Monday, May 27, 2013

नाचने के लिए तैयार रहें यमला पगला दीवाना के संग




ताज़ा सुर ताल - यमला पगला दीवाना 02

यमला पगला दीवाना यानी ही मैन धर्मेन्द्र और उनके दो होनहार बेटों सन्नी और बोबी की शानदार तिकड़ी, जो अपने पहले संस्करण की आपार सफलता के बाद अब एक ब्रेंड के रूप में स्थापित हो चुके हैं, लौट रहे हैं दूसरे संस्करण में नए धमाल और मस्ती के साथ. जाहिर है फिल्म में पंजाबी फ्लेवर की अधिकता होगी, ऐसे में सभी गीत भी इसी कलेवर के होंगें ये तो तय है, आईये एक नज़र दौडाएं यमला पगला दीवाना २ के संगीत एल्बम में संकलित गीतों पर. फिल्म में संगीत का पक्ष संभाला है संगीतकार जोड़ी है शरीब तोशी ने.

सुखविंदर सिंह, शंकर महादेवन, और संचित्रा भट्टाचार्य की आवाजों में है पहला गीत जो कि शीर्षक गीत भी है. संगीतकार की तारीफ कि उन्होंने इस बार एल पी के रचे पारंपरिक मैं जट यमला पगला दीवाना की धुन का सहारा नहीं लिया वरन एक नयी धुन के साथ इस तिकड़ी को संगीतमयी सलामी दी. रिदम में विविधता भी है और शब्द भी सटीक हैं.

अगला गीत है चांगली है चांगली है, जिसे आवाज़ का पावर बैक अप दिया है ऊर्जा से भरे मिका सिंह ने. सड़क छाप मस्ती भरे गीतों की लंबी फेहरिस्त में एक नया जुड़ाव है ये गीत. तेज बीट्स और ऊर्जा से भरे इस गीत के अंत में ढोल और सीटियों से गजब का माहौल रचा गया है.

पहले दो गीतों से कुछ अलग है अगला गीत जिसमें लोक अंदाज़ की झलक जचती है. सूट तेरा लाल रंग द को सोनू निगम ने अपने निराले अंदाज़ में गाया है, सुनिधि की आवाज़ सोनू की आवाज़ को बढ़िया कोंट्रास्ट देती है. रिदम का उतार चढ़ाव बहुत ही बढ़िया है. धुन भी बेहद मधुर है. सुरीला गीत.

नए गायक दलजीत दोसंझ की आवाज़ में मैं एन्दा ही नाचना में देओल परिवार स्वीकार करता है कि उनकी नाचने की अदा सिने जगत के अन्य अभिनेताओं जैसी बेशक नहीं है पर जैसे भी हैं उनका मुक्तलिफ़ अंदाज़ सालों से दर्शकों को भाता आया है और भाता रहेगा. गीत की सरलता और मासूमियत ही गीत की जान है. आप ऐसे ही नाचिये धर्म जी....हम तो देखेंगें...

जट यमला पागल हो गया गीत एक और पार्टी गीत है, मिका की आवाज़ में. गीत सुनने से अधिक देखने में अच्छा लग सकता है. गीत के दो संस्करण है, शरीब साबरी का गाया संस्करण कुछ लो टोन में है. सुजेलो की आवाज़ दोनों संस्करण में अपेक्षा अनुरूप ही है.

साड्डी दारु द पानी भी दरअसल एक और संस्करण ही है शीर्षक गीत का, इसके आलावा सभी गीतों का मिला जुला एक मेष अप भी है. पंजाबी रिदम हमेशा ही आपको नयी ताजगी से भरने में कामियाब रहे हैं. मूड फ्रेश करने के लिए इन गीतों को सुनना एक अच्छी सलाह है.

एल्बम के बेहतरीन गीत
यमला पगला दीवाना, सूट तेरा लाल रंग द, मैं तो एन्दा ही नाचना
हमारी रेटिंग ३.१  

संगीत समीक्षा - सजीव सारथी

आवाज़ - अमित तिवारी
  



यदि आप इस समीक्षा को नहीं सुन पा रहे हैं तो नीचे दिये गये लिंक से डाऊनलोड कर लें:

1 comment:

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

समीक्षा तो अच्छी की है. सुनते हैं इस फिल्म के संगीत को.

The Radio Playback Originals (Click on the covers to reach out the Albums)



Popular Posts सर्वप्रिय रचनाएँ