गुरुवार, 30 जनवरी 2014

निराशा में डूबी रफ़ी साहब की बेखुद आवाज़ का नशा

खरा सोना गीत - हम बेखुदी में तुमको पुकारे चले गए 
प्रस्तोता - अर्शना सिंह 
स्क्रिप्ट - सुजॉय चट्टर्जी 
प्रस्तुति - संज्ञा टंडन 


2 टिप्‍पणियां:

Anupama Tripathi ने कहा…

सुंदर प्रस्तुति ।आभार .

Mohinder56 ने कहा…

Mera Man pasand Geet hae ye Sajeev Ji.

The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ