Tuesday, July 23, 2019

ऑडियो: बर्थ नम्बर तीन (गौतम राजर्षि)

रेडियो प्लेबैक इंडिया के साप्ताहिक स्तम्भ 'बोलती कहानियाँ' के अंतर्गत हम आपको सुनवाते हैं हिन्दी की नई, पुरानी, अनजान, प्रसिद्ध, मौलिक और अनूदित, यानि के हर प्रकार की कहानियाँ। पिछली बार आपने शीतल माहेश्वरी  की आवाज़ में शिवम खरे की लघुकथा "गरीबी रेखा का कार्ड" का पॉडकास्ट सुना था। आज हम आपकी सेवा में प्रस्तुत कर रहे हैं कर्नल गौतम राजर्षि की मर्मस्पर्शी कहानी "बर्थ नम्बर तीन", शीतल माहेश्वरी के स्वर में।

"बर्थ नम्बर तीन" का कुल प्रसारण समय 11 मिनट 25 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं। इस लघुकथा का टेक्स्ट पाल ले इक रोग नादाँ पर उपलब्ध है।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिकों, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।



हवा जब किसी की कहानी कहे है
नये मौसमों की जुबानी कहे है
फ़साना लहर का जुड़ा है ज़मीं से
समुन्दर मगर आसमानी कहे है
गौतम राजर्षि

हर सप्ताह यहीं पर सुनें एक नयी कहानी

"चल बे! ज्यादा बन मत तू एक ही बात को बार-बार दुहरा कर"
(गौतम राजर्षि की "बर्थ नम्बर तीन" से एक अंश)



नीचे के प्लेयर से सुनें.


(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)

यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाउनलोड कर लें:
बर्थ नम्बर तीन MP3

#Fifteenth Story, Berth Number 3: Gautam Rajrishi/Hindi Audio Book/2019/15. Voices: 

Sheetal Maheshwari

4 comments:

वाणी गीत said...

अच्छी गूँथी कहानी को उसी खूबसूरत अंदाज में पढ़ा. कहानी सुनते हुए दृश्यों को महसूस किया जा सकता है.
बहुत बढ़िया....

Anonymous said...

Very good write-up. I absolutely love this website. Keep writing!

उषा किरण said...

बहुत बढ़िया कहानी और शीतल ने बहुत अच्छी तरह पढ़ा...संवादों की अदायगी प्रशंसनीय है...भावों का उतार-चढ़ाव बेहतर👌👌

ऋता शेखर 'मधु' said...

संवेदनशील कहानी, सुन्दर वाचन

The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ