Saturday, October 1, 2011

अनुराग शर्मा की कहानी "छोटे मियाँ"

'सुनो कहानी' इस स्तम्भ के अंतर्गत हम आपको सुनवा रहे हैं प्रसिद्ध कहानियाँ। पिछले सप्ताह आपने प्रसिद्ध हिंदी साहित्यकार हरिशंकर परसाई के व्यंग्य "बदचलन" का पॉडकास्ट अर्चना चावजी की आवाज़ में सुना था। आज हम आपकी सेवा में प्रस्तुत कर रहे हैं अनुराग शर्मा की एक कहानी "छोटे मियाँ", जिसको स्वर दिया है अनुराग शर्मा ने। कहानी "छोटे मियाँ" का कुल प्रसारण समय 2 मिनट 53 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।

इस कथा का टेक्स्ट बर्ग वार्ता ब्लॉग पर उपलब्ध है।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिको, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं हमसे संपर्क करें। अधिक जानकारी के लिए कृपया यहाँ देखें।

शक्ति के बिना धैर्य ऐसे ही है जैसे बिना बत्ती के मोम।
~ अनुराग शर्मा

हर शनिवार को आवाज़ पर सुनें एक नयी कहानी
"उम्र पूछी तो राजा ने मेरी ओर देखा। मैंने जवाब दिया तो रिसेप्शनिस्ट मुस्कराई, "द यंगेस्ट मैन इन द कम्युनिटी।"
(अनुराग शर्मा की "छोटे मियाँ" से एक अंश)


नीचे के प्लेयर से सुनें.
(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)

यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाऊनलोड कर लें:
VBR MP3
#147th Story, Chhote Miyan: Anurag Sharma/Hindi Audio Book/2011/28. Voice: Anurag Sharma

2 comments:

Anonymous said...

very touching indeed...sochne waali baat ye hai ki is umr men unhen us ghar men rakhaa jaaye jahan koi freedom nahin ya fir, fir se navjeevan jeene kii saugaat dii jaaye jaise raja bhaiya ne kiya, kya thaak hai is par vichaar hona chahiye - sajeev sarathie

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन said...

धन्यवाद सजीव!

The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ