Thursday, March 27, 2014

साहिर और रोशन की अनूठी जुगलबंदी से बनी ये नायाब कव्वाली





खरा सोना गीत - निगाहें मिलाने को जी चाहता है 
प्रस्तोता - रचिता टंडन 
स्क्रिप्ट - सुजॉय चट्टर्जी 
प्रस्तुति - संज्ञा टंडन 

2 comments:

Anonymous said...

बहुत शानदार कव्वाली - एक भारतीय नागरिक ।

Unknown said...

bahut sunder kitni mithas hai

The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ