Showing posts with label win 5000 cash. Show all posts
Showing posts with label win 5000 cash. Show all posts

Saturday, April 6, 2013

वापस आ गया है फ़िल्मी पहेलियों का मौसम, आपकी अपनी 'सिने पहेली'



सिने-पहेली - 61 


'रेडियो प्लेबैक इण्डिया' के सभी पाठकों और श्रोताओं को सुजॉय चटर्जी का प्यार भरा नमस्कार। दोस्तों, महीने भर के विराम के बाद आज से 'सिने पहेली' का सफ़र दोबारा शुरू कर रहे हैं। इस प्रतियोगिता का 60% भाग पूरा हो चुका है, और बाकी 40% को अंजाम देने के लिए आज से यह सफ़र फिर एक बार शुरू हो रहा है अपनी मंज़िल तक पहुँचने के ख़ातिर। आशा है आप सभी प्रतियोगी उसी उत्साह के साथ फिर से इस प्रतियोगिता में जुट जायेंगे जैसा पहले किया करते थे। आज से इस प्रतियोगिता में जुड़ने वाले नये खिलाड़ियों का स्वागत करते हुए हम उन्हें यह भी बताना चाहेंगे कि अभी भी कुछ देर नहीं हुई है, आज से इस प्रतियोगिता में जुड़ कर भी आप महाविजेता बन सकते हैं, यही इस प्रतियोगिता की ख़ासियत है। इस प्रतियोगिता के नियमों का नीचे किया गया है, ध्यान दीजियेगा।


कैसे बना जाए 'सिने पहेली' महाविजेता?


1. सिने पहेली प्रतियोगिता में होंगे कुल 100 एपिसोड्स। इन 100 एपिसोड्स को 10 सेगमेण्ट्स में बाँटा गया है। अर्थात्, हर सेगमेण्ट में होंगे 10 एपिसोड्स। इस प्रतियोगिता के 60 एपिसोड्स पूरे हो चुके हैं, आज है 61-वाँ एपिसोड।

2. प्रत्येक सेगमेण्ट में प्रत्येक खिलाड़ी के 10 एपिसोड्स के अंक जुड़े जायेंगे, और सर्वाधिक अंक पाने वाले तीन खिलाड़ियों को सेगमेण्ट विजेताओं के रूप में चुन लिया जाएगा। 

3. इन तीन विजेताओं के नाम दर्ज हो जायेंगे 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में। सेगमेण्ट में प्रथम स्थान पाने वाले को 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में 3 अंक, द्वितीय स्थान पाने वाले को 2 अंक, और तृतीय स्थान पाने वाले को 1 अंक दिया जायेगा। छठे सेगमेण्ट की समाप्ति तक 'महाविजेता स्कोरकार्ड' यह रहा...





4. 10 सेगमेण्ट पूरे होने पर 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में दर्ज खिलाड़ियों में सर्वोच्च पाँच खिलाड़ियों में होगा एक ही एपिसोड का एक महा-मुकाबला, यानी 'सिने पहेली' का फ़ाइनल मैच। इसमें पूछे जायेंगे कुछ बेहद मुश्किल सवाल, और इसी फ़ाइनल मैच के आधार पर घोषित होगा 'सिने पहेली महाविजेता' का नाम। महाविजेता को पुरस्कार स्वरूप नकद 5000 रुपये दिए जायेंगे, तथा द्वितीय व तृतीय स्थान पाने वालों को दिए जायेंगे सांत्वना पुरस्कार।


तो आइए अब पूछा जाये 'सिने पहेली - 61' के सवाल...


आज की पहेली : बताइये ना!

1. "ना कुछ पूछे, ना कुछ बूझे, कैसा अनाड़ी लागे रे...."। गीत की इस पंक्ति में अनाड़ी किसे कहा गया है? (2 अंक)

2. "दिल को प्यार का रोग लगा के ज़ख़्म बनाने पड़ते हैं, दर्द हज़ारों उठते हैं कितने काँटे चुभते हैं"। और तब जा कर बनता है _________ । 
(2 अंक)

3. "लगा ले पेंच फिर से तू, होने दे जंग, नज़र सदा हो ऊँची सिखाती है ______________"। 
(2 अंक)

4. "तू ने मेरा नाम कभी आँखों से पुकारा नहीं, मैंने जाने कैसे सुना था"। इस पंक्ति में फ़िल्म के जिस किरदार को "तू" से संबोधित किया गया है, उस किरदार का नाम क्या था? 
(2 अंक)

5. "मोतियों जैसे तारे आँचल में है सारे, जाने ये फिर क्या माँगे", "जोगन जैसी लागे, न सोये न जागे, गली-गली में जाये"। गीत की इन पंक्तियों के माध्यम से किसे संबोधित किया गया है? 
(2 अंक)

जवाब भेजने का तरीका


उपर पूछे गए सवालों के जवाब एक ही ई-मेल में टाइप करके cine.paheli@yahoo.com के पते पर भेजें। 'टिप्पणी' में जवाब कतई न लिखें, वो मान्य नहीं होंगे। ईमेल के सब्जेक्ट लाइन में "Cine Paheli # 61" अवश्य लिखें, और अंत में अपना नाम व स्थान लिखें। आपका ईमेल हमें बृहस्पतिवार 11 अप्रैल शाम 5 बजे तक अवश्य मिल जाने चाहिए। इसके बाद प्राप्त होने वाली प्रविष्टियों को शामिल नहीं किया जाएगा।


'सिने पहेली' को और भी ज़्यादा मज़ेदार बनाने के लिए अगर आपके पास भी कोई सुझाव है तो 'सिने पहेली' के ईमेल आइडी पर अवश्य लिखें। आप सब भाग लेते रहिए, इस प्रतियोगिता का आनन्द लेते रहिए, क्योंकि महाविजेता बनने की लड़ाई अभी बहुत लम्बी है। आज के एपिसोड से जुड़ने वाले प्रतियोगियों के लिए भी 100% सम्भावना है महाविजेता बनने का। इसलिए मन लगाकर और नियमित रूप से (बिना किसी एपिसोड को मिस किए) सुलझाते रहिए हमारी सिने-पहेली, करते रहिए यह सिने मंथन, आज के लिए मुझे अनुमति दीजिए, अगले सप्ताह फिर मुलाक़ात होगी, नमस्कार!

Saturday, February 16, 2013

'सिने पहेली' में आज स्वागत बसन्त का


16 फ़रवरी, 2013
सिने-पहेली - 59  में आज 

सुलझाइये कुछ फूलों भरी पहेलियाँ


'रेडियो प्लेबैक इण्डिया' के सभी पाठकों और श्रोताओं को सुजॉय चटर्जी का प्यार भरा नमस्कार। दोस्तों, कल बसन्त पंचमी का पावन पर्व था। इस दिन से वसन्त ॠतु की शुरुआत मानी जाती है। बंगाल में इस दिन देवी सरस्वती की पूजा होती है। शीत काल समाप्त हुआ चाहता है और मौसम सुहाना होने लगता है। मन्द-मन्द बयार, चारों ओर फूलों की छटा, पंछियों का कलरव; कुल मिला कर एक सुन्दर वातावरण का अहसास होता है। आज की भागदौड़ भरी ज़िन्दगी में शायद प्रकृति की इन शोभाओं का अनुभव बहुत कम लोग कर पाते हों, पर सच पूछिये तो इन प्राकृतिक सुन्दरताओं से ही हमारा जीवन सुन्दर बनता है, कृत्रिम वस्तुओं से नहीं। आइये आज की 'सिने पहेली' को महकाया जाये दस अलग-अलग फूलों की ख़ुशबूओं से, उनकी सुनदरता से। 


आज की पहेली : पहचानो फूल, बिना किए भूल 

नीचे दी हुई तसवीर में आपको दस फूल दिखाये गये हैं। आपको इन फूलों के नाम बताने हैं और हर फूल के लिए एक ऐसा हिन्दी फ़िल्मी गीत सुझाना है जिसमें उस फूल का शाब्दिक उल्लेख आया हो। दस फूलों के लिए दस अलग गीत होने चाहिए।




जवाब भेजने का तरीका


उपर पूछे गए सवालों के जवाब एक ही ई-मेल में टाइप करके cine.paheli@yahoo.com के पते पर भेजें। 'टिप्पणी' में जवाब कतई न लिखें, वो मान्य नहीं होंगे। ईमेल के सब्जेक्ट लाइन में "Cine Paheli # 59" अवश्य लिखें, और अंत में अपना नाम व स्थान लिखें। आपका ईमेल हमें बृहस्पतिवार 21 फ़रवरी शाम 5 बजे तक अवश्य मिल जाने चाहिए। इसके बाद प्राप्त होने वाली प्रविष्टियों को शामिल नहीं किया जाएगा।



पिछली पहेली का हल


गीत 1. तुमने जो कहा, मैनें वो सुना......(फिल्‍म - लावारिस)

गीत 2. ऐ दिल लाया है बहार, अपनों का प्‍यार....क्‍या कहना......(फिल्‍म - क्‍या कहना)

गीत 3. चुरा लिया है तुमने जो दिल को .....(फिल्‍म - यादों की बारात)

गीत 4. सुन सुन सुन बरसात की धुन सुन......(फिल्‍म - सर)

गीत 5. तुमसे मिलके, ऐसा लगा तुमसे मिलके, अरमां हुए पूरे दिल के......(फिल्‍म - परिन्‍दा)

"ताजमहल" वाले गीतों पर हम एक विशेषालेख बहुत जल्द प्रस्तुत करेंगे।



पिछली पहेली का परिणाम


इस बार 'सिने पहेली' में कुल 7 प्रतियोगियों ने भाग लिया। सबसे पहली 100% सही जवाब भेज कर इस बार 'सरताज प्रतियोगी' बने हैं पिट्सबर्ग के महेश बसन्तनी। महेश जी, बहुत बहुत बधाई आपको। आइए अब नज़र डालते हैं इस सेगमेण्ट के अब तक के सम्मिलित स्कोरकार्ड पर।






नये प्रतियोगियों का आह्वान

नये प्रतियोगी, जो इस मज़ेदार खेल से जुड़ना चाहते हैं, उनके लिए हम यह बता दें कि अभी भी देर नहीं हुई है। इस प्रतियोगिता के नियम कुछ ऐसे हैं कि किसी भी समय जुड़ने वाले प्रतियोगी के लिए भी पूरा-पूरा मौका है महाविजेता बनने का। अगले सप्ताह से नया सेगमेण्ट शुरू हो रहा है, इसलिए नये खिलाड़ियों का आज हम एक बार फिर आह्वान करते हैं। अपने मित्रों, दफ़्तर के साथी, और रिश्तेदारों को 'सिने पहेली' के बारे में बताएँ और इसमें भाग लेने का परामर्श दें। नियमित रूप से इस प्रतियोगिता में भाग लेकर महाविजेता बनने पर आपके नाम हो सकता है 5000 रुपये का नगद इनाम।


कैसे बना जाए 'सिने पहेली महाविजेता?

1. सिने पहेली प्रतियोगिता में होंगे कुल 100 एपिसोड्स। इन 100 एपिसोड्स को 10 सेगमेण्ट्स में बाँटा गया है। अर्थात्, हर सेगमेण्ट में होंगे 10 एपिसोड्स।

2. प्रत्येक सेगमेण्ट में प्रत्येक खिलाड़ी के 10 एपिसोड्स के अंक जुड़े जायेंगे, और सर्वाधिक अंक पाने वाले तीन खिलाड़ियों को सेगमेण्ट विजेताओं के रूप में चुन लिया जाएगा।

3. इन तीन विजेताओं के नाम दर्ज हो जायेंगे 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में। सेगमेण्ट में प्रथम स्थान पाने वाले को 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में 3 अंक, द्वितीय स्थान पाने वाले को 2 अंक, और तृतीय स्थान पाने वाले को 1 अंक दिया जायेगा। पाँचवें सेगमेण्ट की समाप्ति तक 'महाविजेता स्कोरकार्ड' यह रहा...





4. 10 सेगमेण्ट पूरे होने पर 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में दर्ज खिलाड़ियों में सर्वोच्च पाँच खिलाड़ियों में होगा एक ही एपिसोड का एक महा-मुकाबला, यानी 'सिने पहेली' का फ़ाइनल मैच। इसमें पूछे जायेंगे कुछ बेहद मुश्किल सवाल, और इसी फ़ाइनल मैच के आधार पर घोषित होगा 'सिने पहेली महाविजेता' का नाम। महाविजेता को पुरस्कार स्वरूप नकद 5000 रुपये दिए जायेंगे, तथा द्वितीय व तृतीय स्थान पाने वालों को दिए जायेंगे सांत्वना पुरस्कार।

'सिने पहेली' को और भी ज़्यादा मज़ेदार बनाने के लिए अगर आपके पास भी कोई सुझाव है तो 'सिने पहेली' के ईमेल आइडी पर अवश्य लिखें। आप सब भाग लेते रहिए, इस प्रतियोगिता का आनन्द लेते रहिए, क्योंकि महाविजेता बनने की लड़ाई अभी बहुत लम्बी है। आज के एपिसोड से जुड़ने वाले प्रतियोगियों के लिए भी 100% सम्भावना है महाविजेता बनने का। इसलिए मन लगाकर और नियमित रूप से (बिना किसी एपिसोड को मिस किए) सुलझाते रहिए हमारी सिने-पहेली, करते रहिए यह सिने मंथन, आज के लिए मुझे अनुमति दीजिए, अगले सप्ताह फिर मुलाक़ात होगी, नमस्कार। 

Saturday, February 9, 2013

'सिने पहेली' में आज गीत अपना धुन पराई


9 फ़रवरी, 2013
सिने-पहेली - 58  में आज 

पहचानिये कुछ प्रेरित गीतों को


'रेडियो प्लेबैक इण्डिया' के सभी पाठकों और श्रोताओं को सुजॉय चटर्जी का प्यार भरा नमस्कार। दोस्तों, पिछले दिनों मैं चण्डीगढ़ से नोएडा स्थानान्तरित हुआ हूँ और नया आलम ऐसा है कि दफ़्तर की व्यस्तता कुछ हद से ज़्यादा ही बढ़ गई है। जैसा कि शायद आज हर निजी कंपनी में होता होगा कि काम का दबाव बहुत ज़्यादा है, जो व्यक्तिगत जीवन पर असर डाल रही है। बच्चे के साथ खेलने का समय नहीं मिलता, पत्नी से दो बातें कहने बैठें तो फ़ोन की घण्टी बज उठती है और लैपटॉप ऑन करके दफ़्तर के काम में लग जाना पड़ता है। इस भागदौड़ भरी ज़िन्दगी में जहाँ थकना मना है, शुकर है 'सिने पहेली' मेरे साथ है जिसे आयोजित करते हुए मेरी सारी थकान दूर हो जाती है। आइए शुरू करें आज की 'सिने पहेली'।:


आज की पहेली : अरे दीवानों, इन्हे पहचानो



नीचे पाँच विदेशी गीतों के ऑडियो-विडियो दिये गये हैं। क्या आप बता सकते हैं कि इनकी धुनों से प्रेरित हिन्दी फ़िल्मी गीत कौन कौन से हैं? यानी आपको हर विदेशी गीत के लिए एक हिन्दी फ़िल्मी गीत बताने है जिसकी धुन उस विदेशी धुन से प्रेरित है। हर सही जवाब के लिए 2 अंक।











जवाब भेजने का तरीका


उपर पूछे गए सवालों के जवाब एक ही ई-मेल में टाइप करके cine.paheli@yahoo.com के पते पर भेजें। 'टिप्पणी' में जवाब कतई न लिखें, वो मान्य नहीं होंगे। ईमेल के सब्जेक्ट लाइन में "Cine Paheli # 58" अवश्य लिखें, और अंत में अपना नाम व स्थान लिखें। आपका ईमेल हमें बृहस्पतिवार 14 फ़रवरी शाम 5 बजे तक अवश्य मिल जाने चाहिए। इसके बाद प्राप्त होने वाली प्रविष्टियों को शामिल नहीं किया जाएगा।



पिछली पहेली का हल

दोस्तों, "ताजमहल" शब्दों से सजे कई सारे गीत आप सब ने सुझाये हैं, पूरी फ़ेहरिस्त मैं अगले अंक में शामिल करूँगा।


पिछली पहेली का परिणाम

इस बार 'सिने पहेली' में कुल 5 प्रतियोगियों ने भाग लिया। सबसे पहली 100% सही जवाब भेज कर इस बार 'सरताज प्रतियोगी' बने हैं लखनऊ के श्री चन्द्रकान्त दीक्षित। चन्द्रकान्त जी, बहुत बहुत बधाई आपको। आइए अब नज़र डालते हैं इस सेगमेण्ट के अब तक के सम्मिलित स्कोरकार्ड पर।




नये प्रतियोगियों का आह्वान

नये प्रतियोगी, जो इस मज़ेदार खेल से जुड़ना चाहते हैं, उनके लिए हम यह बता दें कि अभी भी देर नहीं हुई है। इस प्रतियोगिता के नियम कुछ ऐसे हैं कि किसी भी समय जुड़ने वाले प्रतियोगी के लिए भी पूरा-पूरा मौका है महाविजेता बनने का। अगले सप्ताह से नया सेगमेण्ट शुरू हो रहा है, इसलिए नये खिलाड़ियों का आज हम एक बार फिर आह्वान करते हैं। अपने मित्रों, दफ़्तर के साथी, और रिश्तेदारों को 'सिने पहेली' के बारे में बताएँ और इसमें भाग लेने का परामर्श दें। नियमित रूप से इस प्रतियोगिता में भाग लेकर महाविजेता बनने पर आपके नाम हो सकता है 5000 रुपये का नगद इनाम।


कैसे बना जाए 'सिने पहेली महाविजेता?

1. सिने पहेली प्रतियोगिता में होंगे कुल 100 एपिसोड्स। इन 100 एपिसोड्स को 10 सेगमेण्ट्स में बाँटा गया है। अर्थात्, हर सेगमेण्ट में होंगे 10 एपिसोड्स।

2. प्रत्येक सेगमेण्ट में प्रत्येक खिलाड़ी के 10 एपिसोड्स के अंक जुड़े जायेंगे, और सर्वाधिक अंक पाने वाले तीन खिलाड़ियों को सेगमेण्ट विजेताओं के रूप में चुन लिया जाएगा।

3. इन तीन विजेताओं के नाम दर्ज हो जायेंगे 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में। सेगमेण्ट में प्रथम स्थान पाने वाले को 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में 3 अंक, द्वितीय स्थान पाने वाले को 2 अंक, और तृतीय स्थान पाने वाले को 1 अंक दिया जायेगा। पाँचवें सेगमेण्ट की समाप्ति तक 'महाविजेता स्कोरकार्ड' यह रहा...





4. 10 सेगमेण्ट पूरे होने पर 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में दर्ज खिलाड़ियों में सर्वोच्च पाँच खिलाड़ियों में होगा एक ही एपिसोड का एक महा-मुकाबला, यानी 'सिने पहेली' का फ़ाइनल मैच। इसमें पूछे जायेंगे कुछ बेहद मुश्किल सवाल, और इसी फ़ाइनल मैच के आधार पर घोषित होगा 'सिने पहेली महाविजेता' का नाम। महाविजेता को पुरस्कार स्वरूप नकद 5000 रुपये दिए जायेंगे, तथा द्वितीय व तृतीय स्थान पाने वालों को दिए जायेंगे सांत्वना पुरस्कार।

'सिने पहेली' को और भी ज़्यादा मज़ेदार बनाने के लिए अगर आपके पास भी कोई सुझाव है तो 'सिने पहेली' के ईमेल आइडी पर अवश्य लिखें। आप सब भाग लेते रहिए, इस प्रतियोगिता का आनन्द लेते रहिए, क्योंकि महाविजेता बनने की लड़ाई अभी बहुत लम्बी है। आज के एपिसोड से जुड़ने वाले प्रतियोगियों के लिए भी 100% सम्भावना है महाविजेता बनने का। इसलिए मन लगाकर और नियमित रूप से (बिना किसी एपिसोड को मिस किए) सुलझाते रहिए हमारी सिने-पहेली, करते रहिए यह सिने मंथन, आज के लिए मुझे अनुमति दीजिए, अगले सप्ताह फिर मुलाक़ात होगी, नमस्कार। 

Saturday, February 2, 2013

'सिने पहेली' में आज ताज महल का ज़िक्र


2 फ़रवरी, 2013
सिने-पहेली - 57  में आज 

याद कीजिये 'ताजमहल' वाले गीतों को


'रेडियो प्लेबैक इण्डिया' के सभी पाठकों और श्रोताओं को सुजॉय चटर्जी का प्यार भरा नमस्कार। दोस्तों, दुनिया के सात अजूबों में एक अजूबा है 'ताज महल'। ताज महल को प्रेम का स्मारक (Monument of Love) भी कहा गया है। इससे बेहतरीन प्यार की निशानी और कोई हो ही नहीं सकती। सन्‍ -1631 में जब मुग़ल बादशाह शाहजहाँ की तीसरी पत्नी मुमताज़ महल की 14-वीं सन्तान (गौहरा बेगम) के जन्म के समय मृत्यु हो गई, तब शाहजहाँ शोक में डूब गए थे। मुमताज़ के प्रति उनके दिल में इतना प्यार था कि इसके अगली ही साल, 1632 में उन्होंने मुमताज़ की याद में 'ताज महल' के निर्माण का कार्य शुरू कर दिया। इसका निर्माण 1648 में जा कर सम्पन्न हुआ, और इसके आस-पास की इमारतों और बगीचों के निर्माण में और 5 साल लग गए। शाहजहाँ ने ताज महल की कुछ इन शब्दों में व्याख्या की थी :


"Should guilty seek asylum here,
Like one pardoned, he becomes free from sin.
Should a sinner make his way to this mansion,
All his past sins are to be washed away.
The sight of this mansion creates sorrowing sighs;
And the sun and the moon shed tears from their eyes.
In this world this edifice has been made;
To display thereby the creator's glory."

दोस्तों, आप सोच रहे होंगे कि 'सिने पहेली' में अचानक आज ताज महल की बातें क्यों? दरसल बात ऐसी है कि आज की पहेली ताज महल के इर्द गिर्द ही घूमेगी। तो आइये, और समय गँवाये बिना सीधे पहुँच जाते हैं आज की पहेली पर।


आज की पहेली : ताज के तराने


दोस्तों, हमारी फ़िल्मों का आधार नायक-नायिका के प्रेम संबंध पर ही केन्द्रित होती आयी है। ऐसे में सबसे बड़ी प्रेम की निशानी, ताज महल, का उल्लेख और चित्रण भी फ़िल्मों में होता आया है। लेकिन अगर फ़िल्मी गीतों की बात करें तो कितने ऐसे गीत आप बता सकते हैं जिनमें 'ताज महल' का शाब्दिक उल्लेख हुआ है? चलिए ज़्यादा न सही, पर कम से कम पाँच गीत तो आप सुझा ही सकते हैं, क्यों? जी हाँ, यही है आज का सवाल। आपको पाँच ऐसे फ़िल्मी गीत बताने हैं जिनके मुखड़े या अन्तरे में 'ताज महल' शब्द आते हैं। हर सही गीत के लिए 2 अंक दिये जायेंगे।


जवाब भेजने का तरीका

उपर पूछे गए सवालों के जवाब एक ही ई-मेल में टाइप करके cine.paheli@yahoo.com के पते पर भेजें। 'टिप्पणी' में जवाब कतई न लिखें, वो मान्य नहीं होंगे। ईमेल के सब्जेक्ट लाइन में "Cine Paheli # 57" अवश्य लिखें, और अंत में अपना नाम व स्थान लिखें। आपका ईमेल हमें बृहस्पतिवार 7 फ़रवरी  शाम 5 बजे तक अवश्य मिल जाने चाहिए। इसके बाद प्राप्त होने वाली प्रविष्टियों को शामिल नहीं किया जाएगा।


पिछली पहेली का हल


1. "सुबह सवेरे सबसे पहले बोलो राम राम... मेरे देशवासियों, अपने देश को सम्भालो" (फ़िल्म: देशवासी, गायक: नितिन मुकेश, अनुराधा पौडवाल, साथी)

2. "चलो झूमते सर से बाँधे कफ़न, लहू माँगती है ज़मीने वतन" (फ़िल्म: काबुली ख़ान, अभिनेत्री: हेलेन)

3. "देखो वीर जवानो" (फ़िल्म 'आक्रमण') व "दे दी हमें आज़ादी" (फ़िल्म: 'जागृति')

4. "मेरे देश की धरती" (फ़िल्म: उपकार, गीतकार: गुल्शन बावरा)



पिछली पहेली का परिणाम

इस बार 'सिने पहेली' में कुल 7 प्रतियोगियों ने भाग लिया। सबसे पहली 100% सही जवाब भेज कर इस बार 'सरताज प्रतियोगी' बने हैं बीकानेर के श्री विजय कुमार व्यास। विजय जी, बहुत बहुत बधाई आपको। इस बार हमें निराशा हुई कि नियमित खिलाड़ी क्षिति तिवारी जी प्रतियोगिता में भाग नहीं ले सकीं। फिर भी वो तीसरे पायदान पर विराजमान हैं। आइए अब नज़र डालते हैं इस सेगमेण्ट के अब तक के सम्मिलित स्कोरकार्ड पर।




नये प्रतियोगियों का आह्वान

नये प्रतियोगी, जो इस मज़ेदार खेल से जुड़ना चाहते हैं, उनके लिए हम यह बता दें कि अभी भी देर नहीं हुई है। इस प्रतियोगिता के नियम कुछ ऐसे हैं कि किसी भी समय जुड़ने वाले प्रतियोगी के लिए भी पूरा-पूरा मौका है महाविजेता बनने का। अगले सप्ताह से नया सेगमेण्ट शुरू हो रहा है, इसलिए नये खिलाड़ियों का आज हम एक बार फिर आह्वान करते हैं। अपने मित्रों, दफ़्तर के साथी, और रिश्तेदारों को 'सिने पहेली' के बारे में बताएँ और इसमें भाग लेने का परामर्श दें। नियमित रूप से इस प्रतियोगिता में भाग लेकर महाविजेता बनने पर आपके नाम हो सकता है 5000 रुपये का नगद इनाम।


कैसे बना जाए 'सिने पहेली महाविजेता?

1. सिने पहेली प्रतियोगिता में होंगे कुल 100 एपिसोड्स। इन 100 एपिसोड्स को 10 सेगमेण्ट्स में बाँटा गया है। अर्थात्, हर सेगमेण्ट में होंगे 10 एपिसोड्स।

2. प्रत्येक सेगमेण्ट में प्रत्येक खिलाड़ी के 10 एपिसोड्स के अंक जुड़े जायेंगे, और सर्वाधिक अंक पाने वाले तीन खिलाड़ियों को सेगमेण्ट विजेताओं के रूप में चुन लिया जाएगा।

3. इन तीन विजेताओं के नाम दर्ज हो जायेंगे 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में। सेगमेण्ट में प्रथम स्थान पाने वाले को 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में 3 अंक, द्वितीय स्थान पाने वाले को 2 अंक, और तृतीय स्थान पाने वाले को 1 अंक दिया जायेगा। पाँचवें सेगमेण्ट की समाप्ति तक 'महाविजेता स्कोरकार्ड' यह रहा...



4. 10 सेगमेण्ट पूरे होने पर 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में दर्ज खिलाड़ियों में सर्वोच्च पाँच खिलाड़ियों में होगा एक ही एपिसोड का एक महा-मुकाबला, यानी 'सिने पहेली' का फ़ाइनल मैच। इसमें पूछे जायेंगे कुछ बेहद मुश्किल सवाल, और इसी फ़ाइनल मैच के आधार पर घोषित होगा 'सिने पहेली महाविजेता' का नाम। महाविजेता को पुरस्कार स्वरूप नकद 5000 रुपये दिए जायेंगे, तथा द्वितीय व तृतीय स्थान पाने वालों को दिए जायेंगे सांत्वना पुरस्कार।

'सिने पहेली' को और भी ज़्यादा मज़ेदार बनाने के लिए अगर आपके पास भी कोई सुझाव है तो 'सिने पहेली' के ईमेल आइडी पर अवश्य लिखें। आप सब भाग लेते रहिए, इस प्रतियोगिता का आनन्द लेते रहिए, क्योंकि महाविजेता बनने की लड़ाई अभी बहुत लम्बी है। आज के एपिसोड से जुड़ने वाले प्रतियोगियों के लिए भी 100% सम्भावना है महाविजेता बनने का। इसलिए मन लगाकर और नियमित रूप से (बिना किसी एपिसोड को मिस किए) सुलझाते रहिए हमारी सिने-पहेली, करते रहिए यह सिने मंथन, आज के लिए मुझे अनुमति दीजिए, अगले सप्ताह फिर मुलाक़ात होगी, नमस्कार। 

Saturday, January 12, 2013

जारी है 'सिने पहेली' का जंग, आप अब भी बन सकते हैं इसके जंगबाज़...



12 जनवरी, 2013
सिने-पहेली - 54  में आज 

पहचानिये 16 गीतों में छुपे गीत को

'रेडियो प्लेबैक इण्डिया' के सभी पाठकों और श्रोताओं को सुजॉय चटर्जी का सप्रेम नमस्कार। दोस्तों, पिछले दिनों 'सिने पहेली' के एक प्रतियोगी ने मुझसे कहा कि 'सिने पहेली' के सवालों से उन्हें तनाव महसूस होता है और सारे काम-काज छोड़ कर वो सप्ताह भर इसके जवाब तलाशते रहते हैं। 'सिने पहेली' की तरफ़ से मैं आपको और अन्य सभी प्रतियोगियों से यह कहना चाहता हूँ कि 'सिने पहेली' का उद्येश्य आपको तनाव में डालना कतई नहीं है, बल्कि इसमें भाग लेकर आप दूसरे तनावों से कुछ समय के लिए मुक्ति पा सकते हैं, ऐसा हमारा विचार है। हमने पहले भी कहा था, आज भी कहते हैं कि आप 'सिने पहली' के जवाब ढूंढने में ज़्यादा समय न गँवायें। इस खेल को खेल भावना से ही खेलें और ज़्यादा गंभीरता से न लें। 'सिने पहेली' की वजह से आपकी दिनचर्या में रूकावट उत्पन्न हो, यह उचित बात नहीं है। दिन में मनोरंजन के लिए आप जितना स्माय निकालते हैं, उतने समय में भी आप जितने सवालों के हल निकाल सकें, बस उतने के ही जवाब भेजें। चलिए अब पूछते हैं आपसे आज की पहेली...


आज की पहेली : सोलह का संगम


नीचे कुल 16 पंक्तियाँ दी गई हैं जो फ़िल्मी गीतों की पंक्तियाँ हैं। आपको पहली पंक्ति से कोई भी एक शब्द, दूसरी पंक्ति से कोई भी एक शब्द, तीसरी पंक्ति से कोई भी एक शब्द..... 16-वीं पंक्ति से कोई भी एक शब्द इस तरह से ढूंढने हैं कि इन सोलह शब्दों को उसी क्रम में सजाने पर लता मंगेशकर के गाये एक गीत का पूरा का पूरा मुखड़ा बन जाता है। दूसरे शब्दों में, इन सोलह पंक्तियों में से एक एक शब्द चुन कर सोलह शब्दों का एक मुखड़ा बनाना है जो कि लता जी का गाया हुआ एक गीत है। ये रही 16 गीतों की पंक्तियाँ...

1. तेरे नैना मेरे नैनों से मीठी-मीठी बातें करते हैं।

2. ओ मेरे दिल के चैन, चैन आये मेरे दिल को दुआ कीजिये।

3. प्यार के रंग से तू दिल को सजाये रखना।

4. रंग भरे बादल से, तेरे नैनों के काजल से, मैंने इस दिल पे लिख दिया तेरा नाम।

5. सपने सुहाने लड़कपन के, मेरे नैनों में डोले बहार बनके।

6. अब तेरे दिल में हम आ गये, तो? तेरे दिल में रहेंगे, तो?

7. बंसी की धुन सुन, आयी हूँ सजाने बलम तेरी गलियाँ 

8. फूलों के इस शहर में, ये दिल मचलने लगे, आये न कोई इधर, हम प्यार करने लगे।

9. क्या करते थे साजना तुम हमसे दूर रहके।

10. क्या ख़बर क्या पता क्या ख़ुशी है ग़म है क्या।

11. इस प्यार को मैं क्या नाम दूँ, बेचैन दिल को कैसे क़रार दूँ।

12. मेरे प्यार की उमर हो इतनी सनम, तेरे नाम से शुरू, तेरे नाम पे ख़तम।

13. ओ शमा मुझे फूंक दे, मैं न मैं रहूँ, तू न तू रहे, यही इश्क़ का है दस्तूर।

14. पानी पड़े तन पे तो शोला निकले, जाने कैसी अगन में बदन जले।

15. हमें और जीने की चाहत ना होती, अगर तुम न होते, अगर तुम न होते।

16. राधा कैसे न जले, आग तन मन में लगे।



पहेली को समझने में कोई परेशानी हो तो टिप्पणी में या ईमेल के द्वारा ज़रूर सूचित करें।



जवाब भेजने का तरीका

उपर पूछे गए सवालों के जवाब एक ही ई-मेल में टाइप करके cine.paheli@yahoo.com के पते पर भेजें। 'टिप्पणी' में जवाब कतई न लिखें, वो मान्य नहीं होंगे। ईमेल के सब्जेक्ट लाइन में "Cine Paheli # 54" अवश्य लिखें, और अंत में अपना नाम व स्थान लिखें। आपका ईमेल हमें बृहस्पतिवार 17 जनवरी शाम 5 बजे तक अवश्य मिल जाने चाहिए। इसके बाद प्राप्त होने वाली प्रविष्टियों को शामिल नहीं किया जाएगा।


पिछली पहेली का हल



1. आशा भोसले और राहुल देव बर्मन का गाया पहला युगल गीत है "मेरी जाँ मैंने कहा" (दि ट्रेन, 1970) और अंतिम युगल गीत है "आजा सुन ले सदा" (गुरुदेव, 1993)

2. लता मंगेशकर और आशा भोसले के गाये तथा पंचम के स्वरबद्ध 6 गीत:
"मितवा.........तेरे लिए जीना, तेरे लिए मरना" (फिल्‍म-शान, 1980); "सारे शहर में एक हसीं हैं, और वो मैं हूँ कोई और नहीं है" (फिल्‍म-अलीबाबा और 40 चोर, 1980); "मन मंदिर में प्रीत का डेरा, ना ही कोई दूजा" (फिल्‍म-संजोग,1972), "लौंगी मिर्ची मैं कोल्‍हापुर की" (फिल्‍म-अशांति, 1982); "मैं चली मैं चली, देखो प्‍यार की गली" (फिल्‍म-पडोसन, 1968); "पाके अकेली मोहे छेड रहा छलिया" (फिल्‍म-जेलयात्रा, 1981)

3. "कल तो सण्डे की छुट्टी है" (अगर तुम न होते)




पिछली पहेली का परिणाम


इस बार कुल 9 प्रतियोगियों ने 'सिने पहेली' में भाग लिया पर अफ़सोस कि किसी ने भी 100% सही जवाब नहीं भेज सके। हर किसी ने पहले सवाल के जवाब में आशा-पंचम का गाया अन्तिम युगल गीत 1983 की फ़िल्म 'महान' का "ये दिन तो आता है" बताया है, जबकि 1993 की फ़िल्म 'गुरुदेव' में भी इन दोनों ने एक युगल गीत गाया था "आज सुन ले सदा"। इस तरह से इस सप्ताह कोई भी सरताज प्रतियोगी नहीं बन पाये हैं। इस सप्ताह हमारे साथ एक नये प्रतियोगी जुड़े हैं, नोएडा के सौम्य प्रकाश परिदा। आपका बहुत बहुत स्वागत है 'सिने पहेली' परिवार में, और हम आशा करते हैं कि आप हमारे नियमित प्रतियोगी बन कर उभरेंगे। आइए अब नज़र डालते हैं इस सेगमेण्ट के अब तक के सम्मिलित स्कोरकार्ड पर।





नये प्रतियोगियों का आह्वान

नये प्रतियोगी, जो इस मज़ेदार खेल से जुड़ना चाहते हैं, उनके लिए हम यह बता दें कि अभी भी देर नहीं हुई है। इस प्रतियोगिता के नियम कुछ ऐसे हैं कि किसी भी समय जुड़ने वाले प्रतियोगी के लिए भी पूरा-पूरा मौका है महाविजेता बनने का। अगले सप्ताह से नया सेगमेण्ट शुरू हो रहा है, इसलिए नये खिलाड़ियों का आज हम एक बार फिर आह्वान करते हैं। अपने मित्रों, दफ़्तर के साथी, और रिश्तेदारों को 'सिने पहेली' के बारे में बताएँ और इसमें भाग लेने का परामर्श दें। नियमित रूप से इस प्रतियोगिता में भाग लेकर महाविजेता बनने पर आपके नाम हो सकता है 5000 रुपये का नगद इनाम।


कैसे बना जाए 'सिने पहेली महाविजेता?

1. सिने पहेली प्रतियोगिता में होंगे कुल 100 एपिसोड्स। इन 100 एपिसोड्स को 10 सेगमेण्ट्स में बाँटा गया है। अर्थात्, हर सेगमेण्ट में होंगे 10 एपिसोड्स।

2. प्रत्येक सेगमेण्ट में प्रत्येक खिलाड़ी के 10 एपिसोड्स के अंक जुड़े जायेंगे, और सर्वाधिक अंक पाने वाले तीन खिलाड़ियों को सेगमेण्ट विजेताओं के रूप में चुन लिया जाएगा।

3. इन तीन विजेताओं के नाम दर्ज हो जायेंगे 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में। सेगमेण्ट में प्रथम स्थान पाने वाले को 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में 3 अंक, द्वितीय स्थान पाने वाले को 2 अंक, और तृतीय स्थान पाने वाले को 1 अंक दिया जायेगा। पाँचवें सेगमेण्ट की समाप्ति तक 'महाविजेता स्कोरकार्ड' यह रहा...



4. 10 सेगमेण्ट पूरे होने पर 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में दर्ज खिलाड़ियों में सर्वोच्च पाँच खिलाड़ियों में होगा एक ही एपिसोड का एक महा-मुकाबला, यानी 'सिने पहेली' का फ़ाइनल मैच। इसमें पूछे जायेंगे कुछ बेहद मुश्किल सवाल, और इसी फ़ाइनल मैच के आधार पर घोषित होगा 'सिने पहेली महाविजेता' का नाम। महाविजेता को पुरस्कार स्वरूप नकद 5000 रुपये दिए जायेंगे, तथा द्वितीय व तृतीय स्थान पाने वालों को दिए जायेंगे सांत्वना पुरस्कार।

'सिने पहेली' को और भी ज़्यादा मज़ेदार बनाने के लिए अगर आपके पास भी कोई सुझाव है तो 'सिने पहेली' के ईमेल आइडी पर अवश्य लिखें। आप सब भाग लेते रहिए, इस प्रतियोगिता का आनन्द लेते रहिए, क्योंकि महाविजेता बनने की लड़ाई अभी बहुत लम्बी है। आज के एपिसोड से जुड़ने वाले प्रतियोगियों के लिए भी 100% सम्भावना है महाविजेता बनने का। इसलिए मन लगाकर और नियमित रूप से (बिना किसी एपिसोड को मिस किए) सुलझाते रहिए हमारी सिने-पहेली, करते रहिए यह सिने मंथन, आज के लिए मुझे अनुमति दीजिए, अगले सप्ताह नए साल में फिर मुलाक़ात होगी, नमस्कार। 

Saturday, January 5, 2013

पंचम के रंग में रंगी है आज की 'सिने पहेली'


5 जनवरी, 2013
सिने-पहेली - 53  में आज 

पहचानिये पंचम  के कुछ गीतों को

'रेडियो प्लेबैक इण्डिया' के सभी पाठकों और श्रोताओं को सुजॉय चटर्जी का सप्रेम नमस्कार, और आप सभी को नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएँ। दोस्तों, इन दिनों समूचे उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। कई जगहों पर न्यूनतम तापमान 2 डिग्री तक पहुँच गया है। इस मौसम में छुट्टी का दिन हो, हाथ में गरम चाय का प्याला हो, सामने प्लेट पर गरमागरम पकौड़े हों, और सामने कम्प्यूटर स्क्रीन पर ताज़ी 'सिने पहेली' का पेज खुला हो तो भई क्या बात है, नहीं? ख़ैर, छठे सेगमेण्ट की पहली कड़ी में प्रतियोगियों की भागीदारी में जो कमी आई थी, पिछली कड़ी में उसमें कुछ बढ़ौत्री हुई है, और हम यह आशा करते हैं कि आने वाले सप्ताहों में यह फिर से अपनी पूराने शक्ल में आ जायेगी। बढ़ते हैं आज की पहेली की ओर।.




दोस्तों, कल यानी 4 जनवरी को संगीतकार राहुल देव बर्मन के याद का दिन था। राहुल देव बर्मन, या पंचम, का नाम क्रान्तिकारी संगीतकार के रूप में लिया जाता है। पाँच चिन्हित क्रान्तिकारी संगीतकारों के बाकी चार नाम हैं मास्टर गुलाम हैदर, सी. रामचन्द्र, ओ.पी. नय्यर और ए. आर. रहमान। इस तरह से 'सिने पहेली' में आज के अंक को पंचम के नाम समर्पित करना आवश्यक हो जाता है। तो आइए आज आप से पूछें पंचम के रंग में रंगी हुई यह 'सिने पहेली'।


आज की पहेली : पंचम पहेली


सवाल-1: आशा भोसले और पंचम के गाये प्रथम और अन्तिम युगल गीत कौन से थे? (2 अंक)

सवाल-2: पंचम द्वारा स्वरबद्ध लता मंगेशकर और आशा भोसले के गाये 6 युगल गीत बतायें। (6 अंक)

सवाल-3: Its a Sunday song. But the song was supposed to be sung on a Saturday. किस गीत की बात हो रही है यह? (2 अंक)


जवाब भेजने का तरीका

उपर पूछे गए सवालों के जवाब एक ही ई-मेल में टाइप करके cine.paheli@yahoo.com के पते पर भेजें। 'टिप्पणी' में जवाब कतई न लिखें, वो मान्य नहीं होंगे। ईमेल के सब्जेक्ट लाइन में "Cine Paheli # 53" अवश्य लिखें, और अंत में अपना नाम व स्थान लिखें। आपका ईमेल हमें बृहस्पतिवार 10 जनवरी शाम 5 बजे तक अवश्य मिल जाने चाहिए। इसके बाद प्राप्त होने वाली प्रविष्टियों को शामिल नहीं किया जाएगा।


पिछली पहेली का हल


1. रीतेश देशमुख, तुषार कपूर
2. इलियाना डिक्रूज, रणबीर कपूर, प्रियंका चौपड़ा
3. जैकी भगनानी, निधि सुबैय्या
4. आर. माधवन
5. विवेक ओबेराय, मल्लिका शेरावत

पिछली पहेली का परिणाम

इस बार कुल 8 प्रतियोगियों ने 'सिने पहेली' में भाग लिया। सबसे पहले 100% सही जवाब भेज कर 'सरताज प्रतियोगी' का खिताब जीता है पिट्सबर्ग के महेश बसन्तनी ने। महेश जी, बहुत बहुत बधाई आपको। और यह रहा विस्तारित परिणाम...



नये प्रतियोगियों का आह्वान

नये प्रतियोगी, जो इस मज़ेदार खेल से जुड़ना चाहते हैं, उनके लिए हम यह बता दें कि अभी भी देर नहीं हुई है। इस प्रतियोगिता के नियम कुछ ऐसे हैं कि किसी भी समय जुड़ने वाले प्रतियोगी के लिए भी पूरा-पूरा मौका है महाविजेता बनने का। अगले सप्ताह से नया सेगमेण्ट शुरू हो रहा है, इसलिए नये खिलाड़ियों का आज हम एक बार फिर आह्वान करते हैं। अपने मित्रों, दफ़्तर के साथी, और रिश्तेदारों को 'सिने पहेली' के बारे में बताएँ और इसमें भाग लेने का परामर्श दें। नियमित रूप से इस प्रतियोगिता में भाग लेकर महाविजेता बनने पर आपके नाम हो सकता है 5000 रुपये का नगद इनाम।


कैसे बना जाए 'सिने पहेली महाविजेता?

1. सिने पहेली प्रतियोगिता में होंगे कुल 100 एपिसोड्स। इन 100 एपिसोड्स को 10 सेगमेण्ट्स में बाँटा गया है। अर्थात्, हर सेगमेण्ट में होंगे 10 एपिसोड्स।

2. प्रत्येक सेगमेण्ट में प्रत्येक खिलाड़ी के 10 एपिसोड्स के अंक जुड़े जायेंगे, और सर्वाधिक अंक पाने वाले तीन खिलाड़ियों को सेगमेण्ट विजेताओं के रूप में चुन लिया जाएगा।

3. इन तीन विजेताओं के नाम दर्ज हो जायेंगे 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में। सेगमेण्ट में प्रथम स्थान पाने वाले को 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में 3 अंक, द्वितीय स्थान पाने वाले को 2 अंक, और तृतीय स्थान पाने वाले को 1 अंक दिया जायेगा। पाँचवें सेगमेण्ट की समाप्ति तक 'महाविजेता स्कोरकार्ड' यह रहा...



4. 10 सेगमेण्ट पूरे होने पर 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में दर्ज खिलाड़ियों में सर्वोच्च पाँच खिलाड़ियों में होगा एक ही एपिसोड का एक महा-मुकाबला, यानी 'सिने पहेली' का फ़ाइनल मैच। इसमें पूछे जायेंगे कुछ बेहद मुश्किल सवाल, और इसी फ़ाइनल मैच के आधार पर घोषित होगा 'सिने पहेली महाविजेता' का नाम। महाविजेता को पुरस्कार स्वरूप नकद 5000 रुपये दिए जायेंगे, तथा द्वितीय व तृतीय स्थान पाने वालों को दिए जायेंगे सांत्वना पुरस्कार।

'सिने पहेली' को और भी ज़्यादा मज़ेदार बनाने के लिए अगर आपके पास भी कोई सुझाव है तो 'सिने पहेली' के ईमेल आइडी पर अवश्य लिखें। आप सब भाग लेते रहिए, इस प्रतियोगिता का आनन्द लेते रहिए, क्योंकि महाविजेता बनने की लड़ाई अभी बहुत लम्बी है। आज के एपिसोड से जुड़ने वाले प्रतियोगियों के लिए भी 100% सम्भावना है महाविजेता बनने का। इसलिए मन लगाकर और नियमित रूप से (बिना किसी एपिसोड को मिस किए) सुलझाते रहिए हमारी सिने-पहेली, करते रहिए यह सिने मंथन, आज के लिए मुझे अनुमति दीजिए, अगले सप्ताह नए साल में फिर मुलाक़ात होगी,  आप सभी के लिए नया साल शुभ हो, इसी आशा के साथ,  नमस्कार। 

Saturday, December 29, 2012

वर्ष की अंतिम 'सिने पहेली' में आज 2012 की फ़िल्मों से जुड़ी पहेली


29 दिसम्बर, 2012
सिने-पहेली - 52  में आज 

पहचानिये 2012 के कुछ फ़िल्मी चेहरों को

'रेडियो प्लेबैक इण्डिया' के सभी पाठकों और श्रोताओं को सुजॉय चटर्जी का सप्रेम नमस्कार। 'सिने पहेली' की 50-वीं कड़ी को लेकर जो विवाद/ गतिरोध उत्पन्न हुआ है, यह निर्णय लिया गया था कि प्रतियोगियों के मतदान के द्वारा इस निर्णय तक पहुँचा जाये कि उस एपिसोड को निरस्त कर दोबारा प्रस्तुत किया जाये या नहीं। कुल 12 प्रतियोगियों ने मतदान किया है और आश्चर्यजनक रूप से 6 प्रतियोगियों ने पक्ष में और 6 प्रतियोगियों ने विपक्ष में मतदान किया है। दूसरे शब्दों में मतदान से भी कोई रास्ता हमें नहीं मिल पाया है। अत: हमने यह फ़ैसला लिया है कि 'सिने पहेली-50' को प्रतियोगिता से पूरी तरह से हटा दिया जाये, तथा 41 से लेकर 49-वीं कड़ियों के परिणामों के आधार पर ही पाँचवें सेगमेण्ट के विजेता घोषित किये जायें। तो ये रहे 'सिने पहेली' के पाँचवें सेगमेण्ट के विजेताओं के नाम...


प्रथम स्थान

गौतम केवलिया, बीकानेर 
क्षिति तिवारी, जबलपुर
विजय कुमार व्यास, बीकानेर

द्वितीय स्थान

पंकज मुकेश, बेंगलुरू
प्रकाश गोविंद, लखनऊ

तृतीय स्थान

महेश बसन्तनी, पिट्सबर्ग


पाँचवें सेगमेण्ट का सम्मिलित स्कोरकार्ड इस प्रकार रहा...



पाँचवे सेगमेण्ट की समाप्ति पर 'महाविजेता स्कोरकार्ड' यह रहा...



 सभी विजेताओं और पाँचवें सेगमेण्ट के सभी प्रतिभागियों को बधाई और अगले सेगमेण्ट के लिए शुभकामनायें।


दोस्तों, अब 'सिने पहेली' के सफ़र में आगे बढ़ते हैं। पिछले सप्ताह से हमने कदम रखे हैं 'सिने पहेली' के छठे सेगमेण्ट में। आइए आज इस सेगमेण्ट की दूसरी कड़ी, यानी 'सिने पहेली' की 52-वीं कड़ी में आपसे पूछें साल 2012 की फ़िल्मों से जुड़े सवाल। क्योंकि आज इस साल की अन्तिम 'सिने पहेली' है, इसलिए इससे बेहतर आज की पहेली भला और क्या हो सकती है।


आज की पहेली : 10 चेहरे 2012 के


नीचे हमने 2012 में प्रदर्शित कुछ हिन्दी फ़िल्मों की तस्वीरें दिखा रखे हैं। इनमें से कुछ चेहरों को हमने छुपा दिया है। आपको पहचानने हैं इन छुपे चेहरों को। कुल 10 चेहरे हैं, हर चेहरे के लिए 1 अंक दिये जायेंगे।









जवाब भेजने का तरीका


उपर पूछे गए सवालों के जवाब एक ही ई-मेल में टाइप करके cine.paheli@yahoo.com के पते पर भेजें। 'टिप्पणी' में जवाब कतई न लिखें, वो मान्य नहीं होंगे। ईमेल के सब्जेक्ट लाइन में "Cine Paheli # 52" अवश्य लिखें, और अंत में अपना नाम व स्थान लिखें। आपका ईमेल हमें बृहस्पतिवार 3 जनवरी शाम 5 बजे तक अवश्य मिल जाने चाहिए। इसके बाद प्राप्त होने वाली प्रविष्टियों को शामिल नहीं किया जाएगा।



पिछली पहेली का हल

1. रणवीर सिंह
2. कुणाल कपूर
3. उपेन पटेल
4. दिनो मोरेयो
5. जावेद अली
6. रीतेश देशमुख
7. अर्जुन रामपाल
8. सोनू निगम
9. आतिफ़ असलम
10. कुणाल खेमू


पिछली पहेली का परिणाम

इस बार कुल 6 प्रतियोगियों ने 'सिने पहेली' में भाग लिया। सबसे पहले 100% सही जवाब भेज कर 'सरताज प्रतियोगी' का खिताब जीता है बीकानेर के हमारे नियमित प्रतियोगी विजय कुमार व्यास ने। विजय जी, बहुत बहुत बधाई आपको। और यह रहा विस्तारित परिणाम...



नये प्रतियोगियों का आह्वान

नये प्रतियोगी, जो इस मज़ेदार खेल से जुड़ना चाहते हैं, उनके लिए हम यह बता दें कि अभी भी देर नहीं हुई है। इस प्रतियोगिता के नियम कुछ ऐसे हैं कि किसी भी समय जुड़ने वाले प्रतियोगी के लिए भी पूरा-पूरा मौका है महाविजेता बनने का। अगले सप्ताह से नया सेगमेण्ट शुरू हो रहा है, इसलिए नये खिलाड़ियों का आज हम एक बार फिर आह्वान करते हैं। अपने मित्रों, दफ़्तर के साथी, और रिश्तेदारों को 'सिने पहेली' के बारे में बताएँ और इसमें भाग लेने का परामर्श दें। नियमित रूप से इस प्रतियोगिता में भाग लेकर महाविजेता बनने पर आपके नाम हो सकता है 5000 रुपये का नगद इनाम। 

'सिने पहेली' को और भी ज़्यादा मज़ेदार बनाने के लिए अगर आपके पास भी कोई सुझाव है तो 'सिने पहेली' के ईमेल आइडी पर अवश्य लिखें। आप सब भाग लेते रहिए, इस प्रतियोगिता का आनन्द लेते रहिए, क्योंकि महाविजेता बनने की लड़ाई अभी बहुत लम्बी है। आज के एपिसोड से जुड़ने वाले प्रतियोगियों के लिए भी 100% सम्भावना है महाविजेता बनने का। इसलिए मन लगाकर और नियमित रूप से (बिना किसी एपिसोड को मिस किए) सुलझाते रहिए हमारी सिने-पहेली, करते रहिए यह सिने मंथन, आज के लिए मुझे अनुमति दीजिए, अगले सप्ताह नए साल में फिर मुलाक़ात होगी,  आप सभी के लिए नया साल शुभ हो, इसी आशा के साथ,  नमस्कार। 

Saturday, December 22, 2012

'सिने पहेली' में आज क्रिस्मस स्पेशल


22 दिसम्बर, 2012
सिने-पहेली - 51  में आज 

पहचानिये सैण्टा क्लॉस के पीछे छुपे चेहरों को


'रेडियो प्लेबैक इण्डिया' के सभी पाठकों और श्रोताओं को सुजॉय चटर्जी का सप्रेम नमस्कार। दोस्तों, पिछली कड़ी में हमने आपसे जो सवाल पूछा था, उसके जो जवाब आप सब ने भेजे हैं, उसे देख कर हम सचमुच चकित रह गए हैं। हमने तो यही सोचा था कि आप ज़्यादा से ज़्यादा 40-50 गीत चुन कर भेजेंगे, पर आप में से कई प्रतियोगियों ने तो इससे कई गुणा अधिक गीत लिख कर भेजे हैं। पर दोस्तों, कई बार क्या होता है कि क्वान्टिटी के अधिक होने से क्वालिटी पर असर पड़ता है, आप सब के साथ भी वही हुआ। बिना जाँच-पड़ताल किए सीधे इंटरनेट से उपलब्ध जानकारी के अनुसार गीतों की सूची भेजने की वजह से कई गीत आप ने ग़लत भी भेज दिए हैं। तीन गायकों वाले कुछ गीतों में चौथा नाम डाल कर भी कुछ गीत आये हैं (उदाहरण - फ़िल्म 'राम लखन' के गीत "माइ नेम इज़ लखन" को मोहम्मद अज़ीज़, अनुराधा पौडवाल और नितिन मुकेश ने गाया है, जबकि कुछ प्रतियोगियों ने अनुराधा श्रीराम का नाम भी शामिल कर दिया है, जो ग़लत है)। इसी तरह से पाँच गायकों वाले गीत में से एक नाम हटा कर भी कुछ गीत हमें मिले हैं (उदाहरण - "दुक्की पे दुक्की हो या सत्ते पे सत्ता", "मिस्टर लोवा लोवा तेरी आंखों का जादू" आदि)। कुछ प्रतियोगियों ने एक ही गीत को एकाधिक बार अपनी सूची में शामिल किया है। एक प्रतियोगी ने तो एक गीत को तीन बार लिखा है। इन सब के चलते केवल दो दिनों में पिछली पहेली के परिणाम व विजेताओं की घोषणा कर पाना हमारे लिए असंभव हो गया है। हम आपके द्वारा भेजे गये हर गीत की जाँच कर रहे हैं, और यह जाँच पूरी होने पर ही 'सिने पहेली-50' के विजेताओं के नाम घोषित किए जायेंगे। सम्भवत: अगली कड़ी या उसकी अगली कड़ी में यह संभव हो पाएगा।

'सिने पहेली - 50' तथा पाँचवे सेगमेण्ट के परिणामों की घोषणा 29 दिसंबर अथवा 5 जनवरी के अंक में की जाएगी। इस विलम्ब के लिए हम क्षमाप्रार्थी हैं।


तो चलिए 'सिने पहेली' के सफ़र में आगे बढ़ते हैं और शुरू करते हैं इस प्रतियोगिता का छ्ठा सेगमेण्ट, अर्थात् 'सिने पहेली - 51'। क्योंकि नये सेगमेण्ट की शुरुआत हो रही है, इसलिए हम नये प्रतियोगियों का एक बार फिर से आह्वान करना चाहेंगे...


नये प्रतियोगियों का आह्वान

नये प्रतियोगी, जो इस मज़ेदार खेल से जुड़ना चाहते हैं, उनके लिए हम यह बता दें कि अभी भी देर नहीं हुई है। इस प्रतियोगिता के नियम कुछ ऐसे हैं कि किसी भी समय जुड़ने वाले प्रतियोगी के लिए भी पूरा-पूरा मौका है महाविजेता बनने का। अगले सप्ताह से नया सेगमेण्ट शुरू हो रहा है, इसलिए नये खिलाड़ियों का आज हम एक बार फिर आह्वान करते हैं। अपने मित्रों, दफ़्तर के साथी, और रिश्तेदारों को 'सिने पहेली' के बारे में बताएँ और इसमें भाग लेने का परामर्श दें। नियमित रूप से इस प्रतियोगिता में भाग लेकर महाविजेता बनने पर आपके नाम हो सकता है 5000 रुपये का नगद इनाम। अब महाविजेता कैसे बना जाये, आइए इस बारे में आपको बतायें।

आज की पहेली : 'मेरी' क्रिस्मस, तेरी पहेली


'सिने पहेली' के सभी प्रतियोगियों को हमारी तरफ़ से क्रिस्मस की हार्दिक शुभकामनायें। सैण्टा क्लॉस क्रिस्मस का अभिन्न अंग हैं। सैण्टा के बिना बच्चों और बड़ों, सब की क्रिस्मस अधूरी है। इसलिए आज की पहेली को तैयार करने में सैण्टा क्लॉस का ही हमने सहारा लिया है। हमने दस अभिनेता और गायकों को सैण्टा का जामा पहनाया है, अब आपको इस अभिनेताओं व गायकों की शिनाक्त करनी है। तो ये रहे वो दस कलाकार, ध्यान से इन तसवीरों को देखिये और पहचानिये सैण्टा क्लॉस के पीछे छुपे इन चेहरों को....













जवाब भेजने का तरीका

उपर पूछे गए सवालों के जवाब एक ही ई-मेल में टाइप करके cine.paheli@yahoo.com के पते पर भेजें। 'टिप्पणी' में जवाब कतई न लिखें, वो मान्य नहीं होंगे। ईमेल के सब्जेक्ट लाइन में "Cine Paheli # 51" अवश्य लिखें, और अन्त में अपना नाम व स्थान लिखें। आपका ईमेल हमें गुरुवार, 27 दिसम्बर, शाम 5 बजे तक अवश्य मिल जाने चाहिए। इसके बाद प्राप्त होने वाली प्रविष्टियों को शामिल नहीं किया जाएगा।



कैसे बना जाए 'सिने पहेली महाविजेता'

1. सिने पहेली प्रतियोगिता में होंगे कुल 100 एपिसोड्स। इन 100 एपिसोड्स को 10 सेगमेण्ट्स में बाँटा गया है। अर्थात्, हर सेगमेण्ट में होंगे 10 एपिसोड्स।

2. प्रत्येक सेगमेण्ट में प्रत्येक खिलाड़ी के 10 एपिसोड्स के अंक जुड़े जायेंगे, और सर्वाधिक अंक पाने वाले तीन खिलाड़ियों को सेगमेण्ट विजेताओं के रूप में चुन लिया जाएगा।

3. इन तीन विजेताओं के नाम दर्ज हो जायेंगे 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में। सेगमेण्ट में प्रथम स्थान पाने वाले को 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में 3 अंक, द्वितीय स्थान पाने वाले को 2 अंक, और तृतीय स्थान पाने वाले को 1 अंक दिया जायेगा। चौथे सेगमेण्ट की समाप्ति तक 'महाविजेता स्कोरकार्ड' यह रहा...


4. 10 सेगमेण्ट पूरे होने पर 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में दर्ज खिलाड़ियों में सर्वोच्च पाँच खिलाड़ियों में होगा एक ही एपिसोड का एक महा-मुकाबला, यानी 'सिने पहेली' का फ़ाइनल मैच। इसमें पूछे जायेंगे कुछ बेहद मुश्किल सवाल, और इसी फ़ाइनल मैच के आधार पर घोषित होगा 'सिने पहेली महाविजेता' का नाम। महाविजेता को पुरस्कार स्वरूप नकद 5000 रुपये दिए जायेंगे, तथा द्वितीय व तृतीय स्थान पाने वालों को दिए जायेंगे सांत्वना पुरस्कार।


'सिने पहेली' को और भी ज़्यादा मज़ेदार बनाने के लिए अगर आपके पास भी कोई सुझाव है तो 'सिने पहेली' के ईमेल आइडी पर अवश्य लिखें। आप सब भाग लेते रहिए, इस प्रतियोगिता का आनन्द लेते रहिए, क्योंकि महाविजेता बनने की लड़ाई अभी बहुत लम्बी है। आज के एपिसोड से जुड़ने वाले प्रतियोगियों के लिए भी 100% सम्भावना है महाविजेता बनने का। इसलिए मन लगाकर और नियमित रूप से (बिना किसी एपिसोड को मिस किए) सुलझाते रहिए हमारी सिने-पहेली, करते रहिए यह सिने मंथन, आज के लिए मुझे अनुमति दीजिए, अगले सप्ताह फिर मुलाक़ात होगी, आप सभी को एक बार फिर से "मेरी क्रिस्मस",  नमस्कार। 



Saturday, December 15, 2012

आज हो रहा है 'सिने पहेली' का आधा सफ़र पूरा


15 दिसम्बर, 2012
सिने-पहेली - 50  में आज 

चार गायकों द्वारा गाये गये कितने गीत याद हैं आपको?



'रेडियो प्लेबैक इण्डिया' के सभी पाठकों और श्रोताओं को सुजॉय चटर्जी का सप्रेम नमस्कार। दोस्तों, आज की 'सिने पहेली' का यह अंक इस स्तंभ के लिए एक अहम मुकाम है क्योंकि आज इस स्तंभ, इस प्रतियोगिता का आधा सफ़र हो रहा है पूरा। पहेलियाँ सुलझाते हुए 100 कड़ियों की इस प्रतियोगिता के 50-वें पड़ाव पर हम आज आ पहुँचे हैं। जिन प्रतियोगियों ने इस सफ़र में हमारे हमसफ़र बने हैं, उन्हें हम धन्यवाद देते हैं। कुछ प्रतियोगी शुरू से लेकर अब तक जुड़े हुए हैं तो कुछ प्रतियोगी हमसे दूर चले गए हैं, और कुछ प्रतियोगी बाद में जुड़ कर हमारे साथ अब तक बने हुए हैं। सभी प्रतियोगियों से निवेदन है कि प्रतियोगिता को बीच में छोड़ कर न जायें क्योंकि इस प्रतियोगिता के नियम कुछ ऐसे बनाये गये हैं कि हर प्रतियोगी के लिए अब भी पूरी-पूरी संभावना है महाविजेता बनने की। और यही बात नये प्रतियोगियों के लिए भी लागू होती है, जिनका हम अलग से हर कड़ी में आह्वान करते हैं।


'सिने पहेली' के पाँचवें सेगमेण्ट में हमारी पहेलियाँ पिछले सेगमेण्टों से बहुत ज़्यादा आसान रही, इसका अंदाज़ा हमें आपके द्वारा अर्जित किये अंकों को देख कर जान पड़ता है। बस एक कड़ी बाकी है इस सेगमेण्ट के मुकाम तक पहुँचने के लिए, पर अब भी तीन-तीन महारथी शीर्षस्थान पर विराजमान हैं। इसलिए हमने सोचा कि क्यों न आज की पहेली के कुल अंक का निर्धारण आप प्रतियोगियों पर ही छोड़ा जाये! क्या ख़याल है? तो लीजिये प्रस्तुत है आज की पहेली...

आज की पहेली : चार महारथी



जैसा कि उपर हमने बताया, आज की पहेली के कुल अंक का निर्धारण हम नहीं, बल्कि आप करेंगे, इसका अर्थ यह है कि आज की पहेली में पूछे गये प्रश्न के आप जितने ज़्यादा जवाब देंगे उतने अंक आपको मिलेंगे। और यह रहा आज का सवाल -

आपको ऐसे फ़िल्मी गीतों की सूची बनाकर भेजनी है जिन्हें कुल चार गायक/गायिकाओं ने गाये हैं। न इससे कम, न इससे ज़्यादा। 

हाँ, इन चार मुख्य आवाज़ों के अतिरिक्त "कोरस" ज़रूर शामिल हो सकते हैं, पर गीत के क्रेडिट में कुल चार नाम ही होने चाहिए। 

ध्यान रहे, गीत में फ़िल्मी अभिनेता/अभिनेत्री की आवाज़ों को गायक/गायिका नहीं माने जायेंगे। उदाहरणस्वरूप, फ़िल्म 'आँधी' के गीत "तेरे बिना ज़िंदगी से..." में लता, किशोर, संजीव कुमार और सुचित्रा सेन की आवाज़ें हैं, इस गीत को हम स्वीकार नहीं करेंगे। इसी तरह से फ़िल्म 'फ़िदा' के गीत "आजा वे माही", जिसमें उदित, अलका, शाहिद कपूर और करीना कपूर की आवाज़ें हैं, मान्य नहीं होंगे। 

अपने जवाब में गीत के बोल के साथ-साथ आपको फ़िल्म का नाम और चारों गायक कलाकारों के नाम भी बताने होंगे। इनमें से किसी एक के न होने पर जवाब मान्य नहीं होंगे। 

उपर्युक्त नियमों को ध्यान में रखते हुए आप जितने गीत सुझायेंगे, उतने अंक आपको दिये जायेंगे।

हाँ, एक बात और, सबसे पहले जवाब भेजने वाले प्रतियोगी को अतिरिक्त 3 अंक भी दिये जायेंगे।


जवाब भेजने का तरीका

उपर पूछे गए सवालों के जवाब एक ही ई-मेल में टाइप करके cine.paheli@yahoo.com के पते पर भेजें। 'टिप्पणी' में जवाब कतई न लिखें, वो मान्य नहीं होंगे। ईमेल के सब्जेक्ट लाइन में "Cine Paheli # 50" अवश्य लिखें, और अन्त में अपना नाम व स्थान लिखें। आपका ईमेल हमें गुरुवार, 20 दिसम्बर, शाम 5 बजे तक अवश्य मिल जाने चाहिए। इसके बाद प्राप्त होने वाली प्रविष्टियों को शामिल नहीं किया जाएगा।

नये प्रतियोगियों का आह्वान

नये प्रतियोगी, जो इस मज़ेदार खेल से जुड़ना चाहते हैं, उनके लिए हम यह बता दें कि अभी भी देर नहीं हुई है। इस प्रतियोगिता के नियम कुछ ऐसे हैं कि किसी भी समय जुड़ने वाले प्रतियोगी के लिए भी पूरा-पूरा मौका है महाविजेता बनने का। अगले सप्ताह से नया सेगमेण्ट शुरू हो रहा है, इसलिए नये खिलाड़ियों का आज हम एक बार फिर आह्वान करते हैं। अपने मित्रों, दफ़्तर के साथी, और रिश्तेदारों को 'सिने पहेली' के बारे में बताएँ और इसमें भाग लेने का परामर्श दें। नियमित रूप से इस प्रतियोगिता में भाग लेकर महाविजेता बनने पर आपके नाम हो सकता है 5000 रुपये का नगद इनाम। अब महाविजेता कैसे बना जाये, आइए इस बारे में आपको बतायें।

कैसे बना जाए 'सिने पहेली महाविजेता'

1. सिने पहेली प्रतियोगिता में होंगे कुल 100 एपिसोड्स। इन 100 एपिसोड्स को 10 सेगमेण्ट्स में बाँटा गया है। अर्थात्, हर सेगमेण्ट में होंगे 10 एपिसोड्स।

2. प्रत्येक सेगमेण्ट में प्रत्येक खिलाड़ी के 10 एपिसोड्स के अंक जुड़े जायेंगे, और सर्वाधिक अंक पाने वाले तीन खिलाड़ियों को सेगमेण्ट विजेताओं के रूप में चुन लिया जाएगा।

3. इन तीन विजेताओं के नाम दर्ज हो जायेंगे 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में। सेगमेण्ट में प्रथम स्थान पाने वाले को 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में 3 अंक, द्वितीय स्थान पाने वाले को 2 अंक, और तृतीय स्थान पाने वाले को 1 अंक दिया जायेगा। चौथे सेगमेण्ट की समाप्ति तक 'महाविजेता स्कोरकार्ड' यह रहा...


4. 10 सेगमेण्ट पूरे होने पर 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में दर्ज खिलाड़ियों में सर्वोच्च पाँच खिलाड़ियों में होगा एक ही एपिसोड का एक महा-मुकाबला, यानी 'सिने पहेली' का फ़ाइनल मैच। इसमें पूछे जायेंगे कुछ बेहद मुश्किल सवाल, और इसी फ़ाइनल मैच के आधार पर घोषित होगा 'सिने पहेली महाविजेता' का नाम। महाविजेता को पुरस्कार स्वरूप नकद 5000 रुपये दिए जायेंगे, तथा द्वितीय व तृतीय स्थान पाने वालों को दिए जायेंगे सांत्वना पुरस्कार।

पिछली पहेली के सही जवाब

पिछले सप्ताह की पहेली का समाधान यह रहा...

1- जो तुमको हो पसंद वही बात करेंगे
2- रिमझिम गिरे सावन सुलग-सुलग जाए मन
3- याद न जाए बीते दिनों की
4- परदेसियों से न अँखियाँ मिलाना
5- भोले ओ भोले तू रूठा दिल टूटा
6- जनम जनम का साथ है तुम्हारा हमारा
7- और इस दिल में क्या रखा है
8- कौन है जो सपनों में आया
9- ए दिल मुझे बता दे तू किस पे आ गया है

पिछली पहेली के परिणाम

'सिने पहेली' में इस सप्ताह एक नए प्रतियोगी हमसे जुड़े हैं। आप हैं दिल्ली के रोमेन्द्र सागर। बहुत बहुत स्वागत है रोमेन्द्र जी आपका, और आपसे अनुरोध है कि नियमित रूप से इस प्रतियोगिता में भाग लीजिये और महाविजेता बनने की लड़ाई में आप भी शामिल हो जाइए। 

'सिने पहेली - 49' में कुल 10 प्रतियोगियों ने भाग लिया। आप सब के जवाबों से ज्ञात हो गया कि पहेली बहुत ही आसान थी, तभी अधिकतर प्रतियोगियों ने 100% सही जवाब भेजे।  सबसे पहले जवाब भेज कर इस बार 'सरताज प्रतियोगी' बने हैं बेंगलुरू के पंकज मुकेशपंकज जी, बहुत बहुत बधाई आपको।

और अब ये रहा 'सिने पहेली सेगमेण्ट-5' के अब तक का सम्मिलित स्कोरकार्ड...



लड़ाई ज़रबदस्त मुकाम पर है, और आज हमने ऐसी पहेली पूछी है कि इस सेगमेण्ट में कुछ भी उलटफेर हो सकती है। हमें बेचैनी से इंतज़ार रहेगा आपके जवाबों का, और शायद आप भी दिल थाम कर इंतज़ार करेंगे अगली कड़ी का। है न?


'सिने पहेली' को और भी ज़्यादा मज़ेदार बनाने के लिए अगर आपके पास भी कोई सुझाव है तो 'सिने पहेली' के ईमेल आइडी पर अवश्य लिखें। आप सब भाग लेते रहिए, इस प्रतियोगिता का आनन्द लेते रहिए, क्योंकि महाविजेता बनने की लड़ाई अभी बहुत लम्बी है। आज के एपिसोड से जुड़ने वाले प्रतियोगियों के लिए भी 100% सम्भावना है महाविजेता बनने का। इसलिए मन लगाकर और नियमित रूप से (बिना किसी एपिसोड को मिस किए) सुलझाते रहिए हमारी सिने-पहेली, करते रहिए यह सिने मंथन, आज के लिए मुझे अनुमति दीजिए, अगले सप्ताह फिर मुलाक़ात होगी, नमस्कार। 



Saturday, December 8, 2012

आज की 'सिने पहेली' में ट्रैक सुन कर पहचानिये गीतों को


8 दिसम्बर, 2012
सिने-पहेली - 49  में आज 

ट्रैक सुन कर पहचानिये गीतों को  



'रेडियो प्लेबैक इण्डिया' के सभी पाठकों और श्रोताओं को सुजॉय चटर्जी का सप्रेम नमस्कार। दोस्तों, एक ज़माना था जब फ़िल्मी गीतों की लाइव रेकॉर्डिंग हुआ करती थी। संगीतकार, संयोजक, गायक, वाद्यवृन्द, रेकॉर्डिस्ट, सभी एक साथ स्टुडियो में इकट्ठा होकर गीत रेकॉर्ड किया करते। फिर तकनीकी विकास के साथ-साथ ऐसे विकल्प खुल गए कि लाइव रेकॉर्डिंग ट्रैक रेकॉर्डिंग में बदल गई। क्या आपको पता है लता मंगेशकर का गाया वह कौन सा पहला गीत है जो ट्रैक पर रेकॉर्ड हुआ था? वह गीत है हेमन्त कुमार के संगीत निर्देशन में फ़िल्म 'दुर्गेश नन्दिनी' का, "कहाँ ले चले हो बता दो मुसाफ़िर..."। यह लता जी ने खुद मुझे ट्विटर पर बताया था। ख़ैर, आप सोच रहे होंगे कि आज मैं ट्रैक रेकॉर्डिंग् की बात लेकर क्यों बैठ गया! दरअसल बात ऐसी है कि आज की पहेली भी इसी से सम्बन्धित है। तो चलिए, हो जाइए तैयार, आज की पहेली को सुलझाने के लिए। 


आज की पहेली : गान पहचान


नीचे 9 ऑडियो प्लेयर के लिंक दिये गये हैं। हर प्लेयर पर आपको एक गीत का पूरा-पूरा ट्रैक सुनने को मिलेगा। इन्हें सुन कर आपको इन 9 गीतों को पहचानने हैं। यानी कि आज की पहेली के कुल 9 अंक हैं। बहुत आसान हैं, हम उम्मीद करते हैं कि आप सभी प्रतियोगी आज की पहेली का 100% हल निकाल लेंगे। देखते हैं...



















जवाब भेजने का तरीका

उपर पूछे गए सवालों के जवाब एक ही ई-मेल में टाइप करके cine.paheli@yahoo.com के पते पर भेजें। 'टिप्पणी' में जवाब कतई न लिखें, वो मान्य नहीं होंगे। ईमेल के सब्जेक्ट लाइन में "Cine Paheli # 49" अवश्य लिखें, और अन्त में अपना नाम व स्थान लिखें। आपका ईमेल हमें गुरुवार, 13 दिसम्बर, शाम 5 बजे तक अवश्य मिल जाने चाहिए। इसके बाद प्राप्त होने वाली प्रविष्टियों को शामिल नहीं किया जाएगा।

नये प्रतियोगियों का आह्वान

नये प्रतियोगी, जो इस मज़ेदार खेल से जुड़ना चाहते हैं, उनके लिए हम यह बता दें कि अभी भी देर नहीं हुई है। इस प्रतियोगिता के नियम कुछ ऐसे हैं कि किसी भी समय जुड़ने वाले प्रतियोगी के लिए भी पूरा-पूरा मौका है महाविजेता बनने का। दो सप्ताह बाद से नया सेगमेण्ट शुरू हो रहा है, इसलिए नये खिलाड़ियों का आज हम एक बार फिर आह्वान करते हैं। अपने मित्रों, दफ़्तर के साथी, और रिश्तेदारों को 'सिने पहेली' के बारे में बताएँ और इसमें भाग लेने का परामर्श दें। नियमित रूप से इस प्रतियोगिता में भाग लेकर महाविजेता बनने पर आपके नाम हो सकता है 5000 रुपये का नगद इनाम। अब महाविजेता कैसे बना जाये, आइए इस बारे में आपको बतायें।

कैसे बना जाए 'सिने पहेली महाविजेता'

1. सिने पहेली प्रतियोगिता में होंगे कुल 100 एपिसोड्स। इन 100 एपिसोड्स को 10 सेगमेण्ट्स में बाँटा गया है। अर्थात्, हर सेगमेण्ट में होंगे 10 एपिसोड्स। 
2. प्रत्येक सेगमेण्ट में प्रत्येक खिलाड़ी के 10 एपिसोड्स के अंक जुड़े जायेंगे, और सर्वाधिक अंक पाने वाले तीन खिलाड़ियों को सेगमेण्ट विजेताओं के रूप में चुन लिया जाएगा। 
3. इन तीन विजेताओं के नाम दर्ज हो जायेंगे 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में। सेगमेण्ट में प्रथम स्थान पाने वाले को 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में 3 अंक, द्वितीय स्थान पाने वाले को 2 अंक, और तृतीय स्थान पाने वाले को 1 अंक दिया जायेगा। चौथे सेगमेण्ट की समाप्ति तक 'महाविजेता स्कोरकार्ड' यह रहा...


4. 10 सेगमेण्ट पूरे होने पर 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में दर्ज खिलाड़ियों में सर्वोच्च पाँच खिलाड़ियों में होगा एक ही एपिसोड का एक महा-मुकाबला, यानी 'सिने पहेली' का फ़ाइनल मैच। इसमें पूछे जायेंगे कुछ बेहद मुश्किल सवाल, और इसी फ़ाइनल मैच के आधार पर घोषित होगा 'सिने पहेली महाविजेता' का नाम। महाविजेता को पुरस्कार स्वरूप नकद 5000 रुपये दिए जायेंगे, तथा द्वितीय व तृतीय स्थान पाने वालों को दिए जायेंगे सांत्वना पुरस्कार।

पिछली पहेली के सही जवाब

पिछले सप्ताह की पहेली का समाधान यह रहा...


1. कार्तिक (कुछ प्रतियोगियों ने के.के का नाम लिखा है जो सही नहीं है। हमने इस गीत का जो संस्करण सुनवाया था, उसे कार्तिक ने गाया है)

2. मोहन

3. याशिता शर्मा

4. स्नेहा खनवलकर

5. शुभोमिता बनर्जी

6. अली ज़फ़र

7. श्रुति पाठक

8. किण्टन सेरेजो

9. राशिद अली

10. गायत्री अय्यर


पिछली पहेली के परिणाम


'सिने पहेली - 48' में कुल 10 प्रतियोगियों ने भाग लिया। सबसे पहला जवाब प्राप्त हुआ सीमा गुप्ता जी का, पर दुर्भाग्यवश उनके जवाब 100% सही नहीं रहे। सबसे पहले 100% सही जवाब भेज कर लगातार दूसरी बार 'सरताज प्रतियोगी' बने हैं पिट्सबर्ग, अमरीका के महेश बसंतनी। महेश जी, बहुत बहुत बधाई आपको।


और अब ये रहा 'सिने पहेली सेगमेण्ट-5' के अब तक का सम्मिलित स्कोरकार्ड...



'सिने पहेली' को और भी ज़्यादा मज़ेदार बनाने के लिए अगर आपके पास भी कोई सुझाव है तो 'सिने पहेली' के ईमेल आइडी पर अवश्य लिखें। आप सब भाग लेते रहिए, इस प्रतियोगिता का आनन्द लेते रहिए, क्योंकि महाविजेता बनने की लड़ाई अभी बहुत लम्बी है। आज के एपिसोड से जुड़ने वाले प्रतियोगियों के लिए भी 100% सम्भावना है महाविजेता बनने का। इसलिए मन लगाकर और नियमित रूप से (बिना किसी एपिसोड को मिस किए) सुलझाते रहिए हमारी सिने-पहेली, करते रहिए यह सिने मंथन, आज के लिए मुझे अनुमति दीजिए, अगले सप्ताह फिर मुलाक़ात होगी, नमस्कार। 



The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ