Tuesday, February 5, 2013

ओ हेनरी की इबादत (अ सर्विस ऑफ़ लव)

'बोलती कहानियाँ' स्तम्भ के अंतर्गत हम आपको सुनवा रहे हैं प्रसिद्ध कहानियाँ। पिछले सप्ताह आपने अनुराग शर्मा की आवाज़ में डा. अमर कुमार की लघुकथा ""अपनों ने लूटा" का पॉडकास्ट सुना था। आज हम आपकी सेवा में प्रस्तुत कर रहे हैं प्राख्यात अमेरिकी कथाकार ओ हेनरी की अंग्रेज़ी कहानी "A service of love" का हिन्दी अनुवाद "इबादत", अर्चना चावजी, अनुभव प्रिय और सलिल वर्मा की आवाज़ में। हिन्दी अनुवाद अनुभव प्रिय का है और प्रस्तुति को संगीत से संवारा है पद्मसिंह ने।

कहानी का कुल प्रसारण समय 13 मिनट 42 सेकंड है। आप भी सुनें और अपने मित्रों और परिचितों को भी सुनाएँ  और हमें यह भी बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।

 यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानियों, उपन्यासों, नाटकों, धारावाहिको, प्रहसनों, झलकियों, एकांकियों, लघुकथाओं को अपनी आवाज़ देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।

“जब बिना कालर का चोर पकड़ा जाता हैं, तो उसे सबसे दुराचारी और दुष्ट कहा जाता है।”
ओ हेनरी

हर सप्ताह यहीं पर सुनें एक नयी कहानी

"अच्छा, जल्दी से हाथ मुँह धो लो, मैं खाना लगती हूँ।"
(ओ हेनरी की "इबादत" से एक अंश)

नीचे के प्लेयर से सुनें.
 
यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाऊनलोड कर लें:
VBR MP3

 #Fifth Story, Ibadat  O Henry/Hindi Audio Book/2013/5. Voice: Archana Chaoji 

7 comments:

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

ओ हेनरी की कथायें बड़ी ही मनमोहक होती हैं. धन्यवाद ..

Sajeev said...

वाह ये पहली बार हुआ है कि हम एक हवा महल बना पाए खुद अपना :) बहुत बधाई पूरी टीम को मज़ा आ गया

shishir krishna sharma said...

उत्तम कथा, मनमोहक प्रस्तुतिकरण !!! बधाई !!!

चला बिहारी ब्लॉगर बनने said...

आभार आपका!! इस कहानी को यहाँ स्थान देकर आपने हमारे सामूहिक प्रयास का मान बढ़ाया है!!

चला बिहारी ब्लॉगर बनने said...

आभार आपका!! इस कहानी को यहाँ स्थान देकर आपने हमारे सामूहिक प्रयास का मान बढ़ाया है!!

Smart Indian said...

यह संगीतमय प्रस्तुति एकदम अलग रही, बहुत सुंदर!

Madhavi said...

This is completely a different presentation of the audio story. I guess it is for the first time. Really a very good effort. Loved it. Thanks to अर्चना चावजी, अनुभव प्रिय और सलिल वर्माजी.

Madhavi Charudatta

The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ