Saturday, December 14, 2013

'सिने पहेली' का अन्तिम सेगमेण्ट शुरू हो रहा है आज; सेगमेण्ट विनर बन कर कोई भी नया खिलाडी अब भी पहुँच सकता है महाविजेता बनने के महामुकाबले में...

सिने पहेली –91 & 92

'सिने पहेली' के सभी प्रतियोगियों औ़र पाठकों को सुजॉय चटर्जी का सप्रेम नमस्कार। दोस्तों, हमें खेद है कि पिछले सप्ताह 'सिने पहेली' पोस्ट न हो सका। और हमें यह पता है कि आप सब बेसबरी से नवे सेगमेण्ट के विजेताओं के नाम जानने के लिए व्याकुल रहे होंगे। चलिए प्रतीक्षा की घड़ी समाप्त हुई और ये रहे सेगमेण्ट विजेताओं के नाम...


प्रथम स्थान: विजय कुमार व्यास (बीकानेर) - 100%

द्वितीय स्थान: प्रकाश गोविंद (लखनऊ) - 99%

तृतीय स्थान: पंकज मुकेश (बेंगलुरू) - 78%


आप तीनों को बहुत बहुत बधाई!!! साथ ही चन्द्रकान्त दीक्षित जी का भी बहुत बहुत धन्यवाद जिन्होने इस सेगमेण्ट के हर एपिसोड की पहेली में भाग लिया और अच्छा प्रदर्शन किया। यह रहा इस सेगमेण्ट का सम्मिलित स्कोर-कार्ड...





नौ सेगमेण्ट की समाप्ति पर महाविजेता स्कोर-कार्ड की स्थिति कुछ इस तरह की बनी है, आइए एक नज़र डाल लें...




अरे हाँ दोस्तों, मैं विजेताओं के नाम घोषित करने की ख़ुशी में मैं तो पिछली पहेली के सही जवाब बताना ही भूल बैठा। ये रहे पिछले सप्ताह के सवालों के जवाब...



पिछली पहेली का हल


1. "जय जय शिव शंकर" (आपकी कसम) गीत के अन्त में किशोर कुमार गाते हैं "बजाओ रे बजाओ इमानदारी से बजाओ, पचास हज़ार खर्चा कर दिये"। पूरा वाक्या बहुत जल्द 'एक गीत सौ कहानियाँ' में आप जान पायेंगे।

2. "इन्हीं लोगों ने ले ली ना दुपट्टा मेरा" की धुन से प्रेरित गीत है "तू है सनम मेरा प्यार ओए मेरा दिल तेरा आशिक़" (दिल तेरा आशिक़)।

3. "कभी अजनबी थे ज़मीं आसमाँ ये" (कभी अजनबी थे)



आज की पहेली : कार्टून क्वीज़


दोस्तों, आज से शुरू हो रहा है 'सिने पहेली' प्रतियोगिता का अन्तिम सेगमेण्ट। जी हाँ, हम अब इस लम्बे सफ़र के आख़िरी हिस्से में पहुँच चुके हैं। इन बचे हुए दस पहेलियों को जी भर कर जी लीजिये, क्या पता 'सिने पहेली' का यह सफ़र फिर कभी हो न हो! नये प्रतियोगियों के लिए अब भी महाविजेता बन पाना असंभव नहीं, क्योंकि अगर कोई नया खिलाड़ी इस सेगमेण्ट का विजेता बनता है और उसे 3 अंक मिलते हैं, तो हो सकता है कि वो महाविजेता बनने के महामुकाबले के लिए क्वालिफ़ाई कर ले। तो फिर देर किस बात की? जुट जाइये, जी तोड़ मेहनत कीजिये, और महाविजेता का ख़िताब अपने नाम कर लीजिये!

दोस्तों, क्योंकि पिछले सप्ताह 'सिने पहेली' पोस्ट नहीं हो पाया था, इसलिये आज की कड़ी में हम 10 के बजाय 20 अंकों के सवाल पूछ रहे हैं। अर्थात्‍, आज 'सिने पहेली' का 91 और 92 वाँ अंक एक साथ प्रस्तुत हो रहा है। ध्यान से खेलियेगा।

सवाल बड़ा आसान है। नीचे दिये हुए तस्वीर में 10 कार्टून दिखाये गये हैं और उसके ठीक नीचे 10 अभिनेताओं के चेहरे दिखाये गये हैं। आपको इन दस कार्टूनों को इन दस अभिनेताओं के साथ जोड़ना है। यानी कि कौन से कार्टून को किस अभिनेता के साथ जोड़ा जा सकता है और कैसे, यही है आज की पहेली। एक कार्टून के लिए एक अभिनेता, कोई दोहराव नहीं; यानी आपको 10 यूनिक कम्बिनेशन बनाने हैं।

हर सही जवाब के 2 अंक, यानी आज की पहेली के कुल अंक हैं 20.







अपने जवाब आप हमें cine.paheli@yahoo.com पर अगले पाँच दिनों के अन्दर (19 दिसंबर शाम 5 बजे तक) ज़रूर भेज दीजिये।


कौन बनेगा 'सिने पहेली' महाविजेता?


1. सिने पहेली प्रतियोगिता में होंगे कुल 100 एपिसोड्स। इन 100 एपिसोड्स को 10 सेगमेण्ट्स में बाँटा गया है। अर्थात्, हर सेगमेण्ट में होंगे 10 एपिसोड्स। 

2. प्रत्येक सेगमेण्ट में प्रत्येक खिलाड़ी के 10 एपिसोड्स के अंक जोड़े जायेंगे, और सर्वाधिक अंक पाने वाले तीन खिलाड़ियों को सेगमेण्ट विजेता के रूप में चुन लिया जाएगा। 

3. इन तीन विजेताओं के नाम दर्ज हो जायेंगे 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में। सेगमेण्ट में प्रथम स्थान पाने वाले को 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में 3 अंक, द्वितीय स्थान पाने वाले को 2 अंक, और तृतीय स्थान पाने वाले को 1 अंक दिया जायेगा। 

4. 10 सेगमेण्ट पूरे होने पर 'महाविजेता स्कोरकार्ड' में दर्ज खिलाड़ियों में सर्वोच्च पाँच खिलाड़ियों में होगा एक ही एपिसोड का एक महा-मुकाबला, यानी 'सिने पहेली' का फ़ाइनल मैच। इसमें पूछे जायेंगे कुछ बेहद मुश्किल सवाल, और इसी फ़ाइनल मैच के आधार पर घोषित होगा 'सिने पहेली महाविजेता' का नाम। महाविजेता को पुरस्कार स्वरूप नकद 5000 रुपये दिए जायेंगे, तथा द्वितीय व तृतीय स्थान पाने वालों को दिए जायेंगे सांत्वना पुरस्कार।



तो आज बस इतना ही, अगले सप्ताह फिर मुलाक़ात होगी 'सिने पहेली' में। लेकिन 'रेडियो प्लेबैक इण्डिया' के अन्य स्तंभ आपके लिए पेश होते रहेंगे हर रोज़। तो बने रहिये हमारे साथ और सुलझाते रहिये अपनी ज़िंदगी की पहेलियों के साथ-साथ 'सिने पहेली' भी, अनुमति चाहूँगा, नमस्कार!

प्रस्तुति : सुजॉय चटर्जी

2 comments:

Pankaj Mukesh said...

kartoonon ko aur ho sake to abhinetaon ko kramvash ankit karein 10 kartoon samajh nahin aa rate kabhi kull 9 lag rahe hai to kabhi 8.
aur haan!!! cinepanheli 90 ke prashna ke anusaar kaun se pratibhagi ke kitne ank arjit kiya ye to bataya hi nahi...aap ne poore segment ka byora diya hai. kya bas 3 logon ne hi matra bhag liya tha ?

Sujoy Chatterjee said...

Pankaj ji, yahi to paheli hai. cartoons ko numbering kar diya jaaye to bilkul aasaan ho jayega. dhyaan se dekhiye, 10 alag theme ke cartoon aapko nazar aa jayenge.

CP-90 ka sammilit score card diya gaya hai jisme saaf-saaf dikh raha hai ki 4 khiladiyon ne bhaag liya - Vijay ji, Prakash ji, aap aur Chandrakant ji.

Regards
Sujoy

The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ