Tuesday, October 8, 2019

नेलकटर (उदय प्रकाश)

लोकप्रिय स्तम्भ "बोलती कहानियाँ" के अंतर्गत हम हर सप्ताह आपको सुनवाते रहे हैं नई, पुरानी, अनजान, प्रसिद्ध, मौलिक और अनूदित, यानि के हर प्रकार की कहानियाँ। पिछली बार आपने शीतल माहेश्वरी के स्वर में असग़र वजाहत की 'ड्रेन में रहने वाली लड़कियाँ' का पाठ सुना था। आज हम आपकी सेवा में प्रस्तुत कर रहे हैं, उदय प्रकाश की मर्मस्पर्शी कथा नेलकटर, जिसे स्वर दिया है अनुराग शर्मा ने।

इस कहानी नेलकटर का कुल प्रसारण समय 8 मिनट 7 सेकंड है। इसका गद्य हिन्दी समय पर उपलब्ध हैं। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिकों, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।



गांधी जी
कहते थे -
'अहिंसा'
और डंडा लेकर
पैदल घूमते थे।

(उदय प्रकाश)



हर सप्ताह यहीं पर सुनें एक नयी हिन्दी कहानी

"माँ को बोलने में दर्द बहुत होता होगा। इसलिए कम ही बोलती थीं।।”
(उदय प्रकाश की कथा "नेलकटर" से एक अंश)

नीचे के प्लेयर से सुनें.


(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)
यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाउनलोड कर लें:
नेलकटर MP3

#Twenty Fifth Story, Nail Cutter; Uday Prakash; Hindi Audio Book/2019/25. Voice: Anurag Sharma

5 comments:

Udan Tashtari said...

भीतर तक झकझोर दिया..वाकई कितनी सारी चीजों की जगह भूल गए है हम...

Uday Prakash said...

आभार !

Uday Prakash said...

आभार !

Smart Indian said...

धन्यवाद! 🙏

अर्चना तिवारी said...

बहुत अच्छी लगी यह कहानी।

The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ