सोमवार, 9 जुलाई 2012

'सिने पहेली' महाविजेता बनने के नियम में किया गया है बदलाव, जुड़िये इस अनोखी प्रतियोगिता से, आज ही...


सिने-पहेली # 28 (9 जुलाई, 2012) 


रेडियो प्लेबैक इण्डिया के साप्ताहिक स्तंभ 'सिने पहेली' के सभी पाठकों और प्रतियोगियों को सुजॉय चटर्जी का प्यार भरा नमस्कार! दोस्तों, पिछली पहेली के जवाबों को ढूंढने में हमारे प्रतियोगी न जाने कैसे कैसे प्रयास किए हैं, क्या बताएँ! जहाँ कुछ प्रतियोगी हमसे रविवार तक का समय माँगा है, तो एक प्रतियोगी ऐसे भी हैं जो अस्पताल में भर्ती होने की वजह से सप्ताह भर जवाब नहीं दे सके, पर अस्पताल से अपने भाई के माध्यम से रविवार शाम को जवाब भिजवा दिया है। वैसे तो जवाब भेजने की समय सीमा शनिवार शाम 5 बजे तक का ही होता है, पर आप ही बताएँ कि जब आप इतनी रुचि, लगन और प्यार से हमें जवाब भेजते हैं तो भला हम अस्वीकार कैसे करें। इसलिए इस बार रविवार को भी मिलने वाले जवाबों को हमने शामिल कर लिया है। हमें यह देख कर बहुत ही अच्छा लगता है कि आप सब इस प्रतियोगिता को इतनी गंभीरता से ले रहे हैं; हम से ज़्यादा आप इसमें रुचि ले रहे हैं, और इसके लिए हम आप सभी के तहे दिल से आभारी हैं। आपसे बस यह अनुरोध है कि आप सब नियमित रूप से इस प्रतियोगिता में भाग लें और अपने मित्रों को भी इससे जुड़ने का परामर्श दें। 

और अब एक सुखद समाचार। आप सब के सुझाव पर और 'रेडियो प्लेबैक इण्डिया' के संचालक मंडल से विचार-विमर्श के बाद हमने महाविजेता बनने के नियमों में कुछ फेर-बदल किए हैं जो इस प्रकार हैं....

महाविजेता बनने के नियमों में बदलाव

दोस्तों, अब तक नियम ऐसा था कि 'सिने पहेली' के 100 एपिसोड्स को 10 सेगमेण्ट्स में बाँटा गया था, और हर सेगमेण्ट का एक विजेता घोषित होता था। इस तरह से 10 सेगमेण्ट्स में सर्वाधिक विजेता बनने वाला महाविजेता चुन लिया जाता। हमारे इस नियम से कई प्रतियोगियों ने अफ़सोस जताया है कि इससे सेगमेण्ट के दूसरे और तीसरे स्थान पर रहने वाले प्रतियोगी (जो प्रथम स्थान वाले प्रतियोगी से बहुत पीछे नहीं हुआ करते) के साथ थोड़ा अन्याय हो जाता है, इसलिए दूसरे और तीसरे स्थान वाले को भी महाविजेता की लड़ाई लड़ने दिया जाए। 

हमें यह बात तर्क-संगत लगी और इसलिए हमने अब फ़ैसला लिया है कि हर सेगमेण्ट के अंत में प्रथम स्थान पाने वाले प्रतियोगी को 3 अंक, दूसरा स्थान पाने वाले प्रतियोगी को 2 अंक और तीसरा स्थान पाने वाले प्रतियोगी को 1 अंक दिया जाएगा, और ये अंक महाविजेता की लड़ाई में जुड़ते चले जायेंगे। पहले और दूसरे सेगमेण्ट में पंकज मुकेश दूसरे स्थान पर और क्षिति तिवारी व रीतेश खरे क्रम से तीसरे स्थान पर आए थे, इसलिए अब तक का "महाविजेता स्कोर कार्ड" इस प्रकार रहा...


हमें पूरी उम्मीद है कि इस बदले हुए नियम से इस प्रतियोगिता को एक नया रूप मिलेगा, आप सब प्रतियोगियों में एक नया जोश भर देगा, क्योंकि अब कोई भी महाविजेता बन सकता है, सीरीज़ के अंत तक महाविजेता कौन होगा, इसका निर्धारण करना मुश्किल होगा, ऐसी हम आशा करते हैं। अभी भी बिल्कुल देर नहीं हुई है, आप सब डटे रहिए और अपने मित्रों, रिश्तेदारों और सह-कर्मचारियों को इस दिलचस्प प्रतियोगिता के बारे में बताएँ और इसमें भाग लेकर 5000 रुपये के नगद इनाम जीतने के लिए प्रोत्साहित करें। चलिए अब शुरू किया जाए आज की पहेली। 


आज की पहेली: सवाल सावन के

दोस्तों, मानसून के पूरे देश में छा जाने से मौसम बड़ा सुहाना हो गया है। तो क्यों न आज का यह अंक हम समर्पित करें ऋतुओं की रानी, वर्षा ॠतु को! आज हम एक नहीं बल्कि कई पहेलियाँ पूछने जा रहे हैं, हर पहेली के आपको 2 अंक मिलेंगे। पर याद रहे हर पहेली के सभी सवालों के सही जवाब देने पर ही 2 अंक मिलेंगे। आधा जवाब सही होने की स्थिति में 1 अंक नहीं दिया जाएगा। तो ये रही आज की पहेलियाँ...

पहेली-1: गान पहचान

यह एक आइटम नंबर है जिसे फ़िल्म की कहानी में किसी स्टेज शो के सिचुएशन में रखा गया है। गीत के मुखड़े में "सावन" और "झूलों" की बात भी की गई है। गीत में नायक की भूमिका में वो अभिनेता हैं जिनकी एक उल्लेखनीय फ़िल्म का शीर्षक उस फ़िल्म के खलनायक चरित्र के नाम से है। गीत में नायिका की भूमिका में वो अभिनेत्री हैं जिन पर गायिका अनुराधा पौडवाल का पहला "सुपर-डुपर हिट" गीत फ़िल्माया गया था। तो फिर बताइए गीत और नायक-नायिका के नाम।

पहेली-2: मिलते-जुलते

पहेली-1 के गीत में "सावन" का ज़िक्र है और गीत स्टेज शो में फ़िल्माया गया है। इन दो समानताओं को ध्यान में रखते हुए क्या आप दो और युगल गीत सुझा सकते हैं?

पहेली-3: एक गीत दो रूप

एक फ़िल्म बनी थी जिसमें दो गीत ऐसे थे जिन्हें एक ही सिक्के के दो पहलु कहे जा सकते हैं। गीत की धुन बिल्कुल एक है; एक गीत पुरुष स्वर में है तो दूसरा गीत है महिला कंठ में। एक में बारिश को बरसने की बात कही गई है तो दूसरे में बारिश से रुकने की माँग हो रही है। कौन सी है यह फ़िल्म, कौन से हैं ये दो गीत, और किन गायक-गायिका की आवाज़ों में हैं ये दो गीत?

पहेली-4: कौन हूँ मैं?

मैं एक पार्श्वगायिका हूँ। मेरी पहली हिन्दी फ़िल्म में मैंने कई गीत गाए थे जिनमें से एक गीत के मुखड़े में "सावन" का ज़िक्र है। गीत के फ़िल्मांकन में नायिका और उसकी सहेलियाँ साइकिल पे सवार होकर यह गीत गाती चली जा रही हैं। बताइए मैं कौन हूँ और कौन सी थी वह मेरी पहली फ़िल्म?

पहेली-5: पहचान कौन

नीचे दिए गए दो चित्रों को देख कर अनुमान लगाइए कि आशा पारेख पर फ़िल्माया हुआ यह कौन सा गीत है जिसके बोलों में वर्षा ऋतु का वर्णन है।





पहेली-6: एक और अनेक

यह एक ऑडियो कुइज़ है। नीचे दिए प्लेयर को क्लिक करके मेडली को सुनें। इसमें आपको वर्षा के चार गीतों के अंश सुनाई देंगे। इनमें से तीन गीत किसी एक राग पर आधारित हैं और चौथा गीत किसी अन्य राग पर। ध्यान से सुन कर बताइए कि वह चौथा गीत कौन सा है जिसका राग अन्य तीन गीतों के राग से भिन्न है? साथ ही आपको इस चौथे गीत के फ़िल्म का नाम भी बताना है। (सौजन्य: श्री कृष्णमोहन मिश्र)




*********************************************

और अब ये रहे इस प्रतियोगिता में भाग लेने के कुछ आसान से नियम....

१. जवाब भेजने के लिए आपको करना होगा एक ई-मेल cine.paheli@yahoo.com के ईमेल पते पर। 'टिप्पणी' में जवाब न कतई न लिखें, वो मान्य नहीं होंगे।

२. ईमेल के सब्जेक्ट लाइन में "Cine Paheli # 28" अवश्य लिखें, और जवाबों के नीचे अपना नाम व स्थान लिखें।

३. आपका ईमेल हमें शनिवार 14 जुलाई शाम 5 बजे तक अवश्य मिल जाने चाहिए। इसके बाद की प्रविष्टियों को शामिल कर पाना हमारे लिए संभव न होगा। अगर किसी महत्वपूर्ण कारण से आप जवाब समय पर नहीं भेज सके, तो इस स्थिति में हमें +919878034427 मोबाइल नंबर पर SMS के माध्यम से अवश्य सूचित करें।

४. आप अपने जवाब एक ही ईमेल में लिखें। किसी प्रतियोगी का पहला ईमेल ही मान्य होगा। इसलिए सारे जवाब प्राप्त हो जाने के बाद ही अपना ईमेल भेजें।

है न बेहद आसान! तो अब देर किस बात की, लगाइए अपने दिमाग़ पे ज़ोर और जल्द से जल्द लिख भेजिए अपने जवाब। महाविजेता बन कर 5000 रुपये के नकद इनाम पर लगाइए अपने नाम का मोहर!


'सिने पहेली - 27' के सही जवाब

१. भीगी चाँदनी छायी बेख़ुदी (सुहागन)
२. अखियाँ भूल गयीं हैं सोना (गूंज उठी शहनाई)
३. मिलती है ज़िंदगी में मुहब्बत कभी-कभी (आँखें)
४. आँकी चली बाँकी चली (नमकीन)
५. पंख्ह होते तो उड़ आती रे (सेहरा)
६. कतरा कतरा मिलती है (इजाज़त)
७. ये मेरा दिल यार का दीवाना (डॉन)
८. वो किसना है (किसना)
९. पैरों में बंधन है (मोहब्बतें)
१०. होठों पे ऐसी बात (ज्वेल थीफ़)

'सिने पहेली - 27' के विजेता


1. शुभ्रा शर्मा, नयी दिल्ली --- 10 अंक
2. सलमन ख़ान, अलीगढ़ --- 10 अंक
3. क्षिति तिवारी, इंदौर --- 10 अंक
4. प्रकाश गोविन्द, लखनऊ --- 10 अंक
5. पंकज मुकेश, बेंगलुरू --- 9 अंक
6. गौतम केवलिया, बीकानेर --- 8 अंक
7. विजय कुमार व्यास, बीकानेर --- 8 अंक
8. रीतेश खरे, मुंबई --- 8 अंक
9. अमित चावला, दिल्ली --- 8 अंक
10. चन्द्रकान्त दीक्षित, लखनऊ --- 7 अंक

'सिने पहेली' प्रतियोगिता के तीसरे सेगमेण्ट में अब तक का सम्मिलित स्कोर-कार्ड यह रहा...


सभी प्रतियोगियों को हार्दिक बधाई। अंक सम्बंधित अगर आपको किसी तरह की कोई शिकायत हो, तो cine.paheli@yahoo.com के पते पर हमें अवश्य सूचित करें। 

'सिने पहेली' को और भी ज़्यादा मज़ेदार बनाने के लिए अगर आपके पास कोई सुझाव है तो 'सिने पहेली' के ईमेल आइडी पर अवश्य लिखें। आप सब भाग लेते रहिए, इस प्रतियोगिता का आनन्द लेते रहिए, क्योंकि महाविजेता बनने की लड़ाई अभी बहुत लम्बी है। आज के एपिसोड से जुड़ने वाले प्रतियोगियों के लिए भी 100% सम्भावना है महाविजेता बनने का। इसलिए मन लगाकर और नियमित रूप से (बिना किसी एपिसोड को मिस किए) सुलझाते रहिए हमारी सिने-पहेली, करते रहिए यह सिने मंथन, और अनुमति दीजिए अपने इस ई-दोस्त सुजॉय चटर्जी को, आपकी और मेरी दोबारा मुलाक़ात होगी अगले सोमवार इसी स्तंभ में, नमस्कार!

2 टिप्‍पणियां:

Alpana Verma ने कहा…

नया अंक सिस्टम अच्छा लगा .अब पहेली अधिक रोचक हो गयी है.
अंतिम तारीख तक न भेज पाने का उचित कारण जानने के बाद आप जवाब स्वीकार कर सकेंगे , यह सराहनीय निर्णय है.
आभार.

इन्दु पुरी ने कहा…

दिनोंदिन इंटरेस्टिंग होती जा रही है यह तो ! लगता है अब तो आना ही पड़ेगा.बहुत दिनों तक दूर नही रह सकती अब इससे.कितना मिस करती हूँ आप सबको मैं :(
यहाँ हम सभी हंसी खुशी मिलने मिलाने आते हैं.इस साईट से जुड़े रहना चाहते हैं ऐसे में नियम में बदलाव स्वीकार्य है जी.
कितना खूबसूरत हो गया है इसका नया रूप.मन खुश हो गया देखकर. जियो.

The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ