बुधवार, 9 अक्तूबर 2013

आत्मा को परमात्मा से जोड़ता सूफी संगीत (सूफी -एपिसोड ०१)

प्लेबैक इंडिया ब्रोडकास्ट 

सूफी संगीत यानी, स्वरलहरियों पर तैरकर जाना और ईश्वर रुपी समुंदर में विलीन हो जाना, सूफी संगीत यानी, "मै" का खो जाना और "तू" हो जाना, सदियों से रूह को सकून देते, सूफी संगीत पर हमारी विशेष प्रस्तुति का पहला भाग सुनिए संज्ञा टंडन के साथ.

उम्मीद है हमारे संगीत प्रेमियों के लिए ये पोडकास्ट एक अनमोल तोहफा साबित होगा. 



यदि प्लयेर पर सुनने में असुविधा हो तो यहाँ से डाउनलोड करें. 

3 टिप्‍पणियां:

Anupama Tripathi ने कहा…

बहुत सुंदर प्रस्तुति ....कल का भजन भी बहुत सुंदर था ....नेट शायद ठीक नहीं चल रहा था ....कल कमेन्ट नहीं कर पाई ....!!

नीलिमा शर्मा ने कहा…

आपकी इस उम्दा प्रस्तुति को "हिंदी ब्लॉगर्स चौपाल {चर्चामंच}" चर्चा अंक -२२ निविया के मन से में शामिल किया गया है कृपया अवलोकनार्थ पधारे

प्यार की स्टोरी हिंदी में ने कहा…

Achhi Prastuti Ka Samavesh, Muhje Bahut Achha Laga.

Thank You

The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ