Showing posts with label लघुकथा. Show all posts
Showing posts with label लघुकथा. Show all posts

Tuesday, July 9, 2019

गरीबी रेखा का कार्ड (शिवम् खरे)

रेडियो प्लेबैक इंडिया के साप्ताहिक स्तम्भ 'बोलती कहानियाँ' के अंतर्गत हम आपको सुनवाते हैं हिन्दी की नई, पुरानी, अनजान, प्रसिद्ध, मौलिक और अनूदित, यानि के हर प्रकार की कहानियाँ। पिछली बार आपने पूजा अनिल की आवाज़ में अनुराग शर्मा की लघुकथा "अंधा प्यार" का पॉडकास्ट सुना था। आज हम आपकी सेवा में प्रस्तुत कर रहे हैं शिवम खरे की लघुकथा "गरीबी रेखा का कार्ड", शीतल माहेश्वरी के स्वर में।

"गरीबी रेखा का कार्ड" का कुल प्रसारण समय 2 मिनट 30 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं। इस लघुकथा का टेक्स्ट भारत दर्शन पर उपलब्ध है।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिकों, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।


शिवम् खरे (MTech) - पन्ना, मध्यप्रदेश में औद्योगिक प्रशिक्षण संस्था में अधीक्षक पद पर कार्यरत। बचपन से लिखने का शौक, एक हास्य-व्यंग्य संग्रह "मेरी दुस्साहस कृतियाँ" शीर्षक के नाम से प्रकाशित।

हर सप्ताह यहीं पर सुनें एक नयी कहानी

"मालिक, आपई कुछ मदद करो प्रभु!"
(शिवम् खरे की "गरीबी रेखा का कार्ड" से एक अंश)



नीचे के प्लेयर से सुनें.


(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)

यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाउनलोड कर लें:
गरीबी रेखा का कार्ड MP3

#Fourteenth Story, Andha Pyaar: Shivam Khare/Hindi Audio Book/2019/14. Voices: 

Sheetal Maheshwari

Tuesday, May 7, 2019

ऑडियो: नाम का चमत्कार (अनुराग शर्मा)

रेडियो प्लेबैक इंडिया के साप्ताहिक स्तम्भ 'बोलती कहानियाँ' के अंतर्गत हम आपको सुनवाते हैं हिन्दी की नई, पुरानी, अनजान, प्रसिद्ध, मौलिक और अनूदित, यानि के हर प्रकार की कहानियाँ। पिछली बार आपने अनुराग शर्मा की आवाज़ में देवी नागरानी की कथा 'अतीत' का पॉडकास्ट सुना था। आज हम आपकी सेवा में प्रस्तुत कर रहे हैं अनुराग शर्मा की लघुकथा 'नाम का चमत्कार', अनुराग शर्मा के ही स्वर में।

लघुकथा "नाम का चमत्कार" का कुल प्रसारण समय 9 मिनट 3 सेकंड है। इसका गद्य बर्ग वार्ता ब्लॉग पर उपलब्ध है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिकों, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।


आपके चरित्र पर आपका अधिकार है, छवि पर नहीं ...
- अनुराग शर्मा

हर सप्ताह यहीं पर सुनें एक नयी कहानी

आत्मा तो घायल नहीं हो सकती। न जल सकती है न आद्र होती है। बारिश की बूंद को छूती तो है पर फिर भी सूखी रह जाती है।
(अनुराग शर्मा की लघुकथा "नाम का चमत्कार" से एक अंश)


नीचे के प्लेयर से सुनें.


(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)

यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाउनलोड कर लें:
नाम का चमत्कार MP3

#Tenth Story, Naam Ka Chamatkar: Anurag Sharma /Hindi Audio Book /2019/10. Voice: Anurag Sharma

Tuesday, January 29, 2019

ऑडियो लघुकथा: बलिहारी गुरु आपने (अनुराग शर्मा)

रेडियो प्लेबैक इंडिया के साप्ताहिक स्तम्भ 'बोलती कहानियाँ' के अंतर्गत हम आपको सुनवाते हैं हिन्दी की नई, पुरानी, अनजान, प्रसिद्ध, मौलिक और अनूदित, यानि के हर प्रकार की कहानियाँ। पिछली बार आपने उषा छाबड़ा की आवाज़ में हिन्दी के प्रसिद्ध लेखक उदयन वाजपेयी की बोधकथा "शेर और कवया" का पॉडकास्ट सुना था। आज हम आपकी सेवा में प्रस्तुत कर रहे हैं अनुराग शर्मा की एक लघुकथा "बलिहारी गुरु आपने", उन्हीं के स्वर में।

कहानी "बलिहारी गुरु आपने" का कुल प्रसारण समय 1 मिनट 57 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।

इस कथा "बलिहारी गुरु आपने" का टेक्स्ट बर्ग वार्ता पर उपलब्ध है।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिकों, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।



मैं भारत से बाहर भारत मुझ में रहता है
मेरी सब सीमाएँ राष्ट्र असीमित सहता है
~ अनुराग शर्मा

हर सप्ताह यहीं पर सुनें एक नयी कहानी

"लिखना सीखकर कवि-शायर बन जायेंगे और मुशायरे लूट लाया करेंगे।"
(अनुराग शर्मा की "बलिहारी गुरु आपने" से एक अंश)



नीचे के प्लेयर से सुनें.


(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)

यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाउनलोड कर लें:
बलिहारी गुरु आपने MP3

#Fourth Story, Balihari guru Apne: Anurag Sharma/Hindi Audio Book/2019/4. Voice: Anurag Sharma

Tuesday, December 4, 2018

ऑडियो लघुकथा: छन्न

लोकप्रिय स्तम्भ "बोलती कहानियाँ" के अंतर्गत हम हर सप्ताह आपको सुनवाते रहे हैं नई, पुरानी, अनजान, प्रसिद्ध, मौलिक और अनूदित, यानि के हर प्रकार की कहानियाँ। पिछली बार आपने शीतल माहेश्वरी के स्वर में अर्चना तिवारी की लघुकथा "उड़नपरी" का वाचन सुना था।

आज प्रस्तुत है निरञ्जन धुळेकर की लघुकथा छन्न, जिसे स्वर दिया है शीतल माहेश्वरी ने।

प्रस्तुत लघुकथा "छन्न" का कुल प्रसारण समय 5 मिनट 11 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिकों, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं आदि को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।

प्यार इसीलिए करना चाहिए ताकि, पता चल जाए कि प्यार क्यों नही करना चाहिए!
~ निरञ्जन धुळेकर

हर सप्ताह यहीं पर सुनें एक नयी हिन्दी कहानी


"थकान से मैं कभी नही सोया ... कल खाना मिलेगा ये पता होता तो नींद मेरा भी पता ढूंढ ही लेती।"
(निरञ्जन धुळेकर की लघुकथा 'छन्न' से एक अंश)


नीचे के प्लेयर से सुनें.


(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)
यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाउनलोड कर लें:
छन्न MP3

#28th Story, Chhann; Niranjan Dhulekar; Hindi Audio Book/2018/28. Voice: Sheetal Maheshwari

Tuesday, November 27, 2018

ऑडियो लघुकथा: उड़नपरी

लोकप्रिय स्तम्भ "बोलती कहानियाँ" के अंतर्गत हम हर सप्ताह आपको सुनवाते रहे हैं नई, पुरानी, अनजान, प्रसिद्ध, मौलिक और अनूदित, यानि के हर प्रकार की कहानियाँ। पिछली बार आपने पूजा अनिल के स्वर में सुधीर द्विवेदी की लघुकथा "जंग" का वाचन सुना था।

आज प्रस्तुत है अर्चना तिवारी की लघुकथा उड़नपरी, जिसे स्वर दिया है शीतल माहेश्वरी ने।

प्रस्तुत लघुकथा "उड़नपरी" का कुल प्रसारण समय 5 मिनट 21 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिकों, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं आदि को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।

हमने बच्चों को कच्ची मिट्टी ही समझ रखा है। जबकि वास्तविकता यह है कि सृष्टि ने पहले से ही हर बच्चे में रचनात्मकता भर कर हमें सौंपा है।
अर्चना तिवारी

हर सप्ताह यहीं पर सुनें एक नयी हिन्दी कहानी


"ममा मैं सलवार-कुर्ता नहीं पहनूंगी, मुझे गर्मी लगती है।"
(अर्चना तिवारी की लघुकथा 'उड़नपरी' से एक अंश)


नीचे के प्लेयर से सुनें.


(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)
यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाउनलोड कर लें:
उड़नपरी MP3

#27th Story, Udanpari; Arati Tiwari; Hindi Audio Book/2018/27. Voice: Sheetal Maheshwari

Tuesday, November 13, 2018

विनोद नायक की लघुकथा: रसायन

बोलती कहानियाँ स्तम्भ के अंतर्गत हम आपको सुनवा रहे हैं प्रसिद्ध कहानियाँ। पिछले सप्ताह आपने पूजा अनिल की आवाज़ में चंद्रेश कुमार छतलानी की कहानी "एक गिलास पानी" का पॉडकास्ट सुना था। आज हम लेकर आये हैं विनोद नायक की एक लघुकथा: दवा और दुआ, जिसको स्वर दिया है अनुराग शर्मा ने।

लघुकथा का कुल प्रसारण समय 2 मिनट 20 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं। इस लघुकथा का गद्य सेतु पत्रिका पर उपलब्ध है।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिको, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।

लेखक: डॉ .विनोद नायक,  नागपुर महाराष्ट्र

हर सप्ताह सुनिए एक नयी कहानी

"ये सब तो ठीक है लेकिन माँ गीले पंखों से ठीक से उड़ भी पा रही होगी या नही।"
(विनोद नायक की "रसायन" से एक अंश)



नीचे के प्लेयर से सुनें.


(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)
यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाउनलोड कर लें:
रसायन MP3

#Twenty fifth Story, Rasayan: Vinod Nayak/Hindi Audio Book/2018/25. Voice: Anurag Sharma

Tuesday, October 9, 2018

ऑडियो: अनुराग शर्मा की लघुकथा - तर्पण

'बोलती कहानियाँ' स्तम्भ के अंतर्गत हम आपको नई-पुरानी, प्रसिद्ध-अल्पज्ञात, मौलिक-अनूदित, हर प्रकार की हिंदी कहानियाँ सुनवाते रहे हैं। पिछले सप्ताह आपने शीतल माहेश्वरी के स्वर में ऋता शेखर 'मधु' की लघुकथा "ऊधम" का पॉडकास्ट सुना था। आज हम आपकी सेवा में प्रस्तुत कर रहे हैं अनुराग शर्मा की लघुकथा "तर्पण", उन्हीं के स्वर में।

इस लघुकथा का टेक्स्ट अनुराग शर्मा के ब्लॉग बर्ग वार्ता पर उपलब्ध है। इस कथा का कुल प्रसारण समय 2 मिनट 0 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिकों, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।


फल ज़हरीले दिख पाते तो
बीज कनक के यूँ बोते न,
यदि सार्थक कर पाते दिन तो
रातों को उठकर रोते न।
 ~ अनुराग शर्मा

हर सप्ताह यहीं पर सुनें एक नयी हिन्दी कहानी

"अच्छा! यहाँ मज़दूरी करते हो? कितने पैसे मिल जाते हैं रोज़ के?”
 (अनुराग शर्मा की लघुकथा "तर्पण" से एक अंश)



नीचे के प्लेयर से सुनें.


(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)

यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाऊनलोड कर लें:
तर्पण MP3

#22nd Story, Tarpan (Laghukatha): Anurag Sharma/Hindi Audio Book/2018/22. Voice: Anurag Sharma

Tuesday, October 2, 2018

ऑडियो: ऋता शेखर मधु की लघुकथा ऊधम

लोकप्रिय स्तम्भ "बोलती कहानियाँ" के अंतर्गत हम हर सप्ताह आपको सुनवाते रहे हैं नई, पुरानी, अनजान, प्रसिद्ध, मौलिक और अनूदित, यानि के हर प्रकार की कहानियाँ। पिछली बार आपने शीतल माहेश्वरी के स्वर में अनूप शुक्ल का व्यंग्य "बस मुस्कुराते रहें" का वाचन सुना था।

आज प्रस्तुत है ऋता शेखर मधु की लघुकथा ऊधम, जिसे स्वर दिया है शीतल माहेश्वरी ने।

प्रस्तुत लघुकथा "ऊधम" का कुल प्रसारण समय 3 मिनट 9 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिकों, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।

अधिकार, एक ऐसा शब्द जो सुख, सुविधा और सहुलियत के दरवाजे खोलता है। कहते हैं जब मनुष्य अपना कर्तव्य करता है तो अधिकार खुद ब खुद मिल जाते हैं। समाज में रहने के लिए कर्तव्य और अधिकार, दोनों आवश्यक हैं।
ऋता शेखर मधु

हर सप्ताह यहीं पर सुनें एक नयी हिन्दी कहानी



बन्दर शाम को यहाँ घूमते थे तो कितना अच्छा लगता था।
(ऋता शेखर मधु की लघुकथा "ऊधम" से एक अंश)  


नीचे के प्लेयर से सुनें.


(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)
यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाउनलोड कर लें:
ऊधम MP3

#21th Story, Oodham; Rita Shekhar Madhu; Hindi Audio Book/2018/21. Voice: Sheetal Maheshwari

Tuesday, July 17, 2018

ऑडियो: अनुराग शर्मा की लघुकथा "हल"

'बोलती कहानियाँ' स्तम्भ के अंतर्गत हम आपको नई-पुरानी, प्रसिद्ध-अल्पज्ञात, मौलिक-अनूदित, हर प्रकार की हिंदी कहानियाँ सुनवाते रहे हैं। पिछले सप्ताह आपने अनुराग शर्मा की आवाज़ में प्राण शर्मा की लघुकथा "जननायक" का पॉडकास्ट सुना था। आज हम आपकी सेवा में प्रस्तुत कर रहे हैं अनुराग शर्मा की लघुकथा "हल", उन्हीं के स्वर में।

इस बालकथा का टेक्स्ट अनुराग शर्मा के ब्लॉग बर्ग वार्ता पर उपलब्ध है। इस कथा का कुल प्रसारण समय 2 मिनट 53 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिकों, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।



संजो के रक्खो इसे हाथ से न जाने दो
बात निकलेगी तो बेकार चली जायेगी
 ~ अनुराग शर्मा

हर सप्ताह यहीं पर सुनें एक नयी हिन्दी कहानी

"प्लास्टिक और पॉलीथीन के खिलाफ़ आंदोलन इतना तेज़ हुआ कि प्रशासन को यह समस्या हल करने के लिये आपातकालीन सभा बुलानी पड़ी।”
 (अनुराग शर्मा की लघुकथा "हल" से एक अंश)



नीचे के प्लेयर से सुनें.


(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)

यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाऊनलोड कर लें:
हल MP3

#14th Story, Hal (Laghukatha): Anurag Sharma/Hindi Audio Book/2018/14. Voice: Anurag Sharma

Tuesday, July 3, 2018

ऑडियो: स्नेहलता गोस्वामी की लघुकथा सलाह

बोलती कहानियाँ स्तम्भ के अंतर्गत हम आपको सुनवा रहे हैं प्रसिद्ध कहानियाँ। पिछले सप्ताह आपने अनुराग शर्मा की आवाज़ में सीमा सिंह की सेतु लघुकथा प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार से सम्मानित लघुकथा "मन का उजाला" का पॉडकास्ट सुना था। आज हम लेकर आये हैं स्नेहलता गोस्वामी की लघुकथा सलाह, जिसको स्वर दिया है अनुराग शर्मा ने।

लघुकथा का कुल प्रसारण समय 2 मिनट 27 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं। इस लघुकथा का गद्य सेतु पत्रिका पर उपलब्ध है।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिको, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।

स्नेहलता गोस्वामी
जन्म: फरीदकोट पंजाब
शिक्षा: एमए और एमएड
सम्प्रति: केन्द्रीय विद्यालय संगठन में हिंदी शिक्षण
रचनाएँ विभिन्न पत्र पत्रिकाओं समाचार पत्रों में प्रकाशित

हर सप्ताह सुनिए एक नयी कहानी

कहीं अच्छी नौकरी मिल जायेगी। फिर सारी जिन्दगी ऐश करना।
(स्नेहलता गोस्वामी की "सलाह" से एक अंश)



नीचे के प्लेयर से सुनें.


(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)
यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाउनलोड कर लें:
सलाह MP3

#Twelfth Story, Salah: Sneh Lata Goswami /Hindi Audio Book/2018/12. Voice: Anurag Sharma

Tuesday, June 19, 2018

मन का उजाला - सीमा सिंह

बोलती कहानियाँ स्तम्भ के अंतर्गत हम आपको सुनवा रहे हैं प्रसिद्ध कहानियाँ। पिछले सप्ताह आपने अनुराग शर्मा की आवाज़ में विनोद नायक की लघुकथा "दवा और दुआ" का पॉडकास्ट सुना था। आज हम लेकर आये हैं सीमा सिंह की सेतु लघुकथा प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार से सम्मानित लघुकथा: मन का उजाला, जिसको स्वर दिया है अनुराग शर्मा ने।

लघुकथा का कुल प्रसारण समय 4 मिनट 4 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं। इस लघुकथा का गद्य सेतु पत्रिका पर उपलब्ध है।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिको, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।

सीमा सिंह
सेतु, दैनिक जागरण, दैनिक ट्रिब्यून, राजस्थान पत्रिका, हिंदुस्तान, महानगर मेल, शोध-दिशा, हस्ताक्षर, अटूट बंधन, सहित विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशन

हर सप्ताह सुनिए एक नयी कहानी

“मुन्ना, ओ मुन्ना! अरे सो गया क्या?” उसने बेटे को पुकारा, पर कोई प्रत्युत्तर न पा, कमरे में झाँका।
(सीमा सिंह की "मन का उजाला" से एक अंश)



नीचे के प्लेयर से सुनें.


(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)
यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाउनलोड कर लें:
मन का उजाला MP3

#Eleventh Story, Man Ka Ujala: Seema Singh/Hindi Audio Book/2018/11. Voice: Anurag Sharma

Tuesday, June 12, 2018

विनोद नायक की लघुकथा: दवा और दुआ

बोलती कहानियाँ स्तम्भ के अंतर्गत हम आपको सुनवा रहे हैं प्रसिद्ध कहानियाँ। पिछले सप्ताह आपने अनुराग शर्मा की आवाज़ में उर्दू और हिंदी प्रसिद्ध के साहित्यकार उपेन्द्रनाथ अश्क की कहानी "आ लड़ाई आ, मेरे आंगन में से जा" का पॉडकास्ट सुना था। आज हम लेकर आये हैं विनोद नायक की एक लघुकथा: दवा और दुआ, जिसको स्वर दिया है अनुराग शर्मा ने।

लघुकथा का कुल प्रसारण समय 3 मिनट 1 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं। इस लघुकथा का गद्य सेतु पत्रिका पर उपलब्ध है।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिको, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।

लेखक: डॉ .विनोद नायक,  नागपुर महाराष्ट्र

हर सप्ताह सुनिए एक नयी कहानी

"मुरारी, तुम्हारे पापा का ऑपरेशन होगा"
(विनोद नायक की "दवा और दुआ" से एक अंश)



नीचे के प्लेयर से सुनें.


(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)
यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाऊनलोड कर लें:
दवा और दुआ MP3

#Tenth Story, Dawa Aur Dua: Vinod Nayak/Hindi Audio Book/2018/10. Voice: Anurag Sharma

Tuesday, February 20, 2018

सूर्यकांत त्रिपाठी 'निराला' की लघुकथा 'दो घड़े'

'बोलती कहानियाँ' स्तम्भ के अंतर्गत हम आपको सुनवा रहे हैं प्रसिद्ध कहानियाँ। पिछली बार आपने अनुराग शर्मा की आवाज़ में उन्हीं की कहानी मैजस्टिक मूँछें का पॉडकास्ट सुना था। आवाज़ की ओर से आज हम लेकर आये हैं सूर्यकांत त्रिपाठी 'निरालाकी "दो घड़े", जिसे स्वर दिया है अनुराग शर्मा ने।

कहानी का कुल प्रसारण समय 2 मिनट 11 सेकण्ड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।

निराला की कहानी दो-घड़े का गद्य हिंदी समय पर उपलब्ध है। यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानी, उपन्यास, नाटक, धारावाहिक, प्रहसन, झलकी, एकांकी, या लघुकथा को स्वर देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।

हिन्दी के प्रसिद्ध साहित्यकार सूर्यकांत त्रिपाठी 'निराला' का जन्म वसंत पंचमी, 1896 को मेदिनीपुर (पश्चिम बंगाल) में हुआ था। उनका रचनाकर्म गीत, कविता, कहानी, उपन्यास, अनुवाद, निबंध आदि विधाओं में प्रकाशित हुआ। उनका देहांत 15 अक्टूबर 1961 को इलाहाबाद (उत्तर प्रदेश) में हुआ।

हर सप्ताह यहीं पर सुनिए एक नयी कहानी

"नदी में बाढ़ आ गई, बहाव में दोनों घड़े बहते चले।"
(सूर्यकांत त्रिपाठी 'निराला' की "दो घड़े" से एक अंश)

नीचे के प्लेयर से सुनें.
(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)


यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाऊनलोड कर लें:
दो घड़े mp3

#Fifth Story: Do Ghade; Author: Suryakant Tripathi Nirala; Voice: Anurag Sharma; Hindi Audio Book/2018/5.

Tuesday, November 28, 2017

यारी है ईमान - अनुराग शर्मा

'बोलती कहानियाँ' स्तम्भ के अंतर्गत हम आपको नई-पुरानी, प्रसिद्ध-अल्पज्ञात, मौलिक-अनूदित, हर प्रकार की हिंदी कहानियाँ सुनवाते रहे हैं। पिछले सप्ताह आपने उषा छाबड़ा की आवाज़ में उन्हीं की बालकथा "खेल" का पॉडकास्ट सुना था। आज हम आपकी सेवा में प्रस्तुत कर रहे हैं अनुराग शर्मा की लघुकथा "यारी है ईमान", उन्हीं के स्वर में।

इस बालकथा का टेक्स्ट अनुराग शर्मा के ब्लॉग बर्ग वार्ता पर उपलब्ध है। इस कथा का कुल प्रसारण समय 6 मिनट 29 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिको, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।



संजो के रक्खो इसे हाथ से न जाने दो
बात निकलेगी तो बेकार चली जायेगी
 ~ अनुराग शर्मा

हर सप्ताह यहीं पर सुनें एक नयी हिन्दी कहानी

"कितनी ही यादें जुड़ी हैं उस रहस्यमयी दुनिया से जो तब बन ही रही थी। जंगली फूलों की नशीली गंध से सराबोर पथरीली चट्टानों को काटकर बहती तवी नदी, और रणबीर नहर में तैरने जाना हो या पुराने पहाड़ी नगर के इर्दगिर्द बन रहे उपनगरीय क्षेत्रों में तलहटी में जाकर स्वादिष्ट लाल गरने चुनकर लाना।”
 (अनुराग शर्मा की लघुकथा "यारी है ईमान" से एक अंश)



नीचे के प्लेयर से सुनें.


(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)

यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाऊनलोड कर लें:
यारी है ईमान MP3

#20th Story, Yaari Hai Imaan: Anurag Sharma/Hindi Audio Book/2017/20. Voice: Anurag Sharma

Tuesday, October 10, 2017

अहसास: कविता वर्मा की लघुकथा

'सुनो कहानी' इस स्तम्भ के अंतर्गत हम आपको सुनवा रहे हैं प्रसिद्ध कहानियाँ। पिछले सप्ताह आपने अनुराग शर्मा की आवाज़ में विश्व प्रसिद्ध हिंदी साहित्यकार अभिमन्यु अनत की कथा "रंग" का पॉडकास्ट सुना था। आज हम आपकी सेवा में प्रस्तुत कर रहे हैं कविता वर्मा की लघुकथा "अहसास", जिसको स्वर दिया है अनुराग शर्मा ने।

इस कहानी का कुल प्रसारण समय 2 मिनट 12 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं। लघुकथा का गद्य 'सेतु पत्रिका' पर उपलब्ध है।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिको, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।

कविता वर्मा
कहानी संग्रह 'परछाइयों के उजाले ' को अखिल भारतीय साहित्य परिषद् राजस्थान से सरोजिनी कुलश्रेष्ठ कहानी संग्रह का प्रथम पुरस्कार मिला। सेतु, नई दुनिया, दैनिक भास्कर पत्रिका, डेली न्यूज़, गर्भनाल, पत्रिका, समाज कल्याण में कई लेख लघुकथा और कहानियों का प्रकाशन। कादम्बिनी वनिता गृहशोभा में कहानियों का प्रकाशन। 'स्त्री होकर सवाल करती है', 'अरुणिमा' साझा कविता संग्रह में कवितायें शामिल।

हर सप्ताह "बोलती कहानियाँ" पर सुनें एक नयी कहानी

“दूर धुंधलके के बीच से एक साया अपनी ओर आते दिखा तो एक आस बंधी।”
(कविता वर्मा की लघुकथा "अहसास" से एक अंश)

नीचे के प्लेयर से सुनें।
(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)


यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाऊनलोड कर लें:
अहसास MP3

#Seventeenth Story, Ehsas: Kavita Verma/Hindi Audio Book/2017/17. Voice: Anurag Sharma

Tuesday, September 19, 2017

अभिमन्यु अनत की लघुकथा 'रंग'

इस लोकप्रिय स्तम्भ "बोलती कहानियाँ" के अंतर्गत हम आपको सुनवाते रहे हैं प्रसिद्ध कहानियाँ। पिछली बार आपने अनुराग शर्मा के स्वर में कुणाल शर्मा की लघुकथा निशक्त घुटने का पाठ सुना था।

आज हम आपकी सेवा में प्रस्तुत कर रहे हैं विश्व प्रसिद्ध साहित्यकार श्री अभिमन्यु अनत की एक लघुकथा रंग जिसे स्वर दिया है अनुराग शर्मा ने।

"रंग" का कुल प्रसारण समय 2 मिनट 35 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिको, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।




भारतीय साहित्य अकादमी के मानद महत्तर सदस्य (ऑनरेरी फ़ैलो) श्री अभिमन्यु अनत मॉरिशस के प्रसिद्ध साहित्यकार और चित्रकार हैं। वे कविता, उपन्यास, निबंध, नाटक आदि विधाओं के लिये प्रसिद्ध हैं। अनत जी का जन्म 9 अगस्त 1937 को हुआ था। अभिमन्यु अनत का साहित्य अनेक विश्वविद्यालयों के पाठ्यक्रमों में सम्मलित है। भारत और मॉरिशस में उन पर अनेक शोधकार्य किए जा चुके हैं। उनकी रचनाओं का अनुवाद अंग्रेज़ी, और फ्रेंच सहित विश्व की अनेक भाषाओं में किया जा चुका है।

हर सप्ताह यहीं पर सुनें एक नयी हिन्दी कहानी

"लेकिन साहब, मैंने तरबूज नहीं चुराया। आप चोर पहचानने में भूल कर रहे हैं!”
(अभिमन्यु अनत कृत "रंग" से एक अंश)


नीचे के प्लेयर से सुनें.


(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)
यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाऊनलोड कर लें:
रंग MP3

#16th Story, Rang: Abhimanyu Unnuth / Hindi Audio Book 2017/16. Voice: Anurag Sharma

Tuesday, September 12, 2017

निशक्त घुटने (लघुकथा) - कुणाल शर्मा

इस लोकप्रिय स्तम्भ "बोलती कहानियाँ" के अंतर्गत हम आपको सुनवाते रहे हैं प्रसिद्ध कहानियाँ। पिछली बार 31 जुलाई को मुंशी प्रेमचंद के जन्मदिन के अवसर पर आपने अनुराग शर्मा के स्वर में मुंशी प्रेमचंद की भावमय कथा राष्ट्र का सेवक का पाठ सुना था।

आज हम आपकी सेवा में प्रस्तुत कर रहे हैं युवा लेखक कुणाल शर्मा की एक लघुकथा निशक्त घुटने जिसे स्वर दिया है अनुराग शर्मा ने।

प्रस्तुत कथा का गद्य "सेतु द्वैभाषिक पत्रिका" पर उपलब्ध है। "निशक्त घुटने" का कुल प्रसारण समय 2 मिनट 56 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिको, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।




27 अप्रैल 1981 को अम्बाला (हरियाणा) में जन्मे कुणाल शर्मा कहानी, लघुकथा, तथा कविताएँ लिखते हैं।

एम. ए. (अंग्रेजी) बी.एड शिक्षित कुणाल आजकल एक सरकारी विद्यालय में प्राध्यापक के पद पर कार्यरत हैं।

हर सप्ताह यहीं पर सुनें एक नयी हिन्दी कहानी

"लेकिन पिताजी, आपके घुटनों का दर्द भी तो बढ़ता जा रहा है!”
 (कुणाल शर्मा कृत "निशक्त घुटने" से एक अंश)


नीचे के प्लेयर से सुनें.


(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)
यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाऊनलोड कर लें:
निशक्त घुटने MP3

#15th Story, Rashtra Ka Sewak: Kunal Sharma / Hindi Audio Book 2017/15. Voice: Anurag Sharma

Tuesday, December 13, 2016

खलील जिब्रान की आनंद और पीड़ा

लोकप्रिय स्तम्भ "बोलती कहानियाँ" के अंतर्गत हम हर सप्ताह आपको सुनवाते रहे हैं नई, पुरानी, अनजान, प्रसिद्ध, मौलिक और अनूदित, यानि के हर प्रकार की कहानियाँ। इस शृंखला में पिछली बार आपने पूजा अनिल के स्वर में गीत चतुर्वेदी के उपन्यास "रानीखेत एक्सप्रेस के एक अंश" का वाचन सुना था।

आज प्रस्तुत है विश्व प्रसिद्ध साहित्यकार खलील जिब्रान की लघुकथा आनंद और पीड़ा जिसे स्वर दिया है उषा छाबड़ा ने।

प्रस्तुत अंश का कुल प्रसारण समय 2 मिनट 45 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं। बलराम अग्रवाल द्वारा किये गए इस लघुकथा के अनुवाद का गद्य हिंदी समय पर पढा जा सकता है।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिको, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।

लेबनानी और अमेरिकी नागरिकता वाले लेखक खलील जिब्रान 6 जनवरी 1883 को सीरिया में जन्मे थे परंतु उनकी कर्मभूमि अमेरिका रही जहाँ सन् 1932 में छपी उनकी पुस्तक "द प्रॉफ़ेट" प्रसिद्ध हुई।


हर सप्ताह यहीं पर सुनें एक नयी हिन्दी कहानी

“उन्होंने एक दूसरे का अभिवादन किया और ठहरे हुए जल के किनारे बैठकर बातें करने लगे।”
 (खलील जिब्रान की लघुकथा "आनंद और पीड़ा" से एक अंश)



नीचे के प्लेयर से सुनें.


(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)
यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाऊनलोड कर लें:
आनंद और पीडा MP3

#Twenty Second Story, Anand aur Peeda; Khalil Gibran; Hindi Audio Book/2016/22. Voice: Usha Chhabra

Tuesday, November 29, 2016

गीत चतुर्वेदी का रानीखेत एक्स्प्रैस

लोकप्रिय स्तम्भ "बोलती कहानियाँ" के अंतर्गत हम हर सप्ताह आपको सुनवाते रहे हैं नई, पुरानी, अनजान, प्रसिद्ध, मौलिक और अनूदित, यानि के हर प्रकार की कहानियाँ। इस शृंखला में पिछली बार आपने पूजा अनिल के स्वर में दर्शन सिंह आशट की बालकथा "गोपी लौट आया" का वाचन सुना था।

साहित्यकार गीत चतुर्वेदी के जन्मदिन के शुभ अवसर पर उन्हें शुभकामनाएं देते हुए आज हम आपकी सेवा में प्रस्तुत कर रहे हैं उनके उपन्यास रानीखेत एक्स्प्रैस का एक अंश जिसे स्वर दिया है पूजा अनिल ने।

प्रस्तुत अंश का कुल प्रसारण समय 9 मिनट 59 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं। इस उपन्यास अंश का गद्य सबद ब्लॉग पर पढा जा सकता है।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिको, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।

27 नवम्बर 1977 को मुम्बई में जन्मे गीत चतुर्वेदी हिंदी के कवि, लेखक व आलोचक हैं।


हर सप्ताह यहीं पर सुनें एक नयी हिन्दी कहानी

“उस दौरान मुझे पहली बार लगा कि प्यार में भी जेनरेशन गैप होता है।”
 (गीत चतुर्वेदी के उपन्यास रानीखेत एक्स्प्रेस से एक अंश)



नीचे के प्लेयर से सुनें.


(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)
यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाऊनलोड कर लें:
रानीखेत एक्सप्रेस MP3

#Twenty First Story, Ranikhet Express; Geet Chaturvedi; Hindi Audio Book/2016/21. Voice: Pooja Anil

Tuesday, November 15, 2016

बोलती कहानियाँ: गोपी लौट आया

लोकप्रिय स्तम्भ "बोलती कहानियाँ" के अंतर्गत हम हर सप्ताह आपको सुनवाते रहे हैं नई, पुरानी, अनजान, प्रसिद्ध, मौलिक और अनूदित, यानि के हर प्रकार की कहानियाँ। इस शृंखला में पिछली बार आपने अनुराग शर्मा के स्वर में माधव नागदा की लघुकथा "माँ" का पाठ सुना था।

बाल दिवस अवसर पर इस बार हम आपकी सेवा में प्रस्तुत कर रहे हैं दर्शन सिंह आशट की बालकथा गोपी लौट आया, जिसे स्वर दिया है पूजा अनिल ने।

प्रस्तुत लघुकथा "गोपी लौट आया" का कुल प्रसारण समय 7 मिनट 32 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं। इस लघुकथा का गद्य अभिव्यक्ति में पढा जा सकता है।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिको, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।

कविता संग्रह के लिए केंद्र साहित्य अकादमी पुरस्कार 2011 के विजेता डॉ. दर्शन सिंह आशट लगभग सत्तर पुस्तकों के लेखक हैं। पटियाला निवासी डॉ. आशट बालप्रीत पत्रिका के सम्पादक भी हैं।


हर सप्ताह यहीं पर सुनें एक नयी हिन्दी कहानी

“मॉडल स्कूल में पढते हो, वहाँ यही सब सिखाते हैं क्या?”
 (दर्शन सिंह आशट की कथा "गोपी लौट आया" से एक अंश)



नीचे के प्लेयर से सुनें.


(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)
यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाऊनलोड कर लें:
गोपी लौट आया MP3

#Twenteenth Story, Gopi Laut Aaya; Darshan Singh Ashat; Hindi Audio Book/2016/20. Voice: Pooja Anil

The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ