Tuesday, November 19, 2019

ऑडियो: तीस साल बाद (रवींद्र कालिया)

'बोलती कहानियाँ' स्तम्भ के अंतर्गत हम आपको सुनवा रहे हैं प्रसिद्ध कहानियाँ। पिछली बार आपने अनुराग शर्मा की आवाज़ में बसंत त्रिपाठी की कथा अंतिम चित्र का पॉडकास्ट सुना था। आवाज़ की ओर से आज हम लेकर आये हैं रवींद्र कालिया की कथा "तीस साल बाद", जिसे स्वर दिया है, स्पेन से पूजा अनिल, और अमेरिका से अनुराग शर्मा ने।

कहानी का कुल प्रसारण समय 10 मिनट 52 सेकण्ड है। सुनें और बतायें कि हम अपने इस प्रयास में कितना सफल हुए हैं।

यदि आप भी अपनी मनपसंद कहानी, उपन्यास, नाटक, धारावाहिक, प्रहसन, झलकी, एकांकी, या लघुकथा को स्वर देना चाहते हैं तो अधिक जानकारी के लिए कृपया admin@radioplaybackindia.com पर सम्पर्क करें।

रवींद्र कालिया 
(11 नवंबर 1939 :: 9 जनवरी 2016)
हिंदी के सर्वप्रिय लेखक और सम्पादक

हर सप्ताह यहीं पर सुनिए एक नयी कहानी

"इस एक कागज के टुकड़े के कारण तुम मेरे बहुत करीब रहे, हमेशा। मगर इसे गलत मत समझना।"
(रवींद्र कालिया की "तीस साल बाद" से एक अंश)

नीचे के प्लेयर से सुनें.
(प्लेयर पर एक बार क्लिक करें, कंट्रोल सक्रिय करें फ़िर 'प्ले' पर क्लिक करें।)


यदि आप इस पॉडकास्ट को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाउनलोड कर लें:
तीस साल बाद mp3

#Thirtieth Story: 30 saal baad; Author: Ravindra Kalia; Voice: Pooja Anil, Anurag Sharma; Hindi Audio Book/2019/30.

1 comment:

Sheetal said...

Khoobsurat kahani aur utni hi khubsurati se ise pesh karne ka andaaz..

The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ