बुधवार, 15 अक्तूबर 2008

सुनो कहानी: अकेली - मन्नू भंडारी की कहानी

मन्नू भंडारी की एक सुंदर कहानी-अकेली का प्रसारण

'सुनो कहानी' के अंतर्गत आज हम आपके लिए लेकर आए  हैं मन्नू भंडारी जी की एक सुंदर कहानी-अकेली. इस कहानी में सोमा नाम की एक प्रौढ़ महिला की व्यथा का वर्णन है. सोमा अकेली थी इसी कारण अपने आस पास के लोगों के सुख दुःख में बिना बुलाये जाती और उन सबकी खुशी में अपनी खुशी ढूंढ रही थी किंतु स्वार्थी लोगों और सम्बन्धियों के व्यवहार से टूट जाती है. आईये सुनें  "अकेली", जिसको स्वर दिया है शोभा महेन्द्रू ने। शोभा जी का नाम आवाज़ के श्रोताओं के लिए नया नहीं है. उनकी रचनाएं हमें हिंद-युग्म पर पढने को और पॉडकास्ट कवि सम्मलेन में सुनने को मिलती रही हैं. शिक्षक दिवस के अवसर पर हमने प्रेमचंद की कहानी प्रेरणा को शोभा जी के स्वर में प्रस्तुत किया था. इसके अलावा शोभा जी की आवाज़ को विमल चंद्र पाण्डेय की कहानी 'स्वेटर' के नाट्य रूपांतर में भी बहुत पसंद किया गया था. सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।

नीचे के प्लेयर से सुनें.

(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)



यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंकों से डाऊनलोड कर लें (ऑडियो फ़ाइल तीन अलग-अलग फ़ॉरमेट में है, अपनी सुविधानुसार कोई एक फ़ॉरमेट चुनें)


VBR MP364Kbps MP3Ogg Vorbis


आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिको, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं, तो यहाँ देखें।

#Suno Kahani, Story, Akeli Si: Mannu Bhandari/Hindi Audio Book. Voice: Shobha Mahendru

5 टिप्‍पणियां:

रंजना [रंजू भाटिया] ने कहा…

बहुत बढ़िया प्रयास है यह

shivani ने कहा…

मन्नू भंडारी जी की कहानी अकेली बहुत अच्छी और मार्मिक लगी !शोभा जी आप बधाई की पात्र हैं !सोमा बुआ की भावनाओं को आपने बहुत ही प्रभावपूर्ण तरीके से प्रस्तुत किया है !आप आवाज़ की दुनिया का चमकता सितारा हैं !भविष्य में आपसे और भी कहानियो की आशा रखती हूँ !

सजीव सारथी ने कहा…

शोभा जी बहुत ही मार्मिक कहानी है और आपकी आवाज़ और अंदाज़ लगातार और बेहतर होता जा रहा है पार्श्व संगीत भी अनुकूल है.....वाह बहुत खूब

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन ने कहा…

शोभा जी,
इस प्रस्तुति के लिए आभार स्वीकारें. मानवीय भावनाओं का निरूपण करने मे मन्नू भंडारी का जवाब नहीं है. मेरी प्रिय लेखिका की कहानी को स्वर देकर आपने उसे अत्यधिक प्रभावी बना दिया है. आशा है आपके स्वर मे मन्नू भंडारी की और भी रचनाएं सुनने को मिलेंगी. कृपया जारी रखें, धन्यवाद!

~ अनुराग शर्मा

A.D.Sprout ने कहा…

the story is good.
but background music was not matching and it ts creating disturbance while listening story..
its better if u use very very light music..
best if no music just sound effects..
Anyway effort is too good...
nice work.......

The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ