सोमवार, 2 अप्रैल 2012

सिने-पहेली में जीतिये 5000 रुपये के इनाम


 सिने-पहेली # 14 (2 अप्रैल, 2012)

'सिने-पहेली' के एक नये अंक में मैं, कृष्णमोहन मिश्र, आप सभी का फिर एक बार स्वागत करता हूँ। इस स्तम्भ के प्रस्तुतकर्ता और हम सबके प्रिय सुजॉय चटर्जी की अस्वस्थता के कारण आज यह अंक लेकर आपके सम्मुख मुझे उपस्थित होना पड़ा। पिछले अंक में हमने यह घोषणा की थी कि 'सिने पहेली' के 100 अंकों के बाद जो महाविजेता बनेगा, उन्हें हम इनाम स्वरूप 5000 रुपये की नकद राशि भेंट करेंगे। अर्थात् 10 सेगमेण्ट्स की लड़ाई में जो सर्वाधिक सेगमेण्ट का विजेता होगा, उन्हें इस पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। अभी सिर्फ़ दूसरा ही सेगमेण्ट चल रहा है। इसका अर्थ यह हुआ कि कोई भी महाविजेता बन सकता है। आज के अंक से ही आप 'सिने पहेली' प्रतियोगिता में भाग लें और हमारे सवालों के जवाब cine.paheli@yahoo.com के पते पर लिख भेजें। तो आइए शुरु करते हैं 'सिने पहेली – 14' के सवालों का सिलसिला-


*********************************************

सवाल-1: गोल्डन वॉयस

गोल्डन वॉयस में आज हम आपको सुनवाने जा रहे हैं देश की आज़ादी के समय की एक फ़िल्म के गीत का एक अंश जिसे तत्कालीन चर्चित गायिका और अभिनेत्री ने गाया था। अपने प्रभावी व्यक्तित्व के कारण अभिनेत्री के रूप में ये हमेशा चर्चित रहीं। क्या आप हमें इस गायिका- अभिनेत्री का नाम बता सकते है? 


सवाल-2: पहचान कौन?

आज की चित्र पहेली में आप 1953 की एक फिल्म का गीत-दृश्य देख रहे हैं। राजा नवाथे के निर्देशन में यह फिल्म बनी थी। आपको इस चित्र में दिखाई दे रहे तांगा चलाते गायक-अभिनेता का नाम तथा गीत का मुखड़ा अर्थात पहली पंक्ति बताना है। दोनों जवाब सही होने पर ही अंक मिलेगा।




सवाल-3: सुनिये तो...

'सुनिये तो...' में आज आपको सुनवा रहे हैं, ऐतिहासिक पृष्ठभूमि पर बनी एक फिल्म के सदाबहार गीत का अंश। फिल्म का मूल गीत इस आवाज़ में नहीं है। सुनवाया जा रहा गीत फिल्म से जुड़े एक संगीत कलाकार की आवाज़ में है। आपको सुनवाई गई इस आवाज़ को पहचानना है। 


सवाल-4: बताइये ना!

और अब चौथे सवाल के रूप में हम आपको उस्ताद बड़े गुलाम अली खाँ के स्वर में एक फिल्म-गीत सुनवाते हैं। खाँ साहब का आज जन्म-दिवस है। यह गीत हम उनकी स्मृति को समर्पित करते हैं। आप बताइए कि यह गीत किस राग पर आधारित है? 


सवाल-5: गीत अपना धुन पराई

और अब पाँचवा और आख़िरी सवाल। सुनिए इस विदेशी गीत को और पहचानिए वह हिन्दी फ़िल्मी गीत जो इस धुन से प्रेरित है। 


*********************************************

तो दोस्तों, हमने पूछ लिए हैं आज के पाँचों सवाल, और अब ये रहे इस प्रतियोगिता में भाग लेने के कुछ आसान से नियम

1. अगर आपको सभी पाँच सवालों के जवाब मालूम है, फिर तो बहुत अच्छी बात है, पर सभी जवाब अगर मालूम न भी हों, तो भी आप भाग ले सकते हैं, और जितने भी जवाब आप जानते हों, वो हमें लिख भेज सकते हैं।

2. जवाब भेजने के लिए आपको करना होगा एक ई-मेल cine.paheli@yahoo.com के ईमेल पते पर। 'टिप्पणी' में जवाब न कतई न लिखें, वो मान्य नहीं होंगे।

3. ईमेल के सब्जेक्ट लाइन में "Cine Paheli # 14" अवश्य लिखें, और जवाबों के नीचे अपना नाम, स्थान और पेशा लिखें।

4. आपका ईमेल हमें शुक्रवार 6 अप्रैल तक मिल जाने चाहिए।

है न बेहद आसान! तो अब देर किस बात की, लगाइए अपने दिमाग़ पर ज़ोर और जल्द से जल्द लिख भेजिए अपने जवाब। जैसा कि हमने शुरु में ही कहा है कि हर सप्ताह हम सही जवाब भेजने वालों के नाम घोषित किया करेंगे, और सौवें अंक के बाद "महाविजेता" का नाम घोषित किया जाएगा।

******************************************

और अब 26 मार्च को पूछे गए 'सिने-पहेली # 13' के सवालों के सही जवाब

1॰ पहले सवाल 'गोल्डन वॉयस' में हमने आपको जो आवाज़ सुनवाई थी, वह आवाज़ थी शमशाद बेगम और मुबारक बेगम की और 1955 की फिल्म 'सौ का नोट' से यह गीत लिया गया था।

2. 'चित्र-पहेली' में दिखाए गए चित्र में लता मंगेशकर के साथ नज़र आ रहे हैं- पाकिस्तान के कलाकार मोईन अख्तर।

3. 'सुनिये तो' में हमने जिस गीत के बारे में पूछा था, वह फिल्म ‘आँधी’ से लिया गया गीत है-‘इस मोड से जाते हैं...’।

4. ‘बताइये ना’ सवाल का सही उत्तर है- अ) Lux Soap 1990 की फिल्म 'थानेदार' के गीत 'जब से हुई है शादी...' के एक अन्तरे '...वो लक्स में नहा कर खुशबू में तर रहेंगी...' में इस साबुन का जिक्र है।

5. 'गीत अपना धुन पराई' में जो विदेशी गीत सुनवाया था, उससे प्रेरित हिन्दी गीत है, संगीतकार रवि का संगीतबद्ध किया फ़िल्म 'ये रास्ते हैं प्यार के' का इसी मुखड़े वाला गीत।

और अब 'सिने पहेली # 13' के विजेताओं के नाम ये रहे-

1. क्षिति तिवारी, इन्दौर --- 5 अंक
2. प्रकाश गोविन्द, लखनऊ --- 5 अंक
3. अमित चावला, दिल्ली --- 3 अंक
4. पंकज मुकेश, बेंगलुरू --- 3 अंक
5. शरद तैलंग --- 3 अंक
6. रीतेश खरे --- 3 अंक
7. अभिषेक कुमार, हुबली --- 1 अंक


सभी विजेताओं को हार्दिक बधाई। अंक से सम्बन्धित अगर आपको किसी तरह की कोई शिकायत हो, तो cine.paheli@yahoo.com के पते पर हमें अवश्य सूचित करें। हम फिर एक बार उन साथियों से, जिन्होंने अभी तक इस प्रतियोगिता में भाग नहीं लिया है, अनुरोध करते हैं कि 'सिने पहेली' के सवालों के जवाब भेज कर इस जंग में शामिल जायें, यकीन मानिए बड़ा मज़ा आएगा। तो आज बस इतना ही, अगले सप्ताह आपसे इसी स्तम्भ में दोबारा मुलाक़ात होगी, तब तक के लिए सुलझाते रहिए हमारी सिने-पहेली, करते रहिए यह सिने-मंथन, और अनुमति दीजिए अपने इस ई-दोस्त कृष्णमोहन मिश्र को। नमस्कार!

कोई टिप्पणी नहीं:

The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ