Tuesday, January 21, 2014

लघु बोधकथा: मुनीश शर्मा

इस साप्ताहिक स्तम्भ "बोलती कहानियाँ" के अंतर्गत हम हर सप्ताह आपको हिन्दी में मौलिक और अनूदित, नई और पुरानी, प्रसिद्ध कहानियाँ और छिपी हुई रोचक खोजें सुनवाते रहे हैं। पिछली बार आपने अर्चना चावजी के स्वर में मनमोहन भाटिया की कथा "बड़ी दादी" का पाठ सुना था।

आज हम आपकी सेवा में प्रस्तुत कर रहे हैं मुनीश शर्मा द्वारा शब्दबद्ध आजके राजनीतिक परिदृश्य पर खरी उतरती एक लघु बोधकथा जिसे स्वर दिया है अनुराग शर्मा ने।

इस "लघु बोधकथा" का कुल प्रसारण समय 2 मिनट 16 सेकंड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिको, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।


अपनी मनमोहक वाणी के लिए प्रसिद्ध मुनीश शर्मा आजकल रेडियो जापान के हिन्दी विभाग में कार्यरत हैं और टोक्यो में रहते हैं। उनका ब्लॉग मयखाना है।

हर सप्ताह यहीं पर सुनें एक नयी हिन्दी कहानी

वह आने जाने वालों को सींग दिखाती और बच्चों को डराती ।
 (मुनीश शर्मा रचित एक लघु बोधकथा से एक अंश)





नीचे के प्लेयर से सुनें.


(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)
यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाऊनलोड कर लें:
लघु बोधकथा MP3

#Second Story, Laghu Bodh katha: Munish Sharma/Hindi Audio Book/2014/02. Voice: Anurag Sharma

1 comment:

Madhavi Patkar Ganpule said...

Anuragji,

After a long time, today listening to many of the audio stories o Radioplaybackindia.com. Indeed this listening session is incomplete if one does not listen to your story rendition. Enjoyed listening to this small story.
Thank you.

The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ