Showing posts with label Aurangzeb. Show all posts
Showing posts with label Aurangzeb. Show all posts

Monday, May 20, 2013

औरंगजेब - सपनों के लिए चुकाई अपनों की कीमत

प्लेबैक वाणी - 46 - संगीत समीक्षा - औरंगजेब

इश्क्जादे फिल्म से अपने करियर की शुरुआत करने वाले अर्जुन कपूर की दूसरी बहुप्रतीक्षित फिल्म औरंगजेब इस सप्ताह प्रदर्शित हुई है. इस फिल्म में ऋषि कपूर, जैकी श्रोफ और पृथ्वीराज प्रमुख भूमिकाओं में हैं. आज देखते हैं कि इस फिल्म का संगीत कैसा है. इस फिल्म के गानों को संगीतबद्ध करा है विपिन मिश्रा और अमर्त्य रोहत ने. गानों के बोल लिखे हैं विपिन मिश्रा, पुनीत शर्मा और मनोज कुमार नाथ ने.

इस एल्बम का पहला गाना है बरबादियाँ. यह गाना काफी सुना जा रहा है आजकल. इसे गाया है मशहूर पाकिस्तानी गायिका सलमा आगा की बेटी साशा आगा ने जो खुद भी इस फिल्म से अपने फ़िल्मी करियर की शुरुआत कर रही हैं. साशा का साथ दिया है राम संपथ ने. यह गाना पार्टियों में खूब बजने वाला है.

जिगरा फकीरा इस एल्बम का दूसरा गाना है. इसे आवाज़ दी है कीर्थी सगाथिया ने. इस गाने में गिटार का इस्तेमाल अच्छे से किया गया है. पंजाबी शब्दों का भरपूर इस्तेमाल करा गया है. यह गाना थोड़ा धीमा जरूर है पर कीर्थी ने इसके साथ पूरा न्याय करा है.

बरबादी के मोहन की आवाज़ में है. गाना काफी धीमा है पर ऑंखें बंद करके सुना जाये तो एक नशे का आभास देता है. यह बहुत ही मधुर गाना है.

अगला गाना औरंगजेब उम्मीदों पर खरा नहीं उतर पाता. यह गाना भी काफी धीमा है. यह गाना औरंगजेब की कहानी को बयां करता है. यह गाना थोड़ा बेहतर हो सकता था

अगला गाना है औरंगजेब का रौक संस्करण. जैसा कि नाम से लगता है यह गाना काफी तेज है जिसे विपिन मिश्रा ने खुद गाया है और संगीतबद्ध करा है. यह गाना औसत है.

इस एल्बम में 4 इंस्ट्रूमेंटल भी हैं. कुल मिलकर यह एल्बम ठीक ठाक है. रेडिओ प्लेबैक इंडिया इसे दे रहा है 3 की रेटिंग 5 में से.
यदि आप इस समीक्षा को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाऊनलोड कर लें:

The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ