्वरगोष्ठी – 439 में आज भैरव थाट के राग – 5 : राग कलिंगड़ा कौशिकी चक्रवर्ती से राग कलिंगड़ा में एक दादरा और लता मंगेशकर से फिल्मी गीत सुनिए लता मंगेशकर विदुषी कौशिकी चक्रवर्ती “रेडियो प्लेबैक इण्डिया” के साप्ताहिक स्तम्भ ‘स्वरगोष्ठी’ के मंच पर जारी हमारी श्रृंखला “भैरव थाट के राग” की पाँचवीं कड़ी में मैं कृष्णमोहन मिश्र, आप सब संगीत-प्रेमियों का हार्दिक स्वागत करता हूँ। भारतीय संगीत के अन्तर्गत आने वाले रागों का वर्गीकरण करने के लिए मेल अथवा थाट-व्यवस्था है। भारतीय संगीत में 7 शुद्ध, 4 कोमल और 1 तीव्र, अर्थात कुल 12 स्वरों का प्रयोग होता है। एक राग की रचना के लिए उपरोक्त 12 स्वरों में से कम से कम 5 स्वरों का होना आवश्यक है। संगीत में थाट, रागों के वर्गीकरण की पद्धति है। सप्तक के 12 स्वरों में से क्रमानुसार 7 मुख्य स्वरों के समुदाय को थाट कहते हैं। थाट को मेल भी कहा जाता है। दक्षिण भारतीय संगीत पद्धति में 72 मेल प्रचलित हैं, जबकि उत्तर भारतीय संगीत पद्धति में 10 थाट का प्रयोग किया जाता है। इसका प्रचलन पण्डित विष्णु नारायण भातखण्डे जी ने प्र

कल्याण थाट के राग : SWARGOSHTHI – 214 : KALYAN THAAT

स्वरगोष्ठी – 214 में आज दस थाट, दस राग और दस गीत – 1 : कल्याण थाट राग यमन की बन्दिश- ‘ऐसो सुघर सुघरवा बालम...’  ‘रेडियो प्लेबैक इण्डिया’ के साप्ताहिक स्तम्भ ‘स्वरगोष्ठी’ के मंच पर आज से आरम्भ एक नई लघु श्रृंखला ‘दस थाट, दस राग और दस गीत’ के प्रथम अंक में मैं कृष्णमोहन मिश्र, आप सब संगीत-प्रेमियों का हार्दिक स्वागत करता हूँ। आज से हम एक नई लघु श्रृंखला आरम्भ कर रहे हैं। भारतीय संगीत के अन्तर्गत आने वाले रागों का वर्गीकरण करने के लिए मेल अथवा थाट व्यवस्था है। भारतीय संगीत में 7 शुद्ध, 4 कोमल और 1 तीव्र, अर्थात कुल 12 स्वरों का प्रयोग होता है। एक राग की रचना के लिए उपरोक्त 12 स्वरों में से कम से कम 5 स्वरों का होना आवश्यक है। संगीत में थाट रागों के वर्गीकरण की पद्धति है। सप्तक के 12 स्वरों में से क्रमानुसार 7 मुख्य स्वरों के समुदाय को थाट कहते हैं। थाट को मेल भी कहा जाता है। दक्षिण भारतीय संगीत पद्धति में 72 मेल प्रचलित हैं, जबकि उत्तर भारतीय संगीत पद्धति में 10 थाट का प्रयोग किया जाता है। इसका प्रचलन पण्डित विष्णु नारायण भातखण्डे जी ने प्रारम्भ किया