Showing posts with label win 5000. Show all posts
Showing posts with label win 5000. Show all posts

Monday, July 2, 2012

आपके नाम भी हो सकता है 5000 रुपये का इनाम, आज से ही भाग लीजिए 'सिने-पहेली' में


सिने-पहेली # 27 (2 जुलाई, 2012) 


'सिने पहेली' के सभी पाठकों को सुजॉय चटर्जी का प्यार भरा नमस्कार! दोस्तों, हमारे कुछ प्रतियोगियों ने हमें यह सूचित किया है कि 'सिने पहेली' में सोमवार से शुक्रवार तक का समय होने की वजह से उन्हें जवाब भेजने में परेशानी हो रही है क्योंकि इनमें कोई छुट्टी का दिन शामिल नहीं है, इसलिए हमें 'सिने पहेली' का दिन इस तरह से निर्धारित करना चाहिए ताकि शनिवार और रविवार जवाब भेजने वाले दिनों में शामिल हो जाए। तो दोस्तों, इसके जवाब में हम फ़िलहाल यही कहना चाहेंगे कि ऐसा कर पाना अभी मुमकिन नहीं है क्योंकि 'सिने पहेली' पोस्ट करने के लिए हमें भी छुट्टी के दिन की ज़रूरत पड़ती है। हाँ, हम इतना ज़रूर कर सकते हैं कि शुक्रवार की जगह अब आप शनिवार शाम 5 बजे तक अपना जवाब भेज सकते हैं। इस तरह से अब आपको शनिवार का पूरा दिन मिल गया जवाबों को ढूंढ कर हमें भेजने के लिए। चलिए शुरू करते हैं आज की पहेली


आज की पहेली: गान पहचान 

दोस्तों, आज बहुत दिनों बाद हम रुख़ कर रहे हैं ऑडियो की तरफ़। हमने ख़ास आपके लिए तैयार किया है एक फ़िल्मी मेडली। सुनिए इस मेडली को और पहचानिए इस मेडली में शामिल गीतों को। हर सही गीत के पहचानने पर आपको मिलेंगे 1 अंक।





*********************************************

और अब ये रहे इस प्रतियोगिता में भाग लेने के कुछ आसान से नियम....

१. जवाब भेजने के लिए आपको करना होगा एक ई-मेल cine.paheli@yahoo.com के ईमेल पते पर। 'टिप्पणी' में जवाब न कतई न लिखें, वो मान्य नहीं होंगे।

२. ईमेल के सब्जेक्ट लाइन में "Cine Paheli # 27" अवश्य लिखें, और जवाबों के नीचे अपना नाम व स्थान लिखें।

३. आपका ईमेल हमें शनिवार 7 जुलाई शाम 5 बजे तक अवश्य मिल जाने चाहिए। इसके बाद की प्रविष्टियों को शामिल कर पाना हमारे लिए संभव न होगा।

४. आप अपने जवाब एक ही ईमेल में लिखें। किसी प्रतियोगी का पहला ईमेल ही मान्य होगा। इसलिए सारे जवाब प्राप्त हो जाने के बाद ही अपना ईमेल भेजें।

है न बेहद आसान! तो अब देर किस बात की, लगाइए अपने दिमाग़ पे ज़ोर और जल्द से जल्द लिख भेजिए अपने जवाब। जैसा कि हमने शुरु में ही कहा है कि हर सप्ताह हम सही जवाब भेजने वालों के नाम घोषित किया करेंगे, और 100 एपिसोड्स (10 सेगमेण्ट्स) के बाद "महाविजेता" का नाम घोषित किया जाएगा जिन्हे दिया जाएगा 5000 रुपये का नगद इनाम। 


और अब पिछले सप्ताह पूछे गए सवालों के सही जवाब...

'सिने पहेली - 26' के सही जवाब 




१) सलेटी (GREY) - छम छमा छम, आसमान और बाज़ - तीनों फिल्मों में ओ पी नैयर का संगीत था। ये तीनों नय्यर साहब की पहली तीन फ़िल्में थीं।

२) नारंगी (ORANGE) - काला पत्थर, क़ानून और अचानक - तीनों फ़िल्मों का पार्श्व संगीत सलिल चौधरी ने तैयार किया था। तीनों फिल्मों के मुख्य पात्र पर हत्या/ अपराध का आरोप है। तीनों फ़िल्मों के लिए फ़िल्म के निर्देशक को सर्वश्रेष्ठ निर्देशक का नामांकन मिला था फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कार में।

३) लाल (RED) - "दीवाना मुझसा नहीं" जुमले वाला गीत शम्मी कपूर पर 'तीसरी मंज़िल' फ़िल्म में फ़िल्माया गया था, और आमिर ख़ान पर भी 'दीवाना मुझसा नहीं' फ़िल्म का शीर्षक गीत फ़िल्माया गया था जिसे उदित नारायण ने गाया था।

४) भूरा (BROWN) - शंकर राव, अविनाश और भरत - तीनों का पारिवारिक नाम व्यास है। 

५) गुलाबी (PINK) - सुधा मल्होत्रा, मुकेश और तलत महमूद - इन तीनों गायकों को हिन्दी फ़िल्म में प्लेबैक करने का पहला मौका संगीतकार अनिल बिस्वास ने दिया था।

६) नीला (BLUE) - कुदरत, मधुमती और नील कमल - तीनों फिल्मों की कहानी पुनर्जन्म पर आधारित है। 

७) आसमानी (SKY) - आतिफ़ असलम, ज़ेबा बख्तियार और राहत फ़तेह अली खां - तीनों पाकिस्तान से आये कलाकार हैं।

८) पीला (YELLOW) - रफू चक्कर, क़िस्मत और बाज़ी- तीनों फिल्मों के नायक स्त्री वेश में गाना गाते हैं। 

९) प्याजी (ONION)- तुम मिले, आप तो ऐसे न थे और साया - तीनों फिल्मों में एक गीत ऐसा है जिसके तीन संस्करण है - 'आप तो ऐसे न थे' में "तू इस तरह से मेरी ज़िंदगी में शामिल है" को रफ़ी, हेमलता और मनहर ने गाया है। 'तुम मिले' का शीर्षक गीत जावेद अली, नीरज श्रीधर और शफ़कत अमानत अली ने गाया है। 'साया' का "दिल चुरा लिया" गीत सोनू निगम, श्रेया घोषाल और उदित-अलका ने गाया है।

१०) हरा (GREEN) - संगम, साजन और हम दिल दे चुके सनम - तीनों फ़िल्में प्रेम-त्रिकोण की कहानी पर आधारित है और एक नायक को अपने प्यार की कुर्बानी देनी पड़ती है।

चलिए अब 'सिने पहेली # 26' के विजेयताओं के नाम ये रहे -----

'सिने पहेली - 26' के विजेता 


1. शुभ्रा शर्मा, नयी दिल्ली --- 10 अंक 
2. सलमन ख़ान, अलीगढ़ --- 10 अंक 
3. अल्पना वर्मा, अल आइन, यू.ए.ई --- 10 अंक 
4. प्रकाश गोविन्द, लखनऊ --- 10 अंक 
5. गौतम केवलिया, बीकानेर --- 10 अंक 
6. क्षिति तिवारी, इंदौर --- 10 अंक 
7. विजय कुमार व्यास, बीकानेर --- 10 अंक 
8. रीतेश खरे, मुंबई --- 10 अंक 
9. अमित चावला, दिल्ली --- 10 अंक 
10. चन्द्रकान्त दीक्षित, लखनऊ --- 5 अंक 
11. पंकज मुकेश, बेंगलुरू --- 1 अंक 

पंकज मुकेश ने हमें सूचित किया है  वो पूरा सप्ताह थे, फिर भी 'सिने पहेली' के समय-सीमा समाप्त होने से थोड़ी देर पहली जितना हो सका उतने का जवाब भेज दिया। पंकज जी, हम आपके स्पोर्ट्समैनशिप की दाद देते हैं कि इस तरह की खेल भावना से इस प्रतियोगिता में भाग ले रहे हैं। चाहे प्रतियोगिता में जीत किसी की भी हो, असली जीत उसी की होती है जो एक सच्चे खिलाड़ी की मनोभावना से प्रतियोगिता में भाग लेता है। आपके जल्द कुशलता की हम कामना करते हैं।

'सिने पहेली' प्रतियोगिता के तीसरे सेगमेण्ट में अब तक का सम्मिलित स्कोर-कार्ड यह रहा...


इस तरह से हम देखते हैं कि अब तक की लड़ाई में प्रकाश गोविंद, सलमन ख़ान और क्षिति तिवारी सबसे उपर चल रहे हैं, और उनके बिल्कुल कंधे पर सांसें डाल रहे हैं शुभ्रा शर्मा और रीतेश खरे।गौतम केवलिया, पंकज मुकेश और शरद तैलंग ने भी अच्छी लड़ाई लड़ी है अब तक। देखते हैं तीसरे सेगमेण्ट का विनर कौन बनता है। बड़ा दिलचस्प मोड़ ले चुका है यह सेगमेण्ट!

सभी प्रतियोगियों को हार्दिक बधाई। अंक सम्बंधित अगर आपको किसी तरह की कोई शिकायत हो, तो cine.paheli@yahoo.com के पते पर हमें अवश्य सूचित करें। 

'सिने पहेली' को और भी ज़्यादा मज़ेदार बनाने के लिए अगर आपके पास कोई सुझाव है तो 'सिने पहेली' के ईमेल आइडी cine.paheli@yahoo.com पर अवश्य लिखें। आप सब भाग लेते रहिए, इस प्रतियोगिता का आनन्द लेते रहिए, क्योंकि महाविजेता बनने की लड़ाई अभी बहुत लम्बी है। आज के एपिसोड से जुड़ने वाले प्रतियोगियों के लिए भी १००% सम्भावना है महाविजेता बनने का। इसलिए मन लगाकर और नियमित रूप से (बिना किसी एपिसोड को मिस किए) सुलझाते रहिए हमारी सिने-पहेली, करते रहिए यह सिने मंथन, और अनुमति दीजिए अपने इस ई-दोस्त सुजॉय चटर्जी को, आपकी और मेरी दोबारा मुलाक़ात होगी अगले सोमवार इसी स्तंभ में, नमस्कार!

Monday, June 25, 2012

5000 रुपये के इनाम पर अपना हक़ जमाइए, आज से ही...


सिने-पहेली # 26 (25 जून, 2012) 


'सिने पहेली' के सभी पाठकों को सुजॉय चटर्जी का प्यार भरा नमस्कार! दोस्तों, आज सोमवार है, यानी दो छुट्टियों के बाद फिर एक बार भाग-दौड़ भरी ज़िंदगी की शुरुआत!  अपने-अपने काम-काज में सब व्यस्त हो जायेंगे। लेकिन इस व्यस्तता में भी थोड़ा समय निकाल कर, दिमाग़ पे थोड़ा ज़ोर डाल कर हमारे इस पहेलियों के आयोजन में भाग लेकर देखिए, आपका सारा तनाव दूर हो जाएगा, मन-मस्तिष्क स्फूर्ति से भर जाएगा! 'सिने पहेली' परिवार में इस सप्ताह जो नई खिलाड़ी हमसे जुड़ी हैं, वो हैं संयुक्त अरब अमीरात से अल्पना वर्मा। आपका हार्दिक स्वागत है और निवेदन है कि हर कड़ी में हिस्सा लें। हम अपने दूसरे साथियों से भी यही दरख्वास्त कई बार कर चुके हैं कि महाविजेता बनने के लिए नियमित रूप से भाग लेना अनिवार्य है। एक एपिसोड आपका छूटा कि अन्य सभी खिलाड़ी आपसे कई अंकों से आगे निकल गए। हमारे कई पुराने साथी हैं जिनसे हम 'सिने पहेली' से दुबारा जुड़ने का अनुरोध कर रहे हैं, इनमें शामिल हैं कृतिका (दुबई), शुभम जैन (मुंबई), दयानिधि वत्स (लखनऊ), ओमकार सिंह (सिद्धार्थनगर), शिल्पि जैन (नोएडा), सागर चन्द नाहर (हैदराबाद) और इंदु पुरी गोस्वामी (चित्तौड़गढ़)

और अब आज की पहेली...

आज की पहेली: चढ़ा दे रंग

नीचे तीन गोलाकार चित्र आपको नज़र आ रहे होंगे। पहले दो चित्र के दस हिस्सों में दस अलग अलग रंग भरे गए हैं और हर हिस्से में कुछ लिखा हुआ है। पहले दो चित्रों को ध्यान से देख-परख कर आपको यह तय करना है कि तीसरे चित्र के कौन से हिस्से में कौन सा रंग चढ़ना चाहिए। अर्थात हर हिस्से में आपको चढ़ाने होंगे सही रंग। साथ ही आपको बताना होगा कि फ़लाना रंग फ़लाने हिस्से में आपने क्यों चढ़ाया? आज की पहेली के दस रंगों के लिए आपको मिल सकते हैं दस अंक। रंगों के नाम आप अंग्रेज़ी में भी लिख सकते हैं। तो चलिए शुरू करते हैं खेल...






*********************************************

और अब ये रहे इस प्रतियोगिता में भाग लेने के कुछ आसान से नियम....

प्रतियोगिता के नियम


१. जवाब भेजने के लिए आपको करना होगा एक ई-मेल cine.paheli@yahoo.com के ईमेल पते पर। 'टिप्पणी' में जवाब न कतई न लिखें, वो मान्य नहीं होंगे।

२. ईमेल के सब्जेक्ट लाइन में "Cine Paheli # 26" अवश्य लिखें, और जवाबों के नीचे अपना नाम व स्थान लिखें।

३. आपका ईमेल हमें शुक्रवार 29 जून तक मिल जाने चाहिए।

४. आप अपने जवाब एक ही ईमेल में लिखें। किसी प्रतियोगी का पहला ईमेल ही मान्य होगा। इसलिए सारे जवाब प्राप्त हो जाने के बाद ही अपना ईमेल भेजें।

है न बेहद आसान! तो अब देर किस बात की, लगाइए अपने दिमाग़ पे ज़ोर और जल्द से जल्द लिख भेजिए अपने जवाब। जैसा कि हमने शुरु में ही कहा है कि हर सप्ताह हम सही जवाब भेजने वालों के नाम घोषित किया करेंगे, और सौ-वे अंक के बाद "महाविजेता" का नाम घोषित किया जाएगा। 


और अब पिछले सप्ताह पूछे गए सवालों के सही जवाब...

'सिने पहेली - 25' के सही जवाब


पायदान पहेली का हल यह रहा...




इसके अलावा चार और सवालों के सही जवाब ये रहे...

  • फ़िल्म 'अर्थ' के संगीतकार हैं जगजीत सिंह व चित्रा सिंह
  • 'शोरी' उपाधि के दो फ़िल्मकार हैं - रूप के. शोरी और सत्ती शोरी
  • फ़िल्म 'प्रेम' की नायिका हैं तब्बु
  • फ़िल्म 'सर' के निर्देशक हैं महेश भट्ट
'सिने पहेली - 25' में हमने एक चित्र दिखा कर आपसे पूछा था कि इस चित्र को आप किस फ़िल्मी गीत के मुखड़े से व्याख्या कर सकते हैं। 




इसके प्रश्न के जवाब में हमें प्रतिभागियों ने जो जो गीत सुझाए, आइए उन पर एक नज़र डालते हैं...

  • हरी भरी वसुंधरा पे नीला नीला ये गगन (बूंद जो बन गए मोती)
  • जीवन के दो पहलु हैं हरियाली और रास्ता (हरियाली और रास्ता)
  • ये हरियाली और ये रास्ता (हरियाली और रास्ता)
  • राह बनी ख़ुद मंज़िल, पीछे रह गई मुश्किल (कोहरा)
  • धरती से दूर गोरे बादलों के पार आजा (संगदिल)
  • मैं तो चला जिधर चले रस्ता (धड़कन)
  • इक रास्ता है ज़िंदगी, जो थम गए तो कुछ नहीं (काला पत्थर)
  • नीले गगन के तले धरती का प्यार पले (हमराज़)
  • सुहाना सफ़र और ये मौसम हसीं (मधुमती)
  • क्या मौसम है... चल कहीं दूर निकल जाएँ (दूसरा आदमी)
क्योंकि इस सवाल से थोड़ा बहुत विवाद खड़ा हो गया था, इसलिए हम यह नहीं बतायेंगे कि किस प्रतियोगी ने कौन सा गीत सुझाया है।

'सिने पहेली # 25' के विजेताओं के नाम ये रहे -----

'सिने पहेली - 25' के विजेता


1. शुभ्रा शर्मा, नयी दिल्ली --- 12 अंक

2. गौतम केवलिया, बीकानेर --- 12 अंक

3. अवध लाल, लखनऊ --- 12 अंक

4. सलमन ख़ान, अलीगढ़ --- 12 अंक

5. विजय कुमार व्यास, बीकानेर --- 12 अंक

6. क्षिति तिवारी, इंदौर --- 12 अंक

7. राजेश प्रिया, पटना --- 12 अंक

8. प्रकाश गोविन्द, लखनऊ --- 12 अंक

9. रीतेश खरे, मुंबई --- 12 अंक

10. चन्द्रकान्त दीक्षित, लखनऊ --- 12 अंक

11. अल्पना वर्मा, अल आइन, यू.ए.ई --- 11 अंक

12. शरद तैलंग, कोटा --- 11 अंक

13. पंकज मुकेश, बेंगलुरू --- 11 अंक


सभी विजेताओं को हार्दिक बधाई। अंक सम्बंधित अगर आपको किसी तरह की कोई शिकायत हो, तो cine.paheli@yahoo.com के पते पर हमें अवश्य सूचित करें। 

ग़लती सुधार

'सिने पहेली - 24' में हमने फ़िल्म 'राम तेरी गंगा मैली' का शीर्षक सांकेतिक भाषा में पिरो कर आप से फ़िल्म का नाम पहचानने को कहा था। और सूत्र के रूप में यह कहा था कि यह राज कपूर निर्मित व निर्देशित फ़िल्म है। हमारे नियमित प्रतियोगी पंकज मुकेश जी ने हमें यह सूचित किया है कि 'राम तेरी गंगा मैली' फ़िल्म का निर्माण राज कपूर ने नहीं बल्कि रणधीर कपूर ने किया था। इस ग़लती के लिए हम क्षमा चाहते हैं, और यह सूचित करते हैं कि पंकज मुकेश सहित जिन-जिन खिलाड़ियों ने इस प्रश्न को अटेम्प्ट किया पर सही जवाब न दे सके, उन्हें हम 1 अंक प्रदान कर रहे हैं।

'सिने पहेली' को और भी ज़्यादा मज़ेदार बनाने के लिए अगर आपके पास कोई सुझाव है तो 'सिने पहेली' के ईमेल आइडी cine.paheli@yahoo.com पर अवश्य लिखें। आप सब भाग लेते रहिए, इस प्रतियोगिता का आनन्द लेते रहिए, क्योंकि महाविजेता बनने की लड़ाई अभी बहुत लम्बी है। आज के एपिसोड से जुड़ने वाले प्रतियोगियों के लिए भी १००% सम्भावना है महाविजेता बनने का। इसलिए मन लगाकर और नियमित रूप से (बिना किसी एपिसोड को मिस किए) सुलझाते रहिए हमारी सिने-पहेली, करते रहिए यह सिने मंथन, और अनुमति दीजिए अपने इस ई-दोस्त सुजॉय चटर्जी को, आपकी और मेरी दोबारा मुलाक़ात होगी अगले सोमवार इसी स्तंभ में, नमस्कार!

Monday, June 18, 2012

सिने पहेली # 25 कुछ आसानियाँ कुछ दुश्वारियाँ


सिने-पहेली # 25 (18 जून, 2012) 


नमस्कार! 'सिने पहेली' के सफ़र को तय करते हुए हम सब आज आ पहुँचे हैं इस प्रतियोगिता के रूपक जयन्ती एपिसोड पर। जी हाँ, आज है 'सिने पहेली' की २५-वीं कड़ी, और इस सफ़र के इस मुकाम तक पहुँचने में हमारे हमसफ़र बने रहने के लिए मैं, सुजॉय चटर्जी, आप सभी प्रतियोगियों को हार्दिक धन्यवाद देता हूँ और आपसे आशा रखता हूँ कि आगे भी इसी तरह का साथ बना रहेगा। 'सिने पहेली' को और भी ज़्यादा मज़ेदार बनाने के लिए अगर आपके पास कोई सुझाव है तो 'सिने पहेली' के ईमेल आइडी cine.paheli@yahoo.com पर अवश्य लिखें। 

और अब पिछले सप्ताह 'सिने पहेली' परिवार से जुड़ने वाले नए साथियों का स्वागत करना चाहेंगे। आप हैं लखनऊ के चन्द्रकान्त दीक्षित, सिद्धार्थ नगर, यू.पी के ओमकार सिंह, और बीकानेर, राजस्थान के विजय कुमार व्यास। आप सभी का बहुत बहुत स्वागत है इस प्रतियोगिता में। आपसे निवेदन है कि हर सप्ताह इस प्रतियोगिता में हिस्सा लें और महाविजेता बन कर 5000 रुपये का नकद इनाम अपने नाम कर लें। महाविजेता बनने के लिए क्या नियम हैं, आइए उस बारे में आपको बताएँ। 'सिने पहेली' को १० सेगमेण्ट्स में बाँटा गया है। हर सेहमेण्ट होता है १० एपिसोड्स का। इन दिनों तीसरा सेगमेण्ट चल रहा है। हर सेगमेण्ट का एक विजेयता घोषित होता। पहले दोनों सेगमेण्ट्स के विजेता बने हैं लखनऊ के प्रकाश गोविंद। १० सेगमेण्ट्स के समाप्त होने पर जो प्रतियोगी सर्वाधिक सेगमेण्ट विजेता बना होगा, वही होगा महाविजेता और उन्हीं को मिलेगा 5000 रुपये का इनाम। अभी भी कुछ देर नहीं हुई है, आज से ही जुट जाइए इस प्रतियोगिता में, आनन्द लीजिए इस खेल का, और खेल ही खेल में कर लीजिए इनाम अपने नाम।

और अब आज की पहेलियाँ। नीचे दिए गए पायदान पहेली को सुलझाते हुए नीचे से उपर तक पहुँचना है। 




1. (बायें से दायें): 80 के दशक की एक अभिनेत्री। इसी नाम से आज के दौर में भी एक अभिनेत्री हैं जिनके पिता भी अभिनेता हैं।

2. (उपर से नीचे): शर्मीला टैगोर की एक फ़िल्म का शीर्षक। इस शीर्षक को अगर दो भागों में बाँटा जाये तो दो फ़िल्मों के शीर्षक बन सकते हैं।

3. (उपर से नीचे): एक अभिनेत्री जिनका असली नाम सरोज था। इन्होंने १९३५ में फ़िल्मों में बतौर अभिनेत्री काम करना शुरू किया। आगे चलकर इन्होंने फ़िल्म निर्माण व निर्देशन भी किया।

4. (उपर से नीचे): यह उस फ़िल्म का शीर्षक है जिसमें नीरज का लिखा एक गीत उस शब्द से शुरू होता है जो एक अन्य ऐसे फ़िल्म का शीर्षक है जिसमें जैकी श्रोफ़ सह-नायक हैं।

5. (उपर से नीचे): इसी फ़िल्म से इसकी अभिनेत्री ने हिन्दी फ़िल्म जगत में कदम रखा। इस फ़िल्म के संगीतकार को उस साल के सर्वश्रेष्ठ संगीतकार का फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कार मिला। यह फ़िल्म एक तेलुगू हिट फ़िल्म का रीमेक था।

6. (उपर से नीचे): एक गायक का गायक पुत्र

6. (बायें से दायें): सनी देओल अभिनीत एक फ़िल्म

उपर दिए गए 7 सवालों के लिए आपको मिलेंगे 7 अंक। लेकिन यहीं पर सवाल समाप्त नहीं हो जाते। कुछ और सवाल ये रहे...

2. (बायें से दायें): अगर आपने उपर वर्ग पहेली के 2 और 3 का जवाब दिया है, तो आपको यह शब्द पता ही होगा। यह शब्द एक फ़िल्म का शीर्षक है, बताइए इस फ़िल्म के संगीतकार का नाम।

3. (बायें से दायें):  अगर आपने उपर वर्ग पहेली के 3 और 4 का जवाब दिया है, तो आपको यह शब्द पता ही होगा। यह शब्द एक फ़िल्मकार की उपाधि है। बताइए उस फ़िल्मकार का नाम।

4. (बायें से दायें): अगर आपने उपर वर्ग पहेली के 4 और 5 का जवाब दिया है, तो आपको यह शब्द पता ही होगा। यह शब्द एक फ़िल्म का शीर्षक है, बताइए इस फ़िल्म की नायिका का नाम।

5. (बायें से दायें): अगर आपने उपर वर्ग पहेली के 5 और 6 का जवाब दिया है, तो आपको यह शब्द पता ही होगा। यह शब्द एक फ़िल्म का शीर्षक है, बताइए इस फ़िल्म के निर्देशक का नाम।

तो दोस्तों, इस तरह से आपके लिए कुल 7+4 = 11 अंकों के सवाल हमने पूछ लिए। लेकिन यहीं पर आज की पहेलियाँ समाप्त नहीं होती। चलिए एक और सवाल पूछ लेते हैं। नीचे दिखाये गए चित्र को ध्यान से देखिए। आपको इस चित्र को एक शीर्षक देनी है, और वह भी किसी हिन्दी फ़िल्मी गीत का मुखड़ा। ज़रा सोचिए और बताइए कि कौन सा गीत इस चित्र के लिए सबसे ज़्यादा सार्थक है। आपके जवाब अलग-अलग हो सकते हैं। अगर आप अपने जवाब को सार्थक सिद्ध कर सके तो आपको 1 अंक दिए जायेंगे।




इस तरह से 12 अंकों के सवाल हमने पूछ लिए।

*********************************************

और अब ये रहे इस प्रतियोगिता में भाग लेने के कुछ आसान से नियम....

१. जवाब भेजने के लिए आपको करना होगा एक ई-मेल cine.paheli@yahoo.com के ईमेल पते पर। 'टिप्पणी' में जवाब न कतई न लिखें, वो मान्य नहीं होंगे।

२. ईमेल के सब्जेक्ट लाइन में "Cine Paheli # 25" अवश्य लिखें, और जवाबों के नीचे अपना नाम व स्थान लिखें।

३. आपका ईमेल हमें शुक्रवार 22 जून तक मिल जाने चाहिए।

४. आप अपने जवाब एक ही ईमेल में लिखें। किसी प्रतियोगी का पहला ईमेल ही मान्य होगा। इसलिए सारे जवाब प्राप्त हो जाने के बाद ही अपना ईमेल भेजें।

है न बेहद आसान! तो अब देर किस बात की, लगाइए अपने दिमाग़ पे ज़ोर और जल्द से जल्द लिख भेजिए अपने जवाब। जैसा कि हमने शुरु में ही कहा है कि हर सप्ताह हम सही जवाब भेजने वालों के नाम घोषित किया करेंगे, और पचासवे अंक के बाद "महाविजेता" का नाम घोषित किया जाएगा। 

******************************************

और अब 11 जून को पूछे गए 'सिने-पहेली # 24' के सवालों के जवाब ये रहे...


1. वह कौन सी चीज़ है जो मन में है, दिल में है, पर धड़कन में नहीं। सही जवाब है आमिर ख़ान। कुछ लोगों ने इसके जवाब में "प्रेम" या "ईर्श्या" भी लिखा है। पर क्योंकि यह सिने पहेली है, इसलिए ज़ाहिर है कि जवाब भी सिनेमा से जुड़े हुए ही होंगे।

2. दिखाये गए चित्र में और फ़िल्म 'बीवी हो तो ऐसी', दोनों में बिन्दु और रेखा हैं।

3. राज कपूर निर्मित यह फ़िल्म है 'राम तेरी गंगा मैली'। कोडिंग्‍ स्कीम: R की जगह S, A की जगह B, M की जगह N..... इस तरह से हर अक्षर के लिए उसके बाद का जो अक्षर है उसका इस्तमाल किया गया है। इस तरह से RAM TERI GANGA MAILI बन गया है SBN UFSJ HBOHB NBJMJ

4. जुगल हंसराज और इमरान ख़ान

5. संजय कपूर

और अब 'सिने पहेली # 24' के विजेताओं के नाम ये रहे -----

1. शरद तैलंग, कोटा --- 5 अंक
2. प्रकाश गोविन्द, लखनऊ --- 5 अंक
3. गौतम केवलिया, बीकानेर --- 5 अंक
4. चन्द्रकान्त दीक्षित, लखनऊ --- 5 अंक
5. रीतेश खरे, मुंबई --- 5 अंक
6. विजय कुमार व्यास, बीकानेर --- 5 अंक
7. सलमन ख़ान, अलीगढ़ --- 5 अंक
8. राजेश प्रिया, पटना --- 5 अंक
9. क्षिति तिवारी, इंदौर --- 5 अंक
10. अमित चावला, दिल्ली --- 4 अंक
11. सुमित चक्रवर्ती, चण्डीगढ़ --- 4 अंक
12. अवध लाल, लखनऊ --- 4 अंक
13. शुभ्रा शर्मा, नयी दिल्ली --- 4 अंक
14. शिल्पि जैन, नोएडा --- 4 अंक
15. पंकज मुकेश, बेंगलुरू --- 4 अंक
16. सागर चंद नाहर, हैदराबाद -- 4 अंक
17. निशान्त अहलावत, गुड़गाँव --- 3 अंक
18. ओमकार सिंह, सिद्धार्थनगर, यू.पी --- 2 अंक

सभी विजेताओं को हार्दिक बधाई। अंक सम्बंधित अगर आपको किसी तरह की कोई शिकायत हो, तो cine.paheli@yahoo.com के पते पर हमें अवश्य सूचित करें। आप सब भाग लेते रहिए, इस प्रतियोगिता का आनन्द लेते रहिए, क्योंकि महाविजेता बनने की लड़ाई अभी बहुत लम्बी है। आज के एपिसोड से जुड़ने वाले प्रतियोगियों के लिए भी १००% सम्भावना है महाविजेता बने। इसलिए मन लगाकर और नियमित रूप से (बिना किसी एपिसोड को मिस किए) सुलझाते रहिए हमारी सिने-पहेली, करते रहिए यह सिने मंथन, और अनुमति दीजिए अपने इस ई-दोस्त सुजॉय चटर्जी को, आपकी और मेरी दोबारा मुलाक़ात होगी अगले सोमवार इसी स्तंभ में, नमस्कार!

Monday, June 11, 2012

सिने-पहेली # 24 (जीतिये 5000 रुपये के इनाम)


सिने-पहेली # 24 (11 जून, 2012) 


'सिने पहेली' की एक और कड़ी के साथ मैं, सुजॉय चटर्जी, हाज़िर हूँ, नमस्कार! दोस्तों, आपको याद होगा पिछले सप्ताह चिलचिलाती गरमी में थोड़ी ठंडक का अहसास करवाने के लिए 'सिने पहेली' में हमने आपसे पूछे थे बारिश के गीतों के दृश्यों पर आधारित कुछ सवाल। अब इत्तेफ़ाक़ देखिये कि इधर सोमवार को 'सिने पहेली' पोस्ट हुई और मंगलवार को ही यहाँ चण्डीगढ़ में बारिश हो गई। पारा ४४ से ३८ पर उतर आया और लोगों को गरमी से कुछ राहत मिल गई। यह तो थी इत्तेफ़ाक़ की बात, पर आप सब जो पहेलियों के जवाब लिख भेजते हैं, उसमें कोई इत्तेफ़ाक़ नहीं, उसमें है आपका ज्ञान, आपकी समझदारी और सूझ-बूझ। इसी तरह की सूझ-बूझ के साथ खेलते रहिए 'सिने पहेली' और कोशिश कीजिए महाविजेता बनने की। पिछले सप्ताह 'सिने पहेली' परिवार से जुड़े हैं भोपाल के भगत सिंह पंथी। आपका स्वागत है और निवेदन करते हैं कि हर कड़ी में नियमित रूप से भाग लें। हमारे कई प्रतियोगी एक-आध अंकों में भाग लेने के बाद चुप्पी साध ली है जिनमें शुभम जैन, कृतिका, दयानिधि वत्स, इंदु पुरी गोस्वामी शामिल हैं। आप सब से हमारा अनुरोध है कि इस प्रतियोगिता में नियमित रूप से भाग लेकर अन्य प्रतियोगियों को कड़ी चुनौती दें, और इस खेल को और भी ज़्यादा म्ज़ेदार बनायें।

चलिए अब बारी आज के सवालों की। आज हम आपको पूछने जा रहे हैं पाँच पहेलियाँ।

पहेली-1: 

वह कौन सी चीज़ है जो मन में है, दिल में है, पर धड़कन में नहीं?

पहेली-2:

नीचे दिये हुए चित्र को ध्यान से देखिये और बताइए कि इस चित्र में और फ़िल्म 'बीवी हो तो ऐसी' में क्या समानता है?















पहेली-3:

नीचे राज कपूर निर्मित एक फ़िल्म का शीर्षक रोमन में दिया गया है पर सांकेतिक भाषा में। आपको पहचानना है फ़िल्म का नाम और बताना है सांकेतिक भाषा का coding scheme.

SBN UFSJ HBOHB NBJMJ

पहेली-4:

नीचे दिखाये चित्र में दो अभिनेताओं के चेहरे दिये गये हैं, पर आधे-आधे। क्या आप इन दो अभिनेताओं को पहचान सकते हैं? पर याद रहे दोनों जवाब सही होने पर ही अंक दिये जायेंगे।




पहेली-5:

राजा हूँ पर राजा हिंदुस्तानी नहीं। जूली की मोहब्बत में मेरा दिल बेकाबू हो गया, पर मैंने अपने कर्तव्य को नहीं भूला। मेरे सपनों की रानी के लिए मैंने औज़ार भी उठाया। मेरा ज़मीर मुझसे यही कहता रहा कि डरना मना है। तो फिर सोच और बता कि मैं कौन हूँ?

*********************************************

और अब ये रहे इस प्रतियोगिता में भाग लेने के कुछ आसान से नियम....

१. जवाब भेजने के लिए आपको करना होगा एक ई-मेल cine.paheli@yahoo.com के ईमेल पते पर। 'टिप्पणी' में जवाब न कतई न लिखें, वो मान्य नहीं होंगे।

२. ईमेल के सब्जेक्ट लाइन में "Cine Paheli # 24" अवश्य लिखें, और जवाबों के नीचे अपना नाम व स्थान लिखें।

३. आपका ईमेल हमें शुक्रवार 15 जून तक मिल जाने चाहिए।

४. आप अपने जवाब एक ही ईमेल में लिखें। किसी प्रतियोगी का पहला ईमेल ही मान्य होगा। इसलिए सारे जवाब प्राप्त हो जाने के बाद ही अपना ईमेल भेजें।

है न बेहद आसान! तो अब देर किस बात की, लगाइए अपने दिमाग़ पे ज़ोर और जल्द से जल्द लिख भेजिए अपने जवाब। जैसा कि हमने शुरु में ही कहा है कि हर सप्ताह हम सही जवाब भेजने वालों के नाम घोषित किया करेंगे, और पचासवे अंक के बाद "महाविजेता" का नाम घोषित किया जाएगा। 

******************************************

और अब 28 मई को पूछे गए 'सिने-पहेली # 23' के सवालों के जवाब ये रहे...

1. प्यार हुआ इकरार हुआ (श्री ४२०)
2. रिमझिम के तराने लेके आयी बरसात (काला बाज़ार)
3. सोना करे झिलमिल झिलमिल (पहेली)
4. आज रपट जायें तो हमें न उठैयो (नमक हलाल)
5. पर्वत से काली घटा टकराई (चाँदनी)
6. ओ सैयाँ (अग्नीपथ)


और अब 'सिने पहेली # 23' के विजेताओं के नाम ये रहे -----


1. शुभ्रा शर्मा, नयी दिल्ली --- 6 अंक
2. प्रकाश गोविन्द, लखनऊ --- 6 अंक
3. भगत सिंह पंथी, भोपाल --- 6 अंक
4. क्षिति तिवारी, इंदौर --- 6 अंक
5. पंकज मुकेश, बेंगलुरू --- 6 अंक
6. सलमन ख़ान, अलीगढ़ --- 6 अंक
7. राजेश प्रिया, पटना --- 6 अंक
8. शरद तैलंग, कोटा --- 6 अंक
9. रीतेश खरे, मुंबई --- 5 अंक
10. सागर चंद नाहर, हैदराबाद -- 5 अंक
11. गौतम केवलिया, बीकानेर --- 4 अंक
12. अमित चावला, दिल्ली --- 4 अंक

सभी विजेताओं को हार्दिक बधाई। अंक सम्बंधित अगर आपको किसी तरह की कोई शिकायत हो, तो cine.paheli@yahoo.com के पते पर हमें अवश्य सूचित करें। आप सब भाग लेते रहिए, इस प्रतियोगिता का आनन्द लेते रहिए, क्योंकि महाविजेता बनने की लड़ाई अभी बहुत लम्बी है। आज के एपिसोड से जुड़ने वाले प्रतियोगियों के लिए भी १००% सम्भावना है महाविजेता बने। इसलिए मन लगाकर और नियमित रूप से (बिना किसी एपिसोड को मिस किए) सुलझाते रहिए हमारी सिने-पहेली, करते रहिए यह सिने मंथन, और अनुमति दीजिए अपने इस ई-दोस्त सुजॉय चटर्जी को, आपकी और मेरी दोबारा मुलाक़ात होगी अगले सोमवार इसी स्तंभ में, नमस्कार!

Monday, June 4, 2012

सिने-पहेली # 23 (जीतिये 5000 रुपये के इनाम)


सिने-पहेली # 23 (4 जून, 2012) 


नमस्कार दोस्तों, मैं, सुजॉय चटर्जी, आपका ई-दोस्त, हाज़िर हूँ 'सिने पहेली' की एक और कड़ी के साथ। पिछले सप्ताह हमारी वर्ग पहेली का कॉनसेप्ट आप सभी को भाया, यह देख कर हमें भी बहुत अच्छा लगा। आप सब ने जवाबों के साथ-साथ हमारे इस प्रयास की सराहना की, इसके लिए आप सभी का बहुत बहुत शुक्रिया। हमारे नियमित प्रतियोगी प्रकाश गोविंद का कहना है, "आपकी पहेलियाँ इतनी भी आसान नहीं है। 'for a change' वर्ग पहेली का कॉनसेप्ट बहुत अच्छा ही है। मुझे तो बहुत ख़ुशी है कि आप पहेली प्रोग्राम में लगातार वरायटी ला रहे हैं। अगर अधिकतर लोगों के जवाब सही हैं तो वर्ग पहेली को हल्का सा कठिन बनाने के अलावा दूसरा रास्ता ही क्या है! आपको थोड़ी और मेहनत करनी होगी.... बाकी हम लोग तो हैं ही मेहनती :) पहले आपने जो पैटर्ण रखा था वो भी अच्छा था, आप उसमें भी एक सवाल बढा सकते हैं। बहरहाल मेरे लिए सब अच्छा है और मुझे आप लोगों का यह पहेली कार्यक्रम पसंद है। आप जैसा भी कॉनसेप्ट रखेंगे, मैं स्वागत करूंगा"। उधर लखनऊ के ही अवध लाल जी का कहना है - "इस बार आपका कुछ नया प्रयोग दिलचस्प लग रहा है। वर्ग पहेलियों को हल करने में मेरी हमेशा से रुचि रही है। वैसे यह देख कर भी बहुत अच्छा प्रतीत हो रहा है कि हमारे शहर के कई लोग अग्रणी चल रहे हैं"। मुंबई के रीतेश खरे का कहना है, "इस बार तो सिने पहेली ने कमाल ही कर दिया...वर्ग पहेली के रूप में पेश कर के कुछ मूड बदला;) इस मज़ेदारी के लिए आभारी सारी टीम के!" आप सभी को हमारा धन्यवाद, बस इतना ही कह सकते हैं। इस सप्ताह एक नई प्रतियोगी 'सिने पहेली' से जुड़ी हैं - नोएडा की शिल्पि जैन। स्वागत है आपका, और हम आशा करते हैं कि अब से आप लगातार इस प्रतियोगिता में भाग लेकर अन्य प्रतियोगियों के लिए कड़ी चुनौती पेश करेंगी।

दोस्तों, आजकल समूचे देश में भीषण गरमी का प्रकोप जारी है। ख़ास कर उत्तर और पश्चिम भारत में भयानक गरमी से जीव-जगत का बुरा हाल हो रखा है। ऐसे में हर किसी की आँखें आसमान पर हैं कि न जाने कब काले बादल छायेंगे और अपनी बौछारों से इस तपती धरा को ठंडक प्रदान करेंगे। इसलिए 'सिने पहेली' की आज की कड़ी के लिए भी हमने सोचा कि क्यों न अपने अंदर थोड़ी सी ठंडक महसूस करने के लिए सवाल भी ऐसे पूछे जायें जिनमें बारिश का ज़िक्र है। तो दोस्तों, आज हम आपको कुल 6 सवाल पूछने जा रहे हैं और ये सभी चित्र पहेली हैं। आपको 6 ऐसे गीतों के दृश्य दिखाए जायेंगे जो बारिश में फ़िल्माये गए हैं। आपको इन गीतों को पहचानना है। इस तरह से आप इस कड़ी में सर्वोच्च 6 अंक अर्जित कर सकते हैं। तो ये रहे आज के सवाल...

1. चित्र देख कर बताइए कि यह किस गीत का सीन है?





2. चित्र देख कर बताइए कि यह किस गीत का सीन है?



3. चित्र देख कर बताइए कि यह किस गीत का सीन है? आपकी सहूलियत के लिए हम गीत के तीन चित्र दिखा रहे हैं। एक और सूत्र देते हैं। यह फ़िल्म तो उतनी नहीं चली, पर यह गीत यादगार ज़रूर बना।





4. चित्र देख कर बताइए कि यह किस गीत का सीन है?



5. चित्र देख कर बताइए कि यह किस गीत का सीन है? आपकी सहूलियत के लिए हम गीत के दो चित्र दिखा रहे हैं। एक और सूत्र: इसी फ़िल्म में इस गीत के अलावा भी एक और गीत है जो बारिश से संबध रखता है, पर उस गीत में नायक-नायिका कोई और हैं।





6. चित्र देख कर बताइए कि यह किस गीत का सीन है?




*********************************************

और अब ये रहे इस प्रतियोगिता में भाग लेने के कुछ आसान से नियम....

१. जवाब भेजने के लिए आपको करना होगा एक ई-मेल cine.paheli@yahoo.com के ईमेल पते पर। 'टिप्पणी' में जवाब न कतई न लिखें, वो मान्य नहीं होंगे।

२. ईमेल के सब्जेक्ट लाइन में "Cine Paheli # 23" अवश्य लिखें, और जवाबों के नीचे अपना नाम व स्थान लिखें।

३. आपका ईमेल हमें शुक्रवार 8 जून तक मिल जाने चाहिए।

४. आप अपने जवाब एक ही ईमेल में लिखें। किसी प्रतियोगी का पहला ईमेल ही मान्य होगा। इसलिए सारे जवाब प्राप्त हो जाने के बाद ही अपना ईमेल भेजें।

है न बेहद आसान! तो अब देर किस बात की, लगाइए अपने दिमाग़ पे ज़ोर और जल्द से जल्द लिख भेजिए अपने जवाब। जैसा कि हमने शुरु में ही कहा है कि हर सप्ताह हम सही जवाब भेजने वालों के नाम घोषित किया करेंगे, और पचासवे अंक के बाद "महाविजेता" का नाम घोषित किया जाएगा। 

******************************************

और अब 28 मई को पूछे गए 'सिने-पहेली # 22' के वर्ग पहेली का हल यह रहा...




और अब 'सिने पहेली # 22' के विजेताओं के नाम ये रहे -----

1. प्रकाश गोविन्द, लखनऊ --- 24 अंक
2. शुभ्रा शर्मा, नयी दिल्ली --- 24 अंक
3. अमित चावला, दिल्ली --- 24 अंक
4. अवध लाल, लखनऊ --- 24 अंक
5. क्षिति तिवारी, इंदौर --- 24 अंक
6. शरद तैलंग, कोटा --- 24 अंक
7. रीतेश खरे, मुंबई --- 24 अंक
8. सागर चंद नाहर, हैदराबाद -- 24 अंक
9. गौतम केवलिया, बीकानेर --- 24 अंक
10. पंकज मुकेश, बेंगलुरू --- 24 अंक
11. सलमन ख़ान, अलीगढ़ --- 24 अंक
12. शिल्पि जैन, नोएडा --- 24 अंक
13. निशंत अहलावत, गुड़गाँव --- 24 अंक


सभी विजेताओं को हार्दिक बधाई। अंक सम्बंधित अगर आपको किसी तरह की कोई शिकायत हो, तो cine.paheli@yahoo.com के पते पर हमें अवश्य सूचित करें। आप सब भाग लेते रहिए, इस प्रतियोगिता का आनन्द लेते रहिए, क्योंकि महाविजेता बनने की लड़ाई अभी बहुत लम्बी है। आज के एपिसोड से जुड़ने वाले प्रतियोगियों के लिए भी १००% सम्भावना है महाविजेता बनने की। इसलिए मन लगाकर और नियमित रूप से (बिना किसी एपिसोड को मिस किए) सुलझाते रहिए हमारी सिने-पहेली, करते रहिए यह सिने मंथन, और अनुमति दीजिए अपने इस ई-दोस्त सुजॉय चटर्जी को, नमस्कार!

Monday, May 28, 2012

सिने-पहेली # 22 (जीतिये 5000 रुपये के इनाम)


सिने-पहेली # 22 (28 मई, 2012) 


नमस्कार दोस्तों, 'सिने पहेली' की २२-वीं कड़ी लेकर मैं, सुजॉय चटर्जी, हाज़िर हूँ। जीवन में बहुत अधिक व्यस्तता की वजह से पिछले दिनों मैं आप सब से दूर रहा, 'एक गीत सौ कहानियाँ' स्तंभ भी प्रस्तुत नहीं कर पाया, जिसका मुझे बहुत अफ़सोस है। आशा करता हूँ कि जून के महीने से फिर सक्रीय हो जाऊँगा। मैं कृष्णमोहन मिश्र जी का आभारी हूँ कि समय-समय पर उनके सहयोग की वजह से 'सिने पहेली' में कभी रुकावट नहीं आई। पिछले सप्ताह 'सिने पहेली' में हमारे साथ दो नए प्रतियोगी जुड़े हैं - एक हैं न्यू जर्सी, यू.एस.ए से आनन्द अकेला और दूसरे हैं हैदराबाद से सागर चन्द नाहर। आप दोनों का बहुत बहुत स्वागत है और आपको यह सुझाव देना चाहूंगा कि अगर महाविजेता बनने का आप सपना देखते हैं तो बिना कोई एपिसोड मिस किए इस प्रतियोगिता में भाग लेते रहिए, आप ज़रूर बन सकते हैं महाविजेता।

दोस्तों, आज 'सिने पहेली' में मैं आपके लिए एक नई चुनौती लेकर आया हूँ। पाँच सवालों का सिलसिला तो बहुत हो गया, क्यों न आज की कड़ी में कुछ अलग हट के किया जाए। वर्ग पहेली के बारे में क्या ख़याल है? जी हाँ, आज मैं आपके लिए एक फ़िल्मी वर्ग पहेली लेकर आया हूँ। मुझे उम्मीद है कि इसका भी आप भरपूर आनद लेंगे। ये रही आज की वर्ग पहेली। 





आज की पहेली में आप पाँच नहीं, दस नहीं, बल्कि पूरे 24 अंक आप कमा सकते हैं। इस वर्ग पहेली के सूत्र ये रहे...

ऊपर से नीचे:


1. महबूब, महबूबा, प्रेमी, प्रेमिका के लिए प्रयोग में लाया जाने वाला शब्द जिसका फ़िल्मी गीतों में अक्सर प्रयोग हुआ है। इस शीर्षक से ९० के दशक में फ़िल्म भी बनी थी।

2. पाँव का पर्यायवाची शब्द, जिसका प्रयोग बप्पी लाहिड़ी स्वरबद्ध एक गीत के मुखड़े में हुआ है और इस मुखड़े की पहली पंक्ति एक मीरा भजन से ली गई है।

3. अमोल पालेकर, उत्पल दत्त अभिनीत एक हास्य फ़िल्म जिसमें सुषमा श्रेष्ठ ने एक गीत गाया था।

4. लता-शब्बीर के गाये एक बारिश वाले गीत के मुखड़े का तीसरा शब्द।

5. यूं तो यह शराब, भंग, अफ़ीम से होता है, पर कभी-कभी प्यार से भी हो जाता है; आमिर ख़ान पर फ़िल्माये एक मशहूर गीत के मुखड़े का पहला शब्द।

8. इस शीर्षक से कम से कम दो फ़िल्में बनी हैं। ५० के दशक की फ़िल्म में लता-हेमन्त का गाया एक गीत है जो "गगन" शब्द से शुरू होता है।

10. कुमार सानू और अलकाअ याज्ञ्निक का गाया तथा शाहरुख़ ख़ान व काजोल पर फ़िल्माया एक गीत के मुखड़े का पहला शब्द। गीत में बहुत से बच्चे भी दिखते हैं।

11. जसपाल सिंह के गाये एक गीत के मुखड़े का पहला शब्द; इसी शीर्षक से एक फ़िल्म भी है जिसमें लता-रफ़ी का गाया एक युगल गीत है जिसमें भीगे मौसम का ज़िक्र है।

12. अमिताब बच्चन अभिनीत एक "मशहूर" फ़िल्म।

15. शेखर कपूर की यादगार फ़िल्म जिसके एक गीत में अरबी घोड़े का ज़िक्र है।

16. सलमन ख़ान अभिनीत फ़िल्म जिसमें नायिका गूंगी है।

17. तीन शब्दों वाले फ़िल्म का पहला शब्द; इस फ़िल्म में इसके गीतकार ने लता मंगेशकर के साथ एक गीत भी गाया था।

20. चैन का पर्यायवाची जिसका फ़िल्मी गीतों में ख़ूब प्रयोग होता रहा है।


बायें से दायें:


1. एक संगीतकार जोड़ी; एक की उपाधि है सेनगुप्ता और दूसरे की बक्शी।

6..राजेश खन्ना की एक फ़िल्म के शीर्षक का दूसरा शब्द।

7. गंगा के साथ अक्सर इसका उल्लेख आता है।

9. राज कपूर की शुरुआती फ़िल्मों में एक; शमशाद बेगम का गाया एक कोयल वाला गीत भी है इस फ़िल्म में।

11. राज कपूर और रणधीत कपूर ने इस फ़िल्म में अभिनय किया है, संगीत राहुल देव बर्मन का है।

13. रणधीर कपूर, हेमा मालिनी अभिनीत एक तीन शब्दों वाली फ़िल्म के शीर्षक के पहले दो शब्द।

14. अक्षय कुमार की फ़िल्म, जिसका शीर्षक एक मुहावरा भी है।

17. जंगल में ----- नाचा।

18. शर्मीला टैगोर - संजीव कुमार अभिनीत मशहूर फ़िल्म जिसमें संगीत मदन मोहन का है

19. रोशन द्वारा स्वरबद्ध एक फ़िल्म; यह एक किस्म का पेड़ भी है। 

21. सैफ़ अली ख़न व प्रीति ज़िंटा अभिनीत एक मशहूर फ़िल्म की शीर्षक का पहला शब्द।

*********************************************

और अब ये रहे इस प्रतियोगिता में भाग लेने के कुछ आसान से नियम....

१. जवाब भेजने के लिए आपको करना होगा एक ई-मेल cine.paheli@yahoo.com के ईमेल पते पर। 'टिप्पणी' में जवाब न कतई न लिखें, वो मान्य नहीं होंगे।

२. ईमेल के सब्जेक्ट लाइन में "Cine Paheli # 22" अवश्य लिखें, और जवाबों के नीचे अपना नाम व स्थान लिखें।

३. आपका ईमेल हमें शुक्रवार 1 जून तक मिल जाने चाहिए।

४. आप अपने जवाब एक ही ईमेल में लिखें। किसी प्रतियोगी का पहला ईमेल ही मान्य होगा। इसलिए सारे जवाब प्राप्त हो जाने के बाद ही अपना ईमेल भेजें।

है न बेहद आसान! तो अब देर किस बात की, लगाइए अपने दिमाग़ पे ज़ोर और जल्द से जल्द लिख भेजिए अपने जवाब। जैसा कि हमने शुरु में ही कहा है कि हर सप्ताह हम सही जवाब भेजने वालों के नाम घोषित किया करेंगे, और पचासवे अंक के बाद "महाविजेता" का नाम घोषित किया जाएगा। 

******************************************

और अब २१ मई को पूछे गए 'सिने-पहेली # 21' के सवालों के सही जवाब---

1. पहले सवाल का गीत है फ़िल्म 'नई उमर की नई फ़सल' फ़िल्म का गीत "कारवाँ गुज़र गया ग़ुबार देखते रहे"। पूरा मुखड़ा है - स्वप्न झरे फूल से, मीत चुभे शूल से,
लुट गए सिंगार सभी बाग के बबूल से, और हम खड़े-खड़े बहार देखते रहे, कारवाँ गुज़र गया, गुबार देखते रहे!

2. 'चित्र-पहेली' का सही जवाब है अभिनेता मोतीलाल, यह फ़िल्म 'जागते रहो' का दृश्य है।

3. इस प्रश्न का सही जवाब है फ़िल्म 'स्वदेस' के इस गीत में उदित नारायण के अलावा जिन दो बालकलाकारों की आवाज़ें हैं, वो हैं मास्टर बिग्नेश और बेबी पूजा। 

4. 'कौन हूँ मैं' का सही जवाब है संगीतकार पन्नालाल घोष।

5. 'गीत अपना धुन पराई' में जो विदेशी गीत "When Johny comes marching home" सुनवाया था, उससे उससे प्रेरित हिंदी गीत है फ़िल्म 'बातों बातों में' का "न बोले तुम न मैंने कुछ कहा"।

और अब 'सिने पहेली # 21' के विजेताओं के नाम ये रहे -----



1. प्रकाश गोविन्द, लखनऊ --- 5 अंक



2. रीतेश खरे, मुंबई --- 5 अंक



3. सलमन ख़ान, अलीगढ़ --- 5 अंक 

4. क्षिति तिवारी, इंदौर --- 5 अंक

5. आनन्द अकेला, न्यू जर्सी, यू.एस.ए --- 5 अंक

6. शुभ्रा शर्मा, नयी दिल्ली --- 5 अंक

7. पंकज मुकेश, बेंगलुरू --- 5 अंक

8. शरद तैलंग, कोटा --- 4 अंक

9. गौतम केवलिया, बीकानेर --- 4 अंक

10. सागर चंद नाहर, हैदराबाद -- 3 अंक

11. अमित चावला, दिल्ली --- 3 अंक


सभी विजेताओं को हार्दिक बधाई। अंक सम्बंधित अगर आपको किसी तरह की कोई शिकायत हो, तो cine.paheli@yahoo.com के पते पर हमें अवश्य सूचित करें। आप सब भाग लेते रहिए, इस प्रतियोगिता का आनन्द लेते रहिए, क्योंकि महाविजेता बनने की लड़ाई अभी बहुत लम्बी है। आज के एपिसोड से जुड़ने वाले प्रतियोगियों के लिए भी १००% सम्भावना है महाविजेता बनने की। इसलिए मन लगाकर और नियमित रूप से (बिना किसी एपिसोड को मिस किए) सुलझाते रहिए हमारी सिने-पहेली, करते रहिए यह सिने मंथन, और अनुमति दीजिए अपने इस ई-दोस्त सुजॉय चटर्जी को, नमस्कार!

Monday, April 23, 2012

सिने-पहेली # 17 (जीतिये 5000 रुपये के इनाम)


सिने-पहेली # 17 (23 अप्रैल, 2012) 



नमस्कार दोस्तों, 'सिने पहेली' की १७-वीं कड़ी में मैं, सुजॉय चटर्जी, आप सभी का फिर एक बार स्वागत करता हूँ। दोस्तों, 'सिने पहेली' में इस सप्ताह हमारे साथ तीन प्रतियोगी और जुड़े हैं, इनमें एक हैं नई दिल्ली से शुभ्रा शर्मा (जो आकाशवाणी की जानी-मानी समाचारवाचिका भी हैं), दूसरी हैं दुबई से कृतिका, और तीसरी हैं पटना की राजेश प्रिया। आप तीनों का 'सिने पहेली' में बहुत-बहुत स्वागत है और आपसे अनुरोध करते हैं कि आगे भी नियमित रूप से 'सिने पहेली' में भाग लेते रहिएगा और कोशिश कीजिएगा कि 'सिने पहेली' के महाविजेता बन कर 5000 रुपये का इनाम अपने नाम कर लें। आपके लिए और अन्य सभी नए प्रतियोगियों के लिए 'सिने पहेली' महाविजेता बनने के नियम दोहरा देते हैं। हमने इस प्रतियोगिता को दस-दस कड़ियों के सेगमेण्ट्स में विभाजित किया है (वर्तमान में दूसरा सेगमेण्ट चल रहा है)। इस तरह से १००-वें अंक तक १० सेगमेण्ट्स हो जाएँगे, और हर सेगमेण्ट का एक विजेता घोषित होगा (पहले सेगमेण्ट के विजेता रहे प्रकाश गोविंद)। इस तरह से १० सेगमेण्ट्स के बाद जो सर्वाधिक सेगमेण्ट विजेता होगा, उन्हीं को हम 'सिने पहेली महाविजेता' का पुरस्कार प्रदान करेंगे।

चलिए अब शुरु किया जाए आज की 'सिने पहेली - 17' के सवालों का सिलसिला...

*********************************************

सवाल-1: बूझो तो जाने


इस श्रेणी में हम आपको कुछ शब्द देंगे जिनका इस्तमाल कर आपको किसी हिन्दी फ़िल्मी गीत का मुखड़ा बनाना है। यानी कि हम आपको किसी गीत के मुखड़े के कुछ महत्वपूर्ण शब्दों को आगे-पीछे करके देंगे, आपको सही मुखड़ा पहचानना है। तो ये रहे आज के गीत के कुछ शब्द; ध्यान से पढ़िए और इन शब्दों को उचित स्थानों पे बिठाकर बताइए कि यह कौन सा गीत है।

सनम, आवाज़, बिन, दिल, सकेंगे, तेरे, जी

सूत्र: इस गीत की गायिका हैं आशा भोसले


सवाल-2: पहचान कौन!


नीचे दिया गया चित्र एक फ़िल्म का पोस्टर है। क्या कलाकारों को देख कर आप अंदाज़ा लगा सकते हैं फ़िल्म के नाम का?



सवाल-3: सुनिये तो...


'सुनिये तो...' में आज आपको सुनवा रहे हैं एक गीत का अंतरा। इसमें लता मंगेशकर की आवाज़ को आप पहचान ही लेंगे। पर क्या आप पुरुष स्वर को पहचान पाए हैं?



सवाल-4: कौन हूँ मैं?


मैं एक फ़िल्म निर्माता-निर्देशक रहा हूँ। मेरा जन्म १९०९ में एक ज़मीनदार परिवार में हुआ था। मैंने अपना फ़िल्मी करीयर न्यू थिएटर्स में एक कैमरा ऐसिस्टैण्ट के रूप में शुरू किया था। इसी दौरान पी. सी. बरुआ की महत्वाकांक्षी फ़िल्म 'देवदास' में मैंने बरुआ के सहायक के रूप में काम किया था। मेरी पहली निर्देशित की हुई फ़िल्म थी १९४४ की एक बंगला फ़िल्म जिसका १९४५ में हिंदी वर्ज़न बना था। मैं १९५२-५३ में बम्बई स्थानान्तरित होकर अपनी निजी फ़िल्म प्रोडक्शन कंपनी खोली, और इस बैनर तले जिस प्रथम फ़िल्म का निर्माण हुआ उस फ़िल्म को आज भारतीय सिनेमा की एक मीलस्तंभ फ़िल्म मानी जाती है, बल्कि भारतीय सिनेमा के १० सर्वश्रेष्ठ फ़िल्मों में गिना जाता है। शुरू-शुरू में मैं उपदेशात्मक सामाजिक फ़िल्में बनाता था, इसलिए १९५८ में जब मैंने पुनर्जनम की कहानी पर एक फ़िल्म बनाई तो मेरी कुछ लोगों ने समालोचना भी की। ५६ वर्ष की आयु में कर्कट रोग से मेरी मृत्यु हुई। मेरी बेटी रिंकी भट्टाचार्य ने मेरी जीवनी प्रकाशित की है। तो फिर बताइए कौन हूँ मैं?


सवाल-5: गीत अपना धुन पराई


और अब पाँचवा और आख़िरी सवाल। सुनिए इस विदेशी धुन को और पहचानिए वह हिन्दी फ़िल्मी गीत जो इस धुन से प्रेरित है। बहुत आसान है इस बार।



*********************************************

तो दोस्तों, हमने पूछ लिए हैं आज के पाँचों सवाल, और अब ये रहे इस प्रतियोगिता में भाग लेने के कुछ आसान से नियम....

१. अगर आपको सभी पाँच सवालों के जवाब मालूम है, फिर तो बहुत अच्छी बात है, पर सभी जवाब अगर मालूम न भी हों, तो भी आप भाग ले सकते हैं, और जितने भी जवाब आप जानते हों, वो हमें लिख भेज सकते हैं।

२. जवाब भेजने के लिए आपको करना होगा एक ई-मेल cine.paheli@yahoo.com के ईमेल पते पर। 'टिप्पणी' में जवाब न कतई न लिखें, वो मान्य नहीं होंगे।

३. ईमेल के सब्जेक्ट लाइन में "Cine Paheli # 17" अवश्य लिखें, और जवाबों के नीचे अपना नाम, स्थान और पेशा लिखें।

४. आपका ईमेल हमें शुक्रवार 27 अप्रैल  तक मिल जाने चाहिए।

है न बेहद आसान! तो अब देर किस बात की, लगाइए अपने दिमाग़ पे ज़ोर और जल्द से जल्द लिख भेजिए अपने जवाब। जैसा कि हमने शुरु में ही कहा है कि हर सप्ताह हम सही जवाब भेजने वालों के नाम घोषित किया करेंगे, और पचासवे अंक के बाद "महाविजेता" का नाम घोषित किया जाएगा।

******************************************

और अब 20 अप्रैल को पूछे गए 'सिने-पहेली # 16' के सवालों के सही जवाब---

1. पहले सवाल का गीत है फ़िल्म 'सरस्वतीचन्द्र' का "फूल तुम्हे भेजा ख़त में, फूल नहीं मेरा दिल है"।

2. 'चित्र-पहेली' में गायिका सुषमा श्रेष्ठ के साथ नज़र आ रहे हैं उन्हीं के पिता व संगीतकार भोला श्रेष्ठ।

3. इस प्रश्न का सही जवाब है फ़िल्म 'दिल तो पागल है'।

4. 'कौन हूँ मैं' का सही जवाब है अभिनेत्री मधुबाला।

5. 'गीत अपना धुन पराई' में जो विदेशी गीत सुनवाया था, उससे प्रेरित हिन्दी गीत है फ़िल्म 'छलिया' का "बाजे पायल छुन छुन होके बेकरार"।


और अब 'सिने पहेली # 16' के विजेताओं के नाम ये रहे -----

1. पंकज मुकेश, बेंगलुरू --- 5 अंक

2. प्रकाश गोविन्द, लखनऊ --- 5 अंक

3. कृतिका, दुबई --- 4 अंक

4. अमित चावला, दिल्ली --- 4 अंक

5. रीतेश खरे, मुंबई --- 4 अंक

6. शुभ्रा शर्मा, नई दिल्ली --- 3 अंक



सभी विजेताओं को हार्दिक बधाई। अंक सम्बंधित अगर आपको किसी तरह की कोई शिकायत हो, तो cine.paheli@yahoo.com के पते पर हमें अवश्य सूचित करें। अब जबकि 'सिने पहेली' के दूसरे सेगमेण्ट के १० में से ६ अंकों के परिणाम सामने आ गए हैं, तो क्यों न एक नज़र डाली जाए अब तक के सम्मिलित स्कोर पर। शीर्ष के पाँच प्रतियोगियों के स्कोर ये रहे...

1. प्रकाश गोविन्द, लखनऊ --- 30 अंक (100%)

2. पंकज मुकेश, बेंगलुरू --- 27 अंक (90%)

' 3. रीतेश खरे, मुंबई --- 25 अंक (83%)

4. क्षिति तिवारी, इंदौर --- 24 अंक (80%)

5. अमित चावला, दिल्ली --- 23 अंक (77%)


इसका मतलब यह हुआ कि पहले सेगमेण्ट की तरह दूसरे सेगमेण्ट में भी प्रकाश गोविंद अब तक सबसे उपर चल रहे हैं। क्षिति तिवारी भी पिछले एपिसोड तक उनसे केवल १ अंक पीछे चल रही थीं, पर एपिसोड-१६ में भाग न लेने की वजह से वो काफ़ी पीछे रह गई हैं। तो अब यह देखना है कि क्या अगले चार एपिसोड्स (१७ से २०) में पंकज मुकेश प्रकाश गोविंद को मात दे पाते हैं या नहीं। हम तो यही उम्मीद करते हैं कि मुकाबला और भी ज़्यादा रोचक हो। हम फिर एक बार उन साथियों से, जिन्होंने अभी तक इस प्रतियोगिता में भाग नहीं लिया है, अनुरोध करते हैं कि 'सिने पहेली' के सवालों के जवाब भेज कर इस जंग में शामिल जायें, और 5000 रुपये का इनाम अपने नाम कर लें। क्यों किसी और को देना है 5000 रुपये जब आप में काबलीयत है इसे जीतने की? आज बस इतना ही, अगले सप्ताह आपसे इसी स्तंभ में दोबारा मुलाक़ात होगी, तब तक के लिए सुलझाते रहिए हमारी सिने-पहेली, करते रहिए यह सिने मंथन, और अनुमति दीजिए अपने इस ई-दोस्त सुजॉय चटर्जी को, नमस्कार!

Monday, April 9, 2012

सिने-पहेली # 15 (जीतिये 5000 रुपये के इनाम)


सिने-पहेली # 15 


'सिने पहेली' के एक और अंक में मैं, सुजॉय चटर्जी, आप सभी का फिर एक बार स्वागत करता हूँ। दोस्तों, 'सिने पहेली' का दूसरा सेगमेण्ट इन दिनों जारी है, और हमें ख़ुशी है कि आप में से कई श्रोता-पाठक अब नियमित रूप से इसमें भाग ले रहे हैं। हमारे एक प्रतियोगी रीतेश खरे जी पिछले दिनों थोड़े मायूस नज़र आए क्योंकि उन्हें पिछले दो एक अंकों में पूरे पाँच अंक नहीं मिल सके और उन्हें ऐसा लगने लगा कि महाविजेता बनने की लड़ाई वो हारते जा रहे हैं। हम अपने सभी प्रतियोगियों से यह कहना चाहेंगे कि 'सिने पहेली' का स्वरूप हमने कुछ ऐसा रखा है कि कभी भी इसमें उलट फेर हो सकती है। अभी तो कुछ भी नहीं हुआ, आगे आगे देखिये हम कैसे कैसे गूगली इसमें डालते हैं। आप सभी तैयार रहिएगा क्योंकि कभी भी इसके सवालों का स्वरूप बदल सकता है। और हाँ, जिन लोगों ने अभी तक इसमें भाग नहीं लिया है, उनके लिए भी हम यह कहना चाहते हैं कि अभी कुछ भी देर नहीं हुई है। क्योंकि १० सेगमेण्ट्सों के सर्वाधिक विजेता को ही सिने-पहेली महाविजेता माना जाएगा, इसलिए आज के अंक से भी आप शुरू करके महाविजेता बन सकते हैं। यहाँ तक कि ५१-वे अंक से शुरु करके भी महाविजेता बना जा सकता है। तो फिर भाग ले रहे हैं न आप? अगर आप समझते हैं कि आप में भी सिने पहेली महाविजेता बनने की काबलीयत है तो फिर 5000 रुपये के इनाम को क्यों किसी और के नाम होने दे रहे हैं? आज ही से भाग लेकर बनिए 'सिने पहेली महाविजेता' और घर ले जाइए 5000 रुपये का नकद इनाम। बातें बहुत हुईं, चलिए शुरु किया जाए 'सिने पहेली - 15' के सवालों का सिलसिला...

*********************************************

सवाल-1: बूझो तो जाने

इस श्रेणी में हम आपको कुछ शब्द देंगे जिनका इस्तमाल कर आपको किसी हिन्दी फ़िल्मी गीत का मुखड़ा बनाना है। यानी कि हम आपको किसी गीत के मुखड़े के कुछ महत्वपूर्ण शब्दों को आगे-पीछे करके देंगे, आपको सही मुखड़ा पहचानना है। तो ये रहे आज के गीत के कुछ शब्द; ध्यान से पढ़िए और इन शब्दों को उचित स्थानों पे बिठाकर बताइए कि यह कौन सा गीत है।

क़यामत, वक़्त, दीवाने, मुसीबत, मोहब्बत, अल्लाह


सवाल-2: पहचान कौन!

नीचे दिए गए चित्र में सुपरस्टार सलमान ख़ान समुंदर के किनारे हाथ में गीटार लिए नज़र आ रहे हैं। क्या आप बता सकते हैं कि यह किस गीत का दृश्य है?




सवाल-3: सुनिये तो...

'सुनिये तो...' में आज आपको सुनवा रहे हैं एक गीत जिसमें आवाज़ें हैं दो मुख्य गायिकाओं की और साथ में हैं सखियाँ। अंतरे में आवाज़ है आशा भोसले की, आपको बताना है मुखड़े में किस गायिका की आवाज़ है।





सवाल-4: कौन हूँ मैं?

मेरा जन्म हरियाणा के सिरसा नामक जगह में हुआ था। मैं एक संगीतकार बना और मुझे पहला मौका दिया था निर्देशक सत्येन बोस ने १९५४ की एक फ़िल्म में, जिसमें मैंने शैलेश मुखर्जी के साथ मिलकर संगीतकार के रूप में काम किया था। 'वाशिंग पाउडर निरमा' का वह प्रसिद्ध एवं लोकप्रिय विज्ञापन का कम्पोज़िशन मैंने ही तैयार किया था जो आज तक टीवी/रेडियो में दिखाई/सुनाई जाती है। यूं तो मैं संगीतकार था, पर मुझे गीत लिखने का भी शौक था। संगीतकार कल्याणजी-आनंदजी के लिए मैंने एक गीत लिखा था जिसके मुखड़े में "नाम" और "बदनाम" शब्द मौजूद हैं। फ़िल्मकार सावन कुमार ने मुझे १९८० की अपनी एक फ़िल्म और १९८८ की अपनी एक फ़िल्म में संगीत देने का मौका दिया था। १९८८ की इस फ़िल्म में मैंने लता मंगेशकर से एक ग़ज़ल गवाया था जो रेखा पर फ़िल्माया गया था। तो फिर बताइए कौन हूँ मैं?



सवाल-5: गीत अपना धुन पराई

और अब पाँचवा और आख़िरी सवाल। सुनिए इस विदेशी गीत को और पहचानिए वह हिन्दी फ़िल्मी गीत जो इस धुन से प्रेरित है।




*********************************************

तो दोस्तों, हमने पूछ लिए हैं आज के पाँचों सवाल, और अब ये रहे इस प्रतियोगिता में भाग लेने के कुछ आसान से नियम....
१. अगर आपको सभी पाँच सवालों के जवाब मालूम है, फिर तो बहुत अच्छी बात है, पर सभी जवाब अगर मालूम न भी हों, तो भी आप भाग ले सकते हैं, और जितने भी जवाब आप जानते हों, वो हमें लिख भेज सकते हैं।
२. जवाब भेजने के लिए आपको करना होगा एक ई-मेल cine.paheli@yahoo.com के ईमेल पते पर। 'टिप्पणी' में जवाब न कतई न लिखें, वो मान्य नहीं होंगे।
३. ईमेल के सब्जेक्ट लाइन में "Cine Paheli # 15" अवश्य लिखें, और जवाबों के नीचे अपना नाम, स्थान और पेशा लिखें।
४. आपका ईमेल हमें शुक्रवार 13 अप्रैल तक मिल जाने चाहिए।
है न बेहद आसान! तो अब देर किस बात की, लगाइए अपने दिमाग़ पे ज़ोर और जल्द से जल्द लिख भेजिए अपने जवाब। जैसा कि हमने शुरु में ही कहा है कि हर सप्ताह हम सही जवाब भेजने वालों के नाम घोषित किया करेंगे, और पचासवे अंक के बाद "महाविजेता" का नाम घोषित किया जाएगा।

******************************************

और अब 2 अप्रैल को पूछे गए 'सिने-पहेली # 14' के सवालों के सही जवाब---

1. पहले सवाल 'गोल्डन वॉयस' में हमने आपको जो आवाज़ सुनवाई थी, वह आवाज़ थी गायिका उमा देवी की, जो बाद में अभिनेत्री टुनटुन के नाम से भी प्रसिद्ध हुईं।
2. 'चित्र-पहेली' में दिखाए गए चित्र में तांगा चलाते नज़र आ रहे हैं गायक मुकेश और गीत है "छोटी सी यह ज़िन्दगानी रे..."
3. इस प्रश्न का सही जवाब है सी. रामचन्द्र, जो इस फ़िल्म 'अनारकली' के संगीतकार भी थे।
4. ‘बताइये ना’ सवाल का सही उत्तर है राग रागेश्री (रागेश्वरी)।
5. 'गीत अपना धुन पराई' में जो विदेशी गीत सुनवाया था, उससे प्रेरित हिन्दी गीत है फ़िल्म 'रेस' का "पहली नज़र में कैसा जादू कर दिया" और मूल गीत कोरीआ देश का है।


और अब 'सिने पहेली # 14' के विजेताओं के नाम ये रहे -----

1. प्रकाश गोविन्द, लखनऊ --- 5 अंक
2. रीतेश खरे, मुंबई --- 5 अंक
3. क्षिति तिवारी, इन्दौर --- 5 अंक
4. पंकज मुकेश, बेंगलुरू --- 4 अंक
5. अमित चावला, दिल्ली --- 3 अंक
6. अवध लाल, लखनऊ --- 2 अंक
7. शरद तैलंग, कोटा --- 2 अंक
8. इंदु पुरी, चित्तौड़गढ़ --- 1 अंक


सभी विजेताओं को हार्दिक बधाई। अंक सम्बंधित अगर आपको किसी तरह की कोई शिकायत हो, तो cine.paheli@yahoo.com के पते पर हमें अवश्य सूचित करें। हम फिर एक बार उन साथियों से, जिन्होंने अभी तक इस प्रतियोगिता में भाग नहीं लिया है, अनुरोध करते हैं कि 'सिने पहेली' के सवालों के जवाब भेज कर इस जंग में शामिल जायें, और 5000 रुपये का इनाम अपने नाम कर लें। क्यों किसी और को देना है 5000 रुपये जब आप में काबलीयत है इसे जीतने की? आज बस इतना ही, अगले सप्ताह आपसे इसी स्तंभ में दोबारा मुलाक़ात होगी, तब तक के लिए सुलझाते रहिए हमारी सिने-पहेली, करते रहिए यह सिने मंथन, और अनुमति दीजिए अपने इस ई-दोस्त सुजॉय चटर्जी को, नमस्कार!

Monday, April 2, 2012

सिने-पहेली में जीतिये 5000 रुपये के इनाम


 सिने-पहेली # 14 (2 अप्रैल, 2012)

'सिने-पहेली' के एक नये अंक में मैं, कृष्णमोहन मिश्र, आप सभी का फिर एक बार स्वागत करता हूँ। इस स्तम्भ के प्रस्तुतकर्ता और हम सबके प्रिय सुजॉय चटर्जी की अस्वस्थता के कारण आज यह अंक लेकर आपके सम्मुख मुझे उपस्थित होना पड़ा। पिछले अंक में हमने यह घोषणा की थी कि 'सिने पहेली' के 100 अंकों के बाद जो महाविजेता बनेगा, उन्हें हम इनाम स्वरूप 5000 रुपये की नकद राशि भेंट करेंगे। अर्थात् 10 सेगमेण्ट्स की लड़ाई में जो सर्वाधिक सेगमेण्ट का विजेता होगा, उन्हें इस पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। अभी सिर्फ़ दूसरा ही सेगमेण्ट चल रहा है। इसका अर्थ यह हुआ कि कोई भी महाविजेता बन सकता है। आज के अंक से ही आप 'सिने पहेली' प्रतियोगिता में भाग लें और हमारे सवालों के जवाब cine.paheli@yahoo.com के पते पर लिख भेजें। तो आइए शुरु करते हैं 'सिने पहेली – 14' के सवालों का सिलसिला-


*********************************************

सवाल-1: गोल्डन वॉयस

गोल्डन वॉयस में आज हम आपको सुनवाने जा रहे हैं देश की आज़ादी के समय की एक फ़िल्म के गीत का एक अंश जिसे तत्कालीन चर्चित गायिका और अभिनेत्री ने गाया था। अपने प्रभावी व्यक्तित्व के कारण अभिनेत्री के रूप में ये हमेशा चर्चित रहीं। क्या आप हमें इस गायिका- अभिनेत्री का नाम बता सकते है? 


सवाल-2: पहचान कौन?

आज की चित्र पहेली में आप 1953 की एक फिल्म का गीत-दृश्य देख रहे हैं। राजा नवाथे के निर्देशन में यह फिल्म बनी थी। आपको इस चित्र में दिखाई दे रहे तांगा चलाते गायक-अभिनेता का नाम तथा गीत का मुखड़ा अर्थात पहली पंक्ति बताना है। दोनों जवाब सही होने पर ही अंक मिलेगा।




सवाल-3: सुनिये तो...

'सुनिये तो...' में आज आपको सुनवा रहे हैं, ऐतिहासिक पृष्ठभूमि पर बनी एक फिल्म के सदाबहार गीत का अंश। फिल्म का मूल गीत इस आवाज़ में नहीं है। सुनवाया जा रहा गीत फिल्म से जुड़े एक संगीत कलाकार की आवाज़ में है। आपको सुनवाई गई इस आवाज़ को पहचानना है। 


सवाल-4: बताइये ना!

और अब चौथे सवाल के रूप में हम आपको उस्ताद बड़े गुलाम अली खाँ के स्वर में एक फिल्म-गीत सुनवाते हैं। खाँ साहब का आज जन्म-दिवस है। यह गीत हम उनकी स्मृति को समर्पित करते हैं। आप बताइए कि यह गीत किस राग पर आधारित है? 


सवाल-5: गीत अपना धुन पराई

और अब पाँचवा और आख़िरी सवाल। सुनिए इस विदेशी गीत को और पहचानिए वह हिन्दी फ़िल्मी गीत जो इस धुन से प्रेरित है। 


*********************************************

तो दोस्तों, हमने पूछ लिए हैं आज के पाँचों सवाल, और अब ये रहे इस प्रतियोगिता में भाग लेने के कुछ आसान से नियम

1. अगर आपको सभी पाँच सवालों के जवाब मालूम है, फिर तो बहुत अच्छी बात है, पर सभी जवाब अगर मालूम न भी हों, तो भी आप भाग ले सकते हैं, और जितने भी जवाब आप जानते हों, वो हमें लिख भेज सकते हैं।

2. जवाब भेजने के लिए आपको करना होगा एक ई-मेल cine.paheli@yahoo.com के ईमेल पते पर। 'टिप्पणी' में जवाब न कतई न लिखें, वो मान्य नहीं होंगे।

3. ईमेल के सब्जेक्ट लाइन में "Cine Paheli # 14" अवश्य लिखें, और जवाबों के नीचे अपना नाम, स्थान और पेशा लिखें।

4. आपका ईमेल हमें शुक्रवार 6 अप्रैल तक मिल जाने चाहिए।

है न बेहद आसान! तो अब देर किस बात की, लगाइए अपने दिमाग़ पर ज़ोर और जल्द से जल्द लिख भेजिए अपने जवाब। जैसा कि हमने शुरु में ही कहा है कि हर सप्ताह हम सही जवाब भेजने वालों के नाम घोषित किया करेंगे, और सौवें अंक के बाद "महाविजेता" का नाम घोषित किया जाएगा।

******************************************

और अब 26 मार्च को पूछे गए 'सिने-पहेली # 13' के सवालों के सही जवाब

1॰ पहले सवाल 'गोल्डन वॉयस' में हमने आपको जो आवाज़ सुनवाई थी, वह आवाज़ थी शमशाद बेगम और मुबारक बेगम की और 1955 की फिल्म 'सौ का नोट' से यह गीत लिया गया था।

2. 'चित्र-पहेली' में दिखाए गए चित्र में लता मंगेशकर के साथ नज़र आ रहे हैं- पाकिस्तान के कलाकार मोईन अख्तर।

3. 'सुनिये तो' में हमने जिस गीत के बारे में पूछा था, वह फिल्म ‘आँधी’ से लिया गया गीत है-‘इस मोड से जाते हैं...’।

4. ‘बताइये ना’ सवाल का सही उत्तर है- अ) Lux Soap 1990 की फिल्म 'थानेदार' के गीत 'जब से हुई है शादी...' के एक अन्तरे '...वो लक्स में नहा कर खुशबू में तर रहेंगी...' में इस साबुन का जिक्र है।

5. 'गीत अपना धुन पराई' में जो विदेशी गीत सुनवाया था, उससे प्रेरित हिन्दी गीत है, संगीतकार रवि का संगीतबद्ध किया फ़िल्म 'ये रास्ते हैं प्यार के' का इसी मुखड़े वाला गीत।

और अब 'सिने पहेली # 13' के विजेताओं के नाम ये रहे-

1. क्षिति तिवारी, इन्दौर --- 5 अंक
2. प्रकाश गोविन्द, लखनऊ --- 5 अंक
3. अमित चावला, दिल्ली --- 3 अंक
4. पंकज मुकेश, बेंगलुरू --- 3 अंक
5. शरद तैलंग --- 3 अंक
6. रीतेश खरे --- 3 अंक
7. अभिषेक कुमार, हुबली --- 1 अंक


सभी विजेताओं को हार्दिक बधाई। अंक से सम्बन्धित अगर आपको किसी तरह की कोई शिकायत हो, तो cine.paheli@yahoo.com के पते पर हमें अवश्य सूचित करें। हम फिर एक बार उन साथियों से, जिन्होंने अभी तक इस प्रतियोगिता में भाग नहीं लिया है, अनुरोध करते हैं कि 'सिने पहेली' के सवालों के जवाब भेज कर इस जंग में शामिल जायें, यकीन मानिए बड़ा मज़ा आएगा। तो आज बस इतना ही, अगले सप्ताह आपसे इसी स्तम्भ में दोबारा मुलाक़ात होगी, तब तक के लिए सुलझाते रहिए हमारी सिने-पहेली, करते रहिए यह सिने-मंथन, और अनुमति दीजिए अपने इस ई-दोस्त कृष्णमोहन मिश्र को। नमस्कार!

The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ