Showing posts with label nazron main samane se. Show all posts
Showing posts with label nazron main samane se. Show all posts

Thursday, April 26, 2012

२६ अप्रैल- आज का गाना



गाना: नज़रों में समाने से क़रार

चित्रपट: हैदराबाद की नाजनीन
संगीतकार:वसंत देसाई
गीतकार:नूर लखनवी
स्वर: राजकुमारी





आ आ आ~~~~~~~~
नज़रों में समाने से क़रार आ न सकेगा
तुम पास नहीं दिल को ये बहला न सकेगा

तस्वीर निगाहों में ख़्हामोश तुम्हारी
जो सुन नहीं सकती कभी फ़रियाद हमारी
ये खाली तसव्वुर किसी काम आ न सकेगा
तुम पास नहीं दिल को ये बहला न सकेगा
आ आ~~~ नज़रों में समाने...

आयेगा ख़्हयाल आके
ओह ओह ओह
आयेगा ख़्हयाल आके गुज़रता ही रहेगा
आहें कोई दिल थाम के भरता ही रहेगा
तस्कीन की सूरत कोई बतला न सकेगा
तुम पास नहीं दिल को ये बहला न सकेगा
आ आ~~~ नज़रों में समाने...

टकरायेंगे हम सर कभी दीवार से दर से
हर साँस में उबलेगा लहू ज़ख़्ह्म-ए-जिगर से
दिल ढूँधेगा
आ आ आ
दिल ढूँधेगा तड़पेगा तुम्हें पा न सकेगा
तुम पास नहीं दिल को ये बहला न सकेगा
आ आ~~~ नज़रों में समाने...




The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ