Wednesday, November 2, 2016

"एक बालसुलभ प्रसन्नता के साथ लता जी अपने समकालीन कलाकारों की बात करती है" - यतीन्द्र मिश्र :एक मुलाकात ज़रूरी है

एक मुलाकात ज़रूरी है (35)


लेखक और संगीत अध्येता यतीन्द्र मिश्र की लिखी पुस्तक "लता सुर गाथा" को अभी हाल ही में वाणी प्रकाशन ने जारी किया है, लगभग ६५० पृष्ठों की इस ग्रंथमयी पुस्तक में ३०० से अधिक पृष्ठों में लता जी और यतीन्द्र के बीच लगभग ६ वर्षों के अंतराल में हुई बातचीत का लेखा जोखा है, जिसमें लता जी ने अपने संगीत सफ़र से जुड़े ढेरों संस्मरण पाठकों के साथ बांटे हैं. संगीत प्रेमियों के लिए एक बेहद ज़रूरी दस्तावेज़ है ये पुस्तक, जो आज सभी प्रमूख बुक स्टाल पर उपलब्ध है, यदि आप ऑनलाइन खरीदना चाहें तो अमेजोन डॉट कॉम से खरीद सकते हैं, फिलहाल 'एक मुलाकात ज़रूरी है' के इस एपिसोड में सुनिए उस पुस्तक के रचे जाने की दिलचस्प कहानी, खुद यतीन्द्र की जुबानी....



एक मुलाकात ज़रूरी है इस एपिसोड को आप यहाँ से डाउनलोड करके भी सुन सकते हैं, लिंक पर राईट क्लीक करें और सेव एस का विकल्प चुनें 

1 comment:

डॉ दुर्गाप्रसाद अग्रवाल said...

बहुत उम्दा बातचीत. इस बातचीत को सुनने के बाद यतीन्द्र जी की किताब की हमारी समझ और बढ़ जाती है. आभार.

The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ