Tuesday, January 5, 2016

दंगा - सर्वेश तिवारी "श्रीमुख"

लोकप्रिय स्तम्भ "बोलती कहानियाँ" के अंतर्गत हम हर सप्ताह आपको सुनवाते रहे हैं नई, पुरानी, अनजान, प्रसिद्ध, मौलिक और अनूदित, यानि के हर प्रकार की कहानियाँ। पिछली बार आपने अनुराग शर्मा के स्वर में काजल कुमार की लघुकथा "शिकार" का वाचन सुना था।

आज हम आपकी सेवा में प्रस्तुत कर रहे हैं सर्वेश तिवारी "श्रीमुख" लिखित लघुकथा दंगा, जिसे स्वर दिया है अनुराग शर्मा ने।

इस कहानी दंगा का कुल प्रसारण समय 9 मिनट 2 सेकंड है। इसका गद्य फेसबुक पर उपलब्ध है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिको, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।

फेसबुक पर हज़ारों की फॉलोअरशिप वाले "मोतीझील वाले बाबा" सर्वेश तिवारी "श्रीमुख" एक उदीयमान लेखक हैं। वे गोपालगंज में रहते हैं।

हर सप्ताह यहीं पर सुनें एक नयी हिन्दी कहानी

"इधर की दुल्हनें चौथ का चाँद अकेले देख कर आँचल के कोर से आँख पोंछती हैं, तो उधर की ईद का चाँद अकेले देख कर दुपट्टा भिगोती हैं।”
 (सर्वेश तिवारी "श्रीमुख" की लघुकथा "दंगा" से एक अंश)


नीचे के प्लेयर से सुनें.


(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)
यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाऊनलोड कर लें:
दंगा MP3

#First Story,  Dangaa; Sarvesh Tiwari Shrimukh; Hindi Audio Book/2016/1. Voice: Anurag Sharma

2 comments:

Pankaj Mukesh said...

Kitnee umda aur saarthak vicharon bhari kahaani hai. Hamare aaj ke bharat ke liye path-pradarshak hai. Wastav mein social media par jahan sampradayik dwesh failane ko adhunikta aur vikasit soch samjha jata hai wahin ye kahani sochne par majboor kartee hai ki hum kitna aapsi prem-sauhaardra ki duniya se door chale gaye.
Adbhut prastuti,
aabhaar!!!

सर्वेश तिवारी शांडिल्य said...

श्रीमुख़ भईया का जवाब नहीं

The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ