Showing posts with label AFFAN QURESHI:. Show all posts
Showing posts with label AFFAN QURESHI:. Show all posts

Friday, November 21, 2008

सरहद पार से आया आवारा "माहिया"


आज आवाज़ पर सरहद पार से कुछ मेहमाँ आए हैं जो लाये हमारे संगीत प्रेमियों के लिए एक अनूठा तोहफा. संगीत का भी प्रेम की तरह कोई कोई मजहब नही होता. इसे आप सरहदों में बाँट नही सकते. भुगौलिक नज़रिए से भारत -पाकिस्तान आज दो अलग अलग मुल्क सही पर संगीत प्रेमियों के लिए इन जमीं पर खिंछी रेखाओं का कोई महत्त्व नही. संगीत की लम्बी परम्परा में आज एक और नए पाकिस्तानी बैंड का नाम जुड़ रहा है - आवारा. आवाज़ गर्व के साथ आज इस संगीत समूह को विश्वपटल पर पेश कर रहा है इनके सबसे पहले गीत "माहिया" के साथ.

"माहिया" एक सॉफ्ट रॉक गीत है, जिसे गाया है मोहम्मद वलीद मुस्तफा ने जो इस बैंड के रिदम गिटारिस्ट और इस गीत के गीतकार भी हैं. साथ में हैं लीड गिटारिस्ट अफान कुरैशी और drummer वकास कादिर बालूच. सुनते हैं ये जोरदार गीत जिसने दिया आवाज़ को एक और ऐतिहासिक दिन. हम उम्मीद करेंगे कि हमारे सुधी श्रोता इस ताज़ा गीत को भरपूर प्यार देंगे. हो सकता है कि आपका प्रोत्साहन /मार्गदर्शन, "आवारा" बैंड की कमियाबी के लिए मील के पत्थर का काम करे.



AWARA THE BAND:


MUHAMMAD WALEED MUSTAFA:Lead vocalist,Rhythm guitarist,Lyrics writer
AFFAN QURESHI:Lead guitarist,back vocalist
WAQAS QADIR BALOCH:Drummer,basses
Band was formed in 2007 at Islamabad (Pakistan).All the band members started their music career in the age of 15.AWARA releasing their debut song MAHIYA in association with "Awaaz" (India's only music community site dedicated to promote original talents). So for the first time from Pakistan here comes 'AWARA'- the band, with their debut song "mahiya". Hear it and share your thoughts about this brand new offering from Hind Yugm.



Lyrics -

baton mein tum ho khayalo mein tum
subho mein meri shamo mein tum
ji na paoon tere bin mein sanam
tum hi khushi tum hi ho ghum

aye khuda kya dard diya
chaha jisay woh laapata

mahiya maHiYa tu hai kahan
mahiya mahiya tu hai kahan

ankh mein pani hai sansein hain thum
jan jati hai niklay hai dum
roya hai yeh dil kahan gaey tum
maan bhi jao satao na tum

o sathiya yeh kya kiya
tor kar dil chalay kahan

mahiya mahiya a bhi ja
mahiya mahiya a bhi ja

jahan hogi tum mujhko pao gi tum
asani say na bhul pao gi tum
meri ho tum bas meri ho tum
zindagi kuch nahi bin teray sanam
maan lay janejan
pyar sirf tujh say kiya

mahiya mahiya sun lay sada
mahiya mahiya sun lay sada

दूसरे सत्र के २१ वें गीत का विश्वव्यापी उदघाटन आज

SONG # 21, SEASON # 02, "MAHIYA" OPENED ON AWAAZ ON 21-11-2008.
Music @ Hind Yugm, Where music is a passion



The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ