Showing posts with label abhijit sawant. Show all posts
Showing posts with label abhijit sawant. Show all posts

Wednesday, September 9, 2009

रोको आत्महत्याएँ....जगाओ आत्मविश्वास... अभिजीत सावंत और पल्लव पाण्डया की संगीतमयी पहल

दोस्तों नए फनकारों को एक मंच देने आवाज़ का परम उद्देश्य है. इसी कोशिश में आज एक कड़ी और जुड़ रही है. मिलिए संगीतकार, गायक और परामर्शदाता पल्लव पाण्डया से. दुनिया भर में प्रतिवर्ष हजारों लोग जीवन से हताश होकर अपनी जीवन लीला स्वयं समाप्त कर देते हैं और इश्वर के दिए इस अनमोल तोहफे को यूंही जाया कर देते हैं. अधिकतर मामलों में आत्महत्या लम्बे समय से चल रहे घुटन का नतीजा होती है जिसे रोका जा सकता है यदि सही समय पर उस व्यक्ति की मनोदशा को समझने वाला या सिर्फ सुनने वाला ही कोई मिल जाए. हमारे आज के कलाकार पल्लव प्रतिदिन ५ से १० व्यक्तियों में अपनी "कौन्सिलिंग" से जीवन को वापस जीने का उत्साह भरते हैं. वो इस आंकडे को और बढ़ाना चाहते हैं ताकि आत्महत्या करने वाले व्यक्तियों की तादाद घटे. अपनी इसी कोशिश को संगीत के माध्यम से अधिक से अधिक लोगों तक पहुँचाने का नेक इरादा लेकर पल्लव ने इस गीत को लिखा और संगीतबद्ध किया. इस नेक काम से जुड़े पहले इंडियन आइडल रहे अभिजीत सावंत भी जिन्होंने इस गीत को अपनी आवाज़ दी. पल्लव संगीत के असर को, उसके महत्त्व को बखूबी समझते हैं, इसीलिए आज आवाज़ के माध्यम से वो इस गीत को आप सब श्रोताओं के समक्ष रख रहे हैं.

दोस्तों जिस तरह स्वायिन फ्लू और एच आई वी जैसी महामारियों को रोकने के लिए सरकार के साथ साथ हम सब कटिबद्ध है, आत्महत्या प्रवर्ति भी जो आज के समाज में एक बड़े नासूर की तरह अपनी जड़ें फैला रही है उसे भी नियंत्रण में करने की जरुरत साफ़ नज़र आती है. पूरी दुनिया में हर ४० सेकंड में एक व्यक्ति अपने जीवन का अंत करने की कोशिश कर रहा है और उससे भी भयावह ये है कि इनमें से ६० प्रतिशत अभागे भारत चीन और जापान से हैं. हाल ही में दसवीं बोर्ड परीक्षाओं को हटा कर सरकार ने एक शानदार पहल की है. दोस्तों कल विश्व आत्महत्या रोकथाम दिवस है इस अवसर पर आईये हम सब पल्लव के इस गीत को सुनते हुए ये प्रण करें कि अपने व्यस्त रोजमर्रा के जीवन में भी हम समय निकालें किसी के मन की बात सुनने के लिए....किसी से दो बोल मीठे कहने के लिए....किसी को देख कर मुस्कुराने के लिए....हो सकता है आपकी एक छोटी सी कोशिश किसी को जीने की उम्मीद दे दे.....

पल्लव के बारे में हम आपको बता दें कि वो पिछले ३० सालों से संगीत और मानव सेवा में लगे हैं. ७ वर्षों तक आशा भोंसले के साथ काम करने का बाद इन दिनों आप सोनू निगम के साथ बतौर group leader काम कर रहे हैं. इनके काम और संगीत के बारे में अधिक जानकारी आप उनके जाल स्थल से भी प्राप्त कर सकते हैं....फिलहाल देखते और सुनते हैं इस गीत को जिसका शीर्षक है यूं कैन डू इट....

SONG : YOU CAN DO IT
WRITTEN AND COMPOSED BY :PALLAV PANDAYA
SINGERS : ABHIJIT SAWANT AND PALLAV PANDAYA

The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ