शुक्रवार, 11 अप्रैल 2014

खूबसूरत शब्दों से बुना एक गीत

ताज़ा सुर ताल -२०१४-१५

तुझ बिन सूरज में आग नहीं रे, तुझ बिन कोयल में राग नहीं रे, चंदनिया तो बरसे , फिर क्यों मेरे हाथ अँधेरे लग ले ने ....अमिताभ भट्टाचार्य के लिखे इस खूबसूरत मगर दर्द भरे गीत में एक अलग सी मिठास है. शंकर एहसान लॉय के जाने पहचाने अंदाज़ का है ये गीत, जिसे उतनी ही दिलकश आवाज़ में गाया निभाया है मोहन ने. मोहन, शंकर एहसान लॉय के बेहद चहेते गायक हैं, और हो भी क्यों न....मोहन की आवाज़ और अदायगी में गजब की रवानगी है. वैसे ये गीत एक युगल है जहाँ मोहन को साथ मिला है यशिता शर्मा ने. इस गीत में सबसे बड़ा कमाल रहा है गीतकार अमिताभ भट्टाचार्य का, जो शायद इस संगीतकार तिकड़ी के साथ पहली बार जुड़े हैं इस फिल्म में, जिसका नाम है २ स्टेस्ट्स . 

२ स्टेट्स  चेतन भगत के इसी नाम के मशहूर उपन्यास पर आधारित है, जहाँ दक्षिण की नायिका को पंजाब के नायक से प्यार हो जाता है. ये बिलकुल उसके उलट है जैसा कि दर्शक सुपर हिट एक दूजे के लिए  में देख चुके हैं. अगर आपने चेतान का उपन्यास पढ़ा है तो आप जानते होंगें कि कहानी में बहुत से दिलचस्प मौके हैं जो बड़े परदे पर भी आपको भायेगें. थ्री इडियट्स , और काई पो छे  के बाद चेतन की लिखी कहानी पर आधारित ये तीसरी फिल्म है. वैसे वन नाईट अट काल सेण्टर  पर आधारित सुपर फ्लॉप हेल्लो  को भी जोड़ दिया जाए तो ये संख्या ४ हो जाएगी. फिल्म के लिए पहली पसंद थे शाहरुख़ खान और आसीन पर बात नहीं बनी तो निर्माता ने रणबीर कपूर और सैफ अली खान तक बात पहुंचाई. अंततः अर्जुन कपूर पर आकर बात जम गयी, और अलिया भट्ट को चुना गया दक्षिण की नायिका के रोल के लिए. फिल्म में अमृता सिंह और रेवती की महत्वपूर्ण भूमिकाएं हैं. तो चलिए, फिर आप भी आनंद लें इस दमदार गीत का.   

                 

1 टिप्पणी:

Kailash ने कहा…

One By Two में भी अमिताभ जी ने इस संगीतकार तिकड़ी के साथ काम किया है। :)

The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ