Saturday, June 6, 2009

सुनो कहानी: बाँका जमींदार

मुंशी प्रेमचन्द की "बाँका जमींदार"

'सुनो कहानी' इस स्तम्भ के अंतर्गत हम आपको सुनवा रहे हैं प्रसिद्ध कहानियाँ। पिछले सप्ताह आपने कनाडा निवासी स्वप्न मंजूषा की आवाज़ में ज्ञानप्रकाश विवेक की कहानी शिखर-पुरुष का पॉडकास्ट सुना था। आवाज़ की ओर से आज हम लेकर आये हैं मुंशी प्रेमचन्द की चर्चित कहानी बाँका जमींदार, जिसको स्वर दिया है अनुराग शर्मा ने।

कहानी का कुल प्रसारण समय 23 मिनट 12 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिको, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं हमसे संपर्क करें। अधिक जानकारी के लिए कृपया यहाँ देखें।



मैं एक निर्धन अध्यापक हूँ...मेरे जीवन मैं ऐसा क्या ख़ास है जो मैं किसी से कहूं
~ मुंशी प्रेमचंद (१८८०-१९३६)

हर शनिवार को आवाज़ पर सुनिए प्रेमचंद की एक नयी कहानी

धरती में साधारण गुरुत्वाकर्षण के अलावा एक खास ताकत होती है, जो हमेशा धन को अपनी तरफ खींचती है। सूद और तमस्सुक और व्यापार, यह दौलत की बीच की मंजिलें हैं, जमीन उसकी आखिरी मंजिल है।
(प्रेमचंद की "बाँका जमींदार" से एक अंश)


नीचे के प्लेयर से सुनें.
(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)


यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंकों से डाऊनलोड कर लें (ऑडियो फ़ाइल अलग-अलग फ़ॉरमेट में है, अपनी सुविधानुसार कोई एक फ़ॉरमेट चुनें)
VBR MP3Ogg Vorbis

#Twenty-fourth Story, Banka Zamindar: Munshi Premchand/Hindi Audio Book/2009/19. Voice: Anurag Sharma

2 comments:

Shamikh Faraz said...

meri nazr me hindyugm apne is prayas me pura safal hai. bahut bahut mubarakbad

Manju Gupta said...

"बाँका जमींदार" Anurag Sharma ki mithi awaz mein suni. Bahut dino baad ghar baithe ek achi khani suni! Iske liye badhayi. Hindyugm ka yeh kadam prashansniya hai.

Manju Gupta.

The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ