शुक्रवार, 20 दिसंबर 2013

आशिक की कराह कहीं तो कहीं राँझना का जश्न - पायदान ११ और १० पर

पायदान # ११ - सुन रहा है न तू 
पायदान # १० - राँझना हुआ मैं तेरा  

कोई टिप्पणी नहीं:

The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ