Showing posts with label meet brothers anjaan. Show all posts
Showing posts with label meet brothers anjaan. Show all posts

Friday, March 21, 2014

'बेबी डौल' की मादक अदाएं और 'गुलछर्रे' उडाती मस्तियाँ

ताज़ा सुर ताल 2014 -10 

ताज़ा सुर ताल में आज चर्चा इस माह के सबसे हिट गीत की. पोर्न स्टार सनी लियोनि अब तक के सबसे बोल्ड अवतार में अवतरित होने वाली हैं फिल्म रागिनी एम् एम् एस २  में. फिल्म में मुक्तलिफ़ संगीतकारों ने योगदान दिया है. सबसे अधिक चर्चा में है बेबी डौल  गीत जो इन दिनों हर पार्टी में धूम मचा रहा है. मीत बंधुओं और अनजान की तिकड़ी ने इस गीत के लिए एक अनूठी रिदम का चयन किया है, जिसे सुनकर कदम बरबस ही थिरक उठते हैं. कुमार के शब्द भी पूरी तरह मेल खाते हैं गीत के थीम से. जैसा कि हम आपको पहले भी बता चुके हैं कि मीत बंधू अपने रचित हर गीत में अपनी आवाज़ का तडका अवश्य लगाते हैं, लेकिन गीत की प्रमुख गायिका है कनिका कपूर जिनकी आवाज़ और अदायगी में एक अंतरास्ट्रीय अपील है, शायद ये बॉलीवुड में उनका पहला गीत है पर उन्होंने बेहद ऊर्जा के साथ गीत को अंजाम दिया है. तो लीजिए सुनिए और झूमिए बेबी डोल  के संग 
आज का दूसरा गीत भी कुछ थिरकता मचलता ही है. नुपुर अस्थाना निर्देशित बेवकूफियां  की कहानी लिखी है हबीब फैज़ल ने. फिल्म के संगीतकार हैं रघु दीक्षित, जो एक बेहद प्रतिभाशाली गायक-संगीतकार हैं जो दक्षिण भारतीय फिल्मों में काफी सफल फ़िल्में कर चुके हैं. हिंदी फिल्म जगत में उन्होंने कदम रखा मुझसे फ्रेंडशिप करोगे  से वर्ष २०११ में, कह सकते हैं कि प्रस्तुत फिल्म उनका दूसरा प्रोजेक्ट है हिंदी में. फिल्म के ये गीत गुल्चर्रे  इन दिनों युवा श्रोताओं को पसंद आ रहा है. बेनी दयाल की जोशीली आवाज़ की मोहर इस गीत पर पूरी तरह हावी है. बेनी दिन बा दिन निखारते जा रहे हैं. लीजिए सुनिए ये गीत भी जिसे लिखा है अन्विता दत्त ने. 
.   

Thursday, October 24, 2013

अभिनय का नुक्सान, संगीत का फायदा - मीत ब्रो अनजान की तिकड़ी

नए सुर साधक (१)

मनमीत, हरमीत और अनजान (बाएं से दायें)
क्सर जब भी संगीतकार तिकड़ी की बात होती है तो जेहन में शंकर एहसान लॉय का नाम कौंधता है. मगर एक और भी संगीत तिकड़ी है जो धीरे धीरे ही सही मगर इंडस्ट्री में अपनी पहचान बना रही है, ये हैं मीत बंधू यानी हरमीत और मनमीत जिनके साथ जुड़ते हैं उनके मित्र अनजान. मीत ब्रो अनजान के नाम से मशहूर इस तिकड़ी का रचा हाल ही में प्रकाशित 'बॉस' का शीर्षक गीत इन दिनों खूब बज रहा है. 

मीत बंधू सबसे पहले छोटे परदे पर अवतरित हुए थे बतौर अभिनेता. पर कहीं न कहीं संगीत को मार्ग बना कर एक पॉप समूह बनाने का सपना भी पल रहा था. उनका पहला गीत जोगी सिंह बरनाला सिंह  बेहद कामियाब रहा और मीत बंधुओं ने अभिनय को अलविदा कह दिया. एक लाईव शो के दौरान उन्हें अनजान मिले, और तीनों को महसूस हुआ कि उनकी तिकड़ी साथ मिलकर धामल कर सकती है. 

एक कोपरेट कंपनी की तरह काम करते हुए इस तिकड़ी ने अपने खुद के गीत रचने शुरू किये और अपने काम को लेकर प्रोडक्शन कंपनियों के पास आने जाने लगे. नए गीतों को अपने संकलन में जोड़ते हुए इन्हें खबर भी नहीं हुई कि कब १० बड़े बैनरों ने इनके गीतों को अपनी एल्बम का हिस्सा बनाने का फैसला कर लिया. क्या सुपर कूल हैं हम  और  ओह माई गोड  की एल्बमों से इन्हें बतौर संगीतकार पहचान मिली. 

इस साल बॉस  के अलावा जंजीर  के गीत 'पिंकी है पैसे वालों की' भी खासा लोकप्रिय हुआ. अमूमन श्रोता गायक गायिका को अधिक पहचानते हैं, तो इसी डर से कि कहीं मीत ब्रो अनजान के गीतों में संगीतकार पार्श्व में ही न रह जाएँ, ये संगीत तिकड़ी खुद को परदे पर रखने की हर संभव कोशिश करती हैं. यही वजह है कि आप इनके सभी गीतों में मूल गायक के साथ इन तीनों में से कम से कम किसी एक की आवाज़ भी अवश्य सुनेगें.  बॉस का शीर्षक गीत तो खुद इस टीम ने मिलकर गाया है. 

कदम थिरकाते गीतों में मेलोडी का तडका लगाते गीत हैं मीत ब्रो अनजान की पहचान. अगर इनके पिछले रेकॉर्डों पर जाएँ तो हम उम्मीद कर सकते हैं कि आने वाली रागिनी एम् एम् एस २, और कर ले प्यार कर ले में भी हमें कुछ झूमते झुमाते गीत सुनने को मिल सकते हैं. इस तिकड़ी एक सोलो एल्बम बब्बू की जवानी भी जल्द ही श्रोताओं के सामने होगी. फिलहाल आने वाले कल की बातें छोड़ते हैं और आपको सुनते हैं वो गीत जिसकी बदौलत संगीत प्रेमियों के रूबरू हुई ये संगीत तिकड़ी 

The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ