गुरुवार, 26 जनवरी 2012

२६ जनवरी- आज का गाना


गाना: जहाँ डाल डाल पर

चित्रपट:सिकंदर-ए-आज़म
संगीतकार:हंसराज बहल
गीतकार:राजिंदर कृशन
गायक:मोहम्मद रफी







जहाँ डाल-डाल पर सोने की चिड़िया करती है बसेरा
वो भारत देश है मेरा

जहाँ सत्य, अहिंसा और धर्म का पग-पग लगता डेरा
वो भारत देश है मेरा

ये धरती वो जहाँ ऋषि मुनि जपते प्रभु नाम की माला
जहाँ हर बालक एक मोहन है और राधा हर एक बाला
जहाँ सूरज सबसे पहले आ कर डाले अपना फेरा
वो भारत देश है मेरा

अलबेलों की इस धरती के त्योहार भी हैं अलबेले
कहीं दीवाली की जगमग है कहीं हैं होली के मेले
जहाँ राग रंग और हँसी खुशी का चारों ओर है घेरा
वो भारत देश है मेरा

जब आसमान से बातें करते मंदिर और शिवाले
जहाँ किसी नगर में किसी द्वार पर कोई न ताला डाले
प्रेम की बंसी जहाँ बजाता है ये शाम सवेरा
वो भारत देश है मेरा


2 टिप्‍पणियां:

इन्दु पुरी ने कहा…

बचपन से आज तक ऐसा कोई स्वतंर्ता दिवस या गणतंत्र दिवस नही देखा जिसमे इस गाने को नही बजाय गया हो.........बेश जब तक देश,दुनिया है यह और ऐसे ही कुछ गाने हर साल इन दो दिनों मे तो बजेंगे ही.इनके बिना यह राष्ट्रीय पर्व सूने हो जैसे.पर्याय बन गये है इस दिन के.
बहुत खूबसूरत गाना है देश के हर कोने मे जैसे देश प्रेम की लहर सी उठा देता है यह गाना.सही समय पर ,सही मौके पर क्या खूब गाना चुन लाये हो अमित ! बधाई,थेंक्स,प्यार. जियो, खूब उन्नति प्रगति करो तुम....तुम्हारी टीम और.......अपना भारत

कृष्णमोहन ने कहा…

यह मेरा बेहद प्रिय गीत है।

The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ