Showing posts with label Bhool Bhuliya. Show all posts
Showing posts with label Bhool Bhuliya. Show all posts

Thursday, March 1, 2012

1 मार्च - आज का गाना


गाना: तेरी आँखें भूल भुलैया


चित्रपट:भूल भुलैया
संगीतकार:प्रीतम चक्रवर्ती
गीतकार:समीर
गायक: 
नीरज श्रीधर





तेरी आँखें भूल भुलैया
बातें हैं भूल भुलैया
तेरे सपनों की गलियों में
आई कीप लुकिंग फोर यू बेबी..

तेरी आँखें भूल भुलैया
बातें हैं भूल भुलैया
तेरे सपनों की गलियों में
यू कीप ड्राविंग मी सो क्रेजी...

दिल में तू रेहती है...
बेताबी केहती है...
आई कीप प्रेइन आल डे .. ऑल डे ऑल नाइट लाँग

हरे राम हरे राम हरे कृष्ण हरे राम (4)

तू मेरी खामोशी है
तू मेरी मदहोशी है
तू मेरा है अफसाना

तू है आवारा धड़कन ...
तू है इस रातों कि तड़पन ...
तू है मेरी दिल जाना

तेरी ज़ुल्फों के नीचे मेरे ख़्वाबों कि जन्नत
तेरी बाहों में एक बेचैनी को मिलती राहत
माई ओन्ली विश इस इफ आई एवर एवर कुड मेक यू माइन
एवरी वन इस प्रेइन विद मी नाऊ ऑल डे ऑल नाइट लाँग

हरे राम हरे कृष्ण हरे राम (4)

तेरे वादे पे जीना तेरी कसमों पे मरना बाकी अब कुछ ना करना
चाहे जागा या सोया दीवानापन में खोया
दुनिया से अब क्या डरना
तेरे एहसासों की गहराई में डूबा रहता
तू मेरि जान बन जाये हर लम्हा रब से केहता हूँ

एव्रीवन इस टॉल्किंग अबाउट अस लाइक एवर आइ डू
माई लव इस रॉकिंग बेबी कमॉन नाउ कमॉन

हरे राम हरे राम हरे कृष्ण हरे राम

तेरी आँखें भूल भुलैया
बातें हैं भू भुलैया
तेरे सपनों की गलियों में
आई कीप लुकिंग फॉर यू बेबी

तेरी आँखें भूल भुलैया
बातें हैं भूल भुलैया
तेरे सपनों की गलियों में
यू कीप ड्राविंग मी सो क्रेजी...

दिल में तू ही रहती है
बेताबी कहती है
आई कीप प्रेइन आल डे... ऑल डे ऑल नाइट लाँग

हरे राम हरे राम हरे कृष्ण हरे राम (4)





The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ