Tuesday, April 9, 2013

जय प्रकाश उर्फ जे पी - दीपक बाबा

इस साप्ताहिक स्तम्भ "बोलती कहानियाँ" के अंतर्गत हम हर सप्ताह आपको सुनवा रहे हैं हिन्दी की रोचक कहानियाँ। पिछले सप्ताह आपने अनुराग शर्मा की आवाज़ में गिरिजाशंकर भगवानजी "गिजुभाई" बधेका की गुजराती लोक-कथा "भोला भट्ट" का पॉडकास्ट सुना था। आज हम आपकी सेवा में प्रस्तुत कर रहे हैं दीपक बाबा की कहानी "जय प्रकाश उर्फ जे पी" जिसे स्वर दिया है अनुराग शर्मा ने।

इस कहानी का टेक्स्ट "दीपक बाबा की बकबक" ब्लॉग पर उपलब्ध है।

इस कहानी का कुल प्रसारण समय 8 मिनट 57 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।


जब दुनिया ही तमाशा बन जाए - तो बक बक करने में बुराई क्या है।
~ दीपक बाबा

हर सप्ताह यहीं पर सुनें एक नयी कहानी

सफ़ेद बाल मोटा चश्मा और उम्र लगभग ७०-७२ साल मुस्कुराहट के साथ।
(दीपक बाबा की कहानी "जय प्रकाश उर्फ जे पी" से एक अंश)


नीचे के प्लेयर से सुनें:

(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)

यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाऊनलोड कर लें:
जय प्रकाश उर्फ जे पी MP3
(लिंक पर राइट क्लिक करके सेव ऐज़ का विकल्प चुनें और ऑडियो फाइल सेव कर लें)

#12th Story, Jaiprakash Urf JP: Deepak Baba/Hindi Audio Book/2013/12. Voice: Anurag Sharma

5 comments:

Archana Chaoji said...

अच्छा लगा सुनना कहानी भी बहुत अच्छी ..... वाचन मे नयापन भी लगा (स्टाईल) ... हँसी तो बहुत वास्तविक लगी ... आभार

Unknown said...

आभार अनुराग जी, आपने न केवल इस कहानी को आवाज़ दी अपितु उसका जो संपादन किया वो भी अच्छा लगा. एक बार फिर धन्यवाद.

सुज्ञ said...

संस्मरण कथा में जैसे प्राण फूंक दिए है।
कर्ण प्रिय आवाज के साथ, सहज हृदयगम!!

दिगंबर नासवा said...

वाह ... अनुराग जी की बेहतरीन आवाज़ ने कहानी का मज़ा दुगना कर दिया ... बहुत खूब ...

Smart Indian said...

धन्यवाद!

The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ