Saturday, May 22, 2010

सुनो कहानी: एक बंगला फिल्म - शरद जोशी

'सुनो कहानी' इस स्तम्भ के अंतर्गत हम आपको सुनवा रहे हैं प्रसिद्ध कहानियाँ। पिछले सप्ताह आपने प्रसिद्ध व्यंग्यकार पंकज सुबीर लिखित रचना "तुम लोग" का पॉडकास्ट अनुराग शर्मा की आवाज़ में सुना था। आवाज़ की ओर से आज हम आपकी सेवा में प्रस्तुत कर रहे हैं शरद जोशी लिखित व्यंग्य "एक बंगला फिल्म", जिसको स्वर दिया है अनुराग शर्मा ने।
"एक बंगला फिल्म" का कुल प्रसारण समय मात्र 8 मिनट 34 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।
यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिको, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं हमसे संपर्क करें। अधिक जानकारी के लिए कृपया यहाँ देखें।



लेखन मेरा निजी उद्देश्य है ... मैं इससे बचकर जा भी नहीं सकता।
~ पद्मश्री शरद जोशी (जन्म २१ मई १९३१; उज्जैन)

हर शनिवार को आवाज़ पर सुनें एक नयी कहानी

मैं और नरेन्द्र दोनों गंवार लग रहे थे।
(शरद जोशी के व्यंग्य "एक बंगला फिल्म" से एक अंश)

नीचे के प्लेयर से सुनें.
(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)

यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाऊनलोड कर लें:
VBR MP3
#29th Story, ek bangla film: Sharad Joshi/Hindi Audio Book/2010/10. Voice: Anurag Sharma

1 comment:

विश्व दीपक said...

mujhe poori kahaani mein lag rahaa tha ki kuchh to jhol hai.

ant sunkar mazaa aa gayaa.

dhanyawaad,
Vishwa Deepak

The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ